scriptFinancial help to family on covid 19 death | मृत्यु पर परिवार को मिले आर्थिक मदद इसलिए कोविड के दौर में लोगों ने 10-10 करोड़ तक का टर्म प्लान ले लिया, दो साल में 60 फीसदी ग्रोथ | Patrika News

मृत्यु पर परिवार को मिले आर्थिक मदद इसलिए कोविड के दौर में लोगों ने 10-10 करोड़ तक का टर्म प्लान ले लिया, दो साल में 60 फीसदी ग्रोथ

- राजधानी में 1 लाख के करीब लोगों के पास टर्म प्लान

रायपुर

Published: December 02, 2021 11:18:31 pm

रायपुर. कोविड-19 के दौर में अचानक या सामान्य मृत्यु पर परिवार के लिए आर्थिक मदद के उद्देश्य से टर्म इंश्योरेंस में जबरदस्त इजाफा दर्ज किया गया है।

टर्म इंश्योरेंस की संख्या में पिछले दो साल के भीतर राज्यभर में 50 से 60 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है। इंश्यारेंस कंपनियों और इनसे जुड़े विशेषज्ञों से मिली जानकारी के मुताबिक हेल्थ इंश्योरेंस के बाद सबसे ज्यादा टर्म इंश्योरेंस बिक रहा है। इसे बेचने की जरूरत नहीं पड़ रही बल्कि लोग टर्म इंश्योरेंस का नाम लेकर इसे खरीद रहे हैं। इसकी सबसे बड़ी वजह यह है कि कम प्रीमियम में ज्यादा सम अश्योर्ड यानि फायदा मिल रहा है। उदाहरण के तौर पर 30 साल उम्र का व्यक्ति यदि 85 साल की उम्र तक 1 करोड़ का टर्म प्लान ले तो, इस बीच किसी भी उम्र में मृत्यु तक परिवार को 1 करोड़ रुपए का सम अश्योर्ड मिलेगा और यदि उनकी सालाना आय 5 लाख रुपए हो तो, उसे सालाना सिर्फ 12 से 15 हजार रुपए का सालाना प्रीमियम देना होगा।

insurance_policy.jpg

30 फीसदी बढ़ोतरी का एलान
टर्म इंश्योरेंस की डिमांड में तेजी के बाद कई कंपनियों ने जनवरी-2022 से प्रीमियम में 30 फीसदी बढ़ोतरी का एलान कर दिया है। कोविड-19 के दूसरी लहर के बाद ही कुछ कंपनियों ने टर्म इंश्योरेंस के प्लान में 25 फीसदी तक की वृद्धि की थी। विशेषज्ञों का कहना है कि आने वाले दिनों में टर्म इंश्योरेंस की डिमांड में हर साल 60 से 70 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की जा सकती है। कई ऐसी भी कंपनी है, जिसमें 100 पॉलिसी में 80 पॉलिसी टर्म इंश्योरेंस की बिक रही है।

रायपुर में 1 लाख लोगों के पास प्लान
बीमा क्षेत्र की कंपनियों के मुताबिक राजधानी में लगभग 1 लाख लोगों के पास टर्म प्लान है। इसमें से 40 से 50 फीसदी का ग्रोथ मार्च 2020 से आया है, जब कोविड-19 की दहशत शुरू हुई थी। अभी हर महीने 30 से 35 हजार लोगों की पूछताछ सामने आ रही है, जिसमें से 10 से 15 लोग टर्म इंश्योरेंस करा रहे हैं।

छत्तीसगढ़ में 55 फीसदी लोगों के पास हेल्थ इंश्योरेंस
कंपनियों के मुताबिक सरकारी क्षेत्र और निजी कंपनियों के ग्रुप इंश्योरेंस सहित व्यक्ति इंश्योरेंस के आंकड़ों पर गौर करें तो छत्तीसगढ़ में 50 से 55 फीसदी लोगों के पास हेल्थ इंश्योरेंस हैं। इसमें से 7 से 15 फीसदी लोग टर्म इंश्योरेंस लेने में रूचि दिखा रहे हैं। राजधानी सहित दुर्ग,भिलाई, बिलासपुर, जगदलपुर, रायगढ़, कोरबा, राजनांदगांव, धमतरी अंबिकापुर, सरगुजा, कर्वधा आदि क्षेत्रों में टर्म इंश्योरेंस की मांग में सबसे ज्यादा तेजी देखनेे को मिल रही है।

फैक्ट फाइल
1. 1 अप्रैल 2019 से 31 मार्च 2020 तक- 10 से लेकर 50 लाख रुपए तक का टर्म इंश्योरेंस
2. 1 अप्रैल 2020 से नवंबर 2021 तक- 10 लाख से लेकर 10 करोड़ तक का टर्म इंश्यारेंस
3. दो साल में ग्रोथ- 50 से 60 फीसदी

टर्म इंश्योरेंस के लिए जरूरी बातें

1. पॉलिसी धारक के पास आयकर प्रुफ जैसे आईटीआर (रिटर्न फाइल) या फार्म-16 जरूरी
2. पॉलिसी लेने की योग्यता 18 से 60 साल तक
3. 18 से 50 साल तक- 20 गुणा सम अश्योर्ड
4. 51 से 55 साल तक- 15 गुणा सम अश्यार्ड
5. 55 से 60 साल तक- 10 गुणा सम अश्योर्ड

छत्तीसगढ़ में बीते दो वर्षों के भीतर टर्म इंश्योरेंस में 50 से 60 फीसगी ग्रोथ दर्ज किया जा रहा है। 100 पॉलिसी में अब 40 से 45 पॉलिसी टर्म इंश्योरेंस की आ रही है। कम प्रीमियम में ज्यादा सम अश्योर्ड की वजह से टर्म इंश्योरेंस की मांग बढ़ी है। कोरोनाकाल में लोगों ने 10-10 करोड़ तक का प्लान ले रखा है।

- मनीष मुखर्जी ,सीनियर हेल्थ और टर्म इंश्योरेंस एडवाइजर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावCorona Cases In India: देश में 24 घंटे में कोरोना के 2.68 लाख से ज्यादा केस आए सामने, जानिए क्या है मौत का आंकड़ाJob Reservation: हरियाणा के युवाओं को निजी क्षेत्र की नौकरियों में 75 फीसदी आरक्षण आज से लागूअलवर दुष्कर्म मामलाः प्रियंका गांधी ने की पीड़िता के पिता से बात, हर संभव मदद का भरोसाArmy Day 2022: क्‍यों मनाया जाता है सेना दिवस, जानिए महत्व और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्यभीम आर्मी प्रमुख चन्द्र शेखर ने अखिलेश यादव पर बोला हमला, मुलाकात के बाद आजाद निराशछत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़ रहे कोरोना से मौत के आंकड़े, 24 घंटे में 5 मरीजों की मौत, 6153 नए संक्रमित मिले, सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट दुर्ग मेंयूपी विधानसभा चुनाव 2022 पहले चरण का नामांकन शुरू कैराना से खुला खाता, भाजपा के लिए सीटें बचाना है चुनौती
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.