सीएम से वित्तमंत्री जेटली ने की अपील, जानिए किस पर वैट घटाने को कहा

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने छत्तीसगढ़ समेत सभी राज्यों के सीएम को पत्र लिखकर पेट्रोलियम पदार्थों पर वैट टैक्स घटाने की अपील की है 

By: Ashish Gupta

Published: 18 Aug 2017, 09:10 PM IST

नई दिल्ली/रायपुर. केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने छत्तीसगढ़ समेत सभी राज्यों के सीएम को पत्र लिखा है। जेटली ने इस पत्र में सीएम से अपील की है कि वे पेट्रोलियम पदार्थों पर वैट टैक्स को घटाएं। केंद्रीय वित्त मंत्री के मुताबिक वस्तु और सेवाकर यानी जीएसटी शासन लागू होने के बाद इनकी इनपुट लागत बढ़ गई है। जेटली की अपील पर अगर छत्तीसगढ़ में अमल होता है तो पेट्रोल और डीजल की कीमतों में भारी कर्मी आ जाएगी।

मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर की चिंता
केंद्रीय वित्त मंत्रालय के अनुसार 'वित्त मंत्रालय द्वारा मुख्यमंत्रियों को लिखे पत्र में विनिर्माण क्षेत्र (मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर) द्वारा उठाई गई चिंताओं को दर्शाया गया है।' केंद्रीय वित्त मंत्री जेटली द्वारा लिखे गए पत्र में वस्तु और सेवा कर व्यवस्था को देखते हुए देश के विनिर्माण क्षेत्र की पेट्रोलियम उत्पादों की निवेश लागत बढऩे संबंधी चिंता के बारे में बताया गया है।

वैट लगने से बढ़ रहा टैक्स
जीएसटी व्यवस्था से पहले पेट्रोलियम उत्पादों और अंत में उत्पादित माल दोनों पर वैट लगता था। मैन्युफैक्चरर द्वारा प्रयुक्त पेट्रोलियम उत्पादों का इनपुट टैक्स क्रेडिट की अनुमति विभिन्न राज्यों द्वारा अलग-अलग रूप में दी गई। हालांकि जीएसटी लागू होने के बाद उत्पादित माल पर जीएसटी लगता है, जबकि विनिर्माण में प्रयुक्त पेट्रोलियम उत्पादों पर वैट लगने से टैक्स बढ़ जाता है।

लागत कम होगी
कुछ राज्यों ने जीएसटी व्यवस्था के पहले माल में प्रयुक्त होने वाली कंप्रेस्ड प्राकृतिक गैस पर वैट की दर 5 प्रतिशत कम थी। कुछ राज्य में विनिर्माण क्षेत्र में प्रयुक्त डीजल पर भी वैट की दर कम थी। इसलिए केंद्रीय वित्त मंत्री जेटली ने अन्य राज्यों से भी विनिर्माण में प्रयुक्त उन पेट्रोलियम उत्पादों पर वैट की दर कम करने की संभावनाओं को तलाशने का अनुरोध किया है जिन मदों पर जीएसटी लागू है, ताकि माल लागत पर न्यूनतम प्रभाव पड़े।

(एडिट: अनुपम राजीव राजवैद्य, इनपुट: आईएएनएस)

finance minister
Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned