किराना की आड़ में पान-गुटका बेचने वाले के खिलाफ एफआईआर दर्ज, दो दिन में 1 लाख 66 हजार की वसूली

एक सप्ताह के लिए घोषित लॉकडाउन के दूसरे दिन भी कलेक्टर के आदेश के बाद दो संस्थाओं में दबिश देकर उनसे लगभग 20 हजार रुपए का जुर्माना वसूल किया गया तथा सड़कों पर बिना मास्क लगाए लोगों से भी 6700 रुपए जुर्माना वसूल किया गया।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 24 Jul 2020, 09:28 PM IST

भाटापारा-बलौदाबाजार. कलेक्टर सुनील कुमार जैन द्वारा जनहित में लगाए गए लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ गुरुवार को भी दूसरे दिन स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों की संयुक्त टीम ने दो बड़े कारोबारियों से 20 हजार जुर्माना सहित सड़कों पर कचरा फेकने वाले के खिलाफ जुर्माना सहित किराना दुकान की आड़ में प्रतिबंधित सामग्री बेचने वालों की दुकान सील कर एफ आईआर करने की बात अधिकारियों ने जताई है।

एक सप्ताह के लिए घोषित लॉकडाउन के दूसरे दिन भी कलेक्टर के आदेश के बाद दो संस्थाओं में दबिश देकर उनसे लगभग 20 हजार रुपए का जुर्माना वसूल किया गया तथा सड़कों पर बिना मास्क लगाए लोगों से भी 6700 रुपए जुर्माना वसूल किया गया। दूसरे दिन भी हुई ताबड़तोड़ कार्यवाही से आधा शटर खोलकर व्यापार करने वाले व्यापारी भूमिगत हो गए। एसडीएम महेश सिंह राजपूत ने एक बार पुन: व्यापारियों से शासन और जिला प्रसासन के निर्देशों का अक्षरश: पालन करने की अपील की है तथा चेतावनी दी है कि लॉकडाउन अवधि में निर्देशों के अवहेलना पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

 

कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार के फैसले के बाद कलेक्टर जैन ने बलौदाबाजार-भाटापारा जिले में 22 से 28 जुलाई की रात 12 बजे तक लॉकडाउन घोषित किया गया है। इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर शेष सभी सेवा प्रतिबंधित की जा चुकी है। बावजूद इसके शहर के अनेक हिस्सों में कई दुकानों के संचालकों द्वारा शासन और जिला प्रशासन के निर्देशों की अवहेलना की शिकायत दूसरे दिन भी मिलने के बाद कलेक्टर के कड़े निर्देश पर एसडीएम महेश सिंह राजपूत, तहसीलदार प्रवीण तिवारी, मुख्य नगरपालिका अधिकारी आशीष तिवारी, स्वास्थ अधिकारी रविंद्र शुक्ला की टीम ने पुलिस प्रशासन के साथ लॉकडाउन के दूसरे दिन सिनेमा लाइन और लिंक रोड पर खुली दुकानों पर दबिश देकर वहां से 10 दस हजार रुपए का जुर्माना वसूला।

सड़क पर कचरा फेंकने पर वसूला दो हजार का जुर्माना

 

इसके अलावा सड़क पर कचरा फेकते पाए जाने पर एक व्यक्ति के खिलाफ 2000 का अर्थदंड वसूला गया। अधिकारियों की टीम ने शहर के निरीक्षण के दौरान 97 लोगों को बिना मास्क लगाए मिलने पर उनसे 6700 रुपए जुर्माना वसूल किया। साथ ही उन्हें चेतावनी देकर छोड़ा गया। एसडीएम, तहसीलदार, मुख्य नगरपालिक अधिकारी की टीम ने शहर भ्रमण के दौरान लाल बहादुर शास्त्री वार्ड में रवि किराना दुकान में दबिश दी, जहां भारी मात्रा में प्रतिबंधित गुटका, सिगरेट, पाउच, बीड़ी, गुड़ाखू आदि सामानों को जब्त किया और किराना की आड़ में इस प्रकार का व्यवसाय करने वालों की दुकान को सील कर उसके खिलाफ एफआईआर कराया जा रहा है।

दुकान संचालन करने पर की जाएगी वैधानिक कार्यवाही

 

एसडीएम महेश सिंह राजपूत ने दुकानदारों को स्पष्ट रूप से चेतावनी दी है कि भविष्य में लॉकडाउन की अवधि में संस्थान खुली पाई गई या दुकानों की आड़ में और कोई व्यापार हुआ तो कड़ी वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। लगातार दूसरे दिन हुई इस कार्रवाई के बाद शहर में हड़कंप मच गया। विदित हो कि कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने लॉकडाउन में छूट प्राप्त आवश्यक सेवा वाली दुकानों को एक निश्चित समयावधि के लिए छूट दी है, लेकिन शहर में कुछ दुकानदार उनके इस आदेश के विपरीत जाकर अपना कारोबार कर रहे थे। किराना दुकान सील किए जाने की इस कार्यवाही के बाद लोगों को उम्मीद है कि आने वाले दिनों में और अधिक कड़ाई शहर में देखने को मिलेगी। नगरवासियों ने कार्रवाई का स्वागत करते हुए कलेक्टर सहित स्थानीय प्रसाशनिक अधिकारियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया है।

दो दिनों में वसूल की गई एक लाख ६६ हजार रुपए की राशि

 

नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई करते हुए 1 लाख 66 हजार रुपए से अधिक राशि वसूल की गई। कलेक्टर जैन ने सभी जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि पूरे देश के साथ जिले में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है। लॉकडाउन में बीते दो दिनों से राजस्व, पुलिस प्रशासन एवं नगरीय प्रशासन के संयुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों की टीम द्वारा नियमों का पालन नहीं करने पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। दो दिनों में नगरीय क्षेत्रों से 488 प्रकरणों में 1 लाख 66 हजार 450 रूपए का जुर्माने के रूप में वसूल किया गया है, जिसमें बलौदाबाजार में 59 प्रकरणों में 28 हजार 3 सौ रुपए, भाटापारा 147 प्रकरणों में 1 लाख 37 हजार रुपए, सिमगा 119 प्रकरणों में 9600 रुपए एवं कसडोल 118 प्रकरणों पर 13 हजार 750 रुपए एवं पलारी 35 प्रकरणों में 11 हजार एक सौ रुपए का जुर्माना वसूल किया गया है।भाटापारा-बलौदाबाजार. कलेक्टर सुनील कुमार जैन द्वारा जनहित में लगाए गए लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ गुरुवार को भी दूसरे दिन स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों की संयुक्त टीम ने दो बड़े कारोबारियों से 20 हजार जुर्माना सहित सड़कों पर कचरा फेकने वाले के खिलाफ जुर्माना सहित किराना दुकान की आड़ में प्रतिबंधित सामग्री बेचने वालों की दुकान सील कर एफ आईआर करने की बात अधिकारियों ने जताई है।

एक सप्ताह के लिए घोषित लॉकडाउन के दूसरे दिन भी कलेक्टर के आदेश के बाद दो संस्थाओं में दबिश देकर उनसे लगभग 20 हजार रुपए का जुर्माना वसूल किया गया तथा सड़कों पर बिना मास्क लगाए लोगों से भी 6700 रुपए जुर्माना वसूल किया गया। दूसरे दिन भी हुई ताबड़तोड़ कार्यवाही से आधा शटर खोलकर व्यापार करने वाले व्यापारी भूमिगत हो गए। एसडीएम महेश सिंह राजपूत ने एक बार पुन: व्यापारियों से शासन और जिला प्रसासन के निर्देशों का अक्षरश: पालन करने की अपील की है तथा चेतावनी दी है कि लॉकडाउन अवधि में निर्देशों के अवहेलना पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

 

कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार के फैसले के बाद कलेक्टर जैन ने बलौदाबाजार-भाटापारा जिले में 22 से 28 जुलाई की रात 12 बजे तक लॉकडाउन घोषित किया गया है। इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर शेष सभी सेवा प्रतिबंधित की जा चुकी है। बावजूद इसके शहर के अनेक हिस्सों में कई दुकानों के संचालकों द्वारा शासन और जिला प्रशासन के निर्देशों की अवहेलना की शिकायत दूसरे दिन भी मिलने के बाद कलेक्टर के कड़े निर्देश पर एसडीएम महेश सिंह राजपूत, तहसीलदार प्रवीण तिवारी, मुख्य नगरपालिका अधिकारी आशीष तिवारी, स्वास्थ अधिकारी रविंद्र शुक्ला की टीम ने पुलिस प्रशासन के साथ लॉकडाउन के दूसरे दिन सिनेमा लाइन और लिंक रोड पर खुली दुकानों पर दबिश देकर वहां से 10 दस हजार रुपए का जुर्माना वसूला।

सड़क पर कचरा फेंकने पर वसूला दो हजार का जुर्माना

 

इसके अलावा सड़क पर कचरा फेकते पाए जाने पर एक व्यक्ति के खिलाफ 2000 का अर्थदंड वसूला गया। अधिकारियों की टीम ने शहर के निरीक्षण के दौरान 97 लोगों को बिना मास्क लगाए मिलने पर उनसे 6700 रुपए जुर्माना वसूल किया। साथ ही उन्हें चेतावनी देकर छोड़ा गया। एसडीएम, तहसीलदार, मुख्य नगरपालिक अधिकारी की टीम ने शहर भ्रमण के दौरान लाल बहादुर शास्त्री वार्ड में रवि किराना दुकान में दबिश दी, जहां भारी मात्रा में प्रतिबंधित गुटका, सिगरेट, पाउच, बीड़ी, गुड़ाखू आदि सामानों को जब्त किया और किराना की आड़ में इस प्रकार का व्यवसाय करने वालों की दुकान को सील कर उसके खिलाफ एफआईआर कराया जा रहा है।

दुकान संचालन करने पर की जाएगी वैधानिक कार्यवाही

 

एसडीएम महेश सिंह राजपूत ने दुकानदारों को स्पष्ट रूप से चेतावनी दी है कि भविष्य में लॉकडाउन की अवधि में संस्थान खुली पाई गई या दुकानों की आड़ में और कोई व्यापार हुआ तो कड़ी वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। लगातार दूसरे दिन हुई इस कार्रवाई के बाद शहर में हड़कंप मच गया। विदित हो कि कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने लॉकडाउन में छूट प्राप्त आवश्यक सेवा वाली दुकानों को एक निश्चित समयावधि के लिए छूट दी है, लेकिन शहर में कुछ दुकानदार उनके इस आदेश के विपरीत जाकर अपना कारोबार कर रहे थे। किराना दुकान सील किए जाने की इस कार्यवाही के बाद लोगों को उम्मीद है कि आने वाले दिनों में और अधिक कड़ाई शहर में देखने को मिलेगी। नगरवासियों ने कार्रवाई का स्वागत करते हुए कलेक्टर सहित स्थानीय प्रसाशनिक अधिकारियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया है।

दो दिनों में वसूल की गई एक लाख 66 हजार रुपए की राशि

 

नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई करते हुए 1 लाख 66 हजार रुपए से अधिक राशि वसूल की गई। कलेक्टर जैन ने सभी जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि पूरे देश के साथ जिले में कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि हुई है। लॉकडाउन में बीते दो दिनों से राजस्व, पुलिस प्रशासन एवं नगरीय प्रशासन के संयुक्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों की टीम द्वारा नियमों का पालन नहीं करने पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की जा रही है। दो दिनों में नगरीय क्षेत्रों से 488 प्रकरणों में 1 लाख 66 हजार 450 रूपए का जुर्माने के रूप में वसूल किया गया है, जिसमें बलौदाबाजार में 59 प्रकरणों में 28 हजार 3 सौ रुपए, भाटापारा 147 प्रकरणों में 1 लाख 37 हजार रुपए, सिमगा 119 प्रकरणों में 9600 रुपए एवं कसडोल 118 प्रकरणों पर 13 हजार 750 रुपए एवं पलारी 35 प्रकरणों में 11 हजार एक सौ रुपए का जुर्माना वसूल किया गया है।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned