CG Corona Update: होम आइसोलेशन के मरीज घर से बाहर मिलें तो होगी FIR

- महामारी एक्ट के तहत 10 लोगों पर कार्यवाही के लिए जोन कमिश्नरों ने इंसीडेंट कमांडर को भेजा पत्र
- चेतावनी स्टीकर फाड़ने या हटाने पर होगी कार्रवाई
- नगर निगम व पुलिस टीम करेगी औचक निरीक्षण

By: Ashish Gupta

Updated: 03 Apr 2021, 05:58 PM IST

रायपुर. होम आइसोलेशन के मरीज घर से बाहर मिलने पर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाएगी। नगर निगम प्रशासन ने शहरवासियों से अपील कर कहा है कि कोरोना के संक्रमण को रोकने के संबंध में दिए गए दिशा-निर्देशों का पूरी तरह से पालन करें। होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों से भी यह कहा गया है कि घर की पहचान के लिए लगाए जाने वाले स्टीकर को फाड़े या हटाए नहीं।

इस स्टीकर के माध्यम से निवासरत कोरोना मरीजों की पहचान कर नगर निगम व स्वास्थ्य की टीम द्वारा दवाओं की उपलब्धता, कचरा उठाने की व्यवस्था के साथ ही आपातकालीन परिस्थितियों में स्वास्थ्य व त्वरित एम्बुलेंस जैसी सुविधा उपलब्ध कराने त्वरित सेवा सुनिश्चित की जाती है। यह स्टीकर घर के पहचान के तौर पर लगाए जाते हैं।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना से बिगड़े हालात, इस साल एक दिन में रिकॉर्ड सबसे ज्यादा मौतें

इसे हटाने या फाड़ने से व्यवस्था प्रभावित होती है एवं अन्य सामान्य लोगों के भी कोरोना संक्रमित होने की भी संभावना बढ़ जाती हैं। नगर निगम जोन कमिश्नरों ने आकस्मिक निरीक्षण कर 10 ऐसे लोगों के विरूद्ध कार्यवाही के लिए अपने क्षेत्र के इंसीडेंट कमांडर को पत्र भेजा है। होम आइसोलेशन की अनुमति के उपरांत बाहर घूमते पाए जाने वाले कोरोना मरीज एवं उनके परिजनों पर महामारी अधिनियम के तहत एफ आईआर दर्ज किए जाएंगे।

निगम आयुक्त सौरभ कुमार ने निगम स्वास्थ्य एवं पुलिस अमले को निर्देशित किया है कि आइसोलेशन की अनुमति उपरांत घर के बाहर घूमते पाए जाने वाले मरीजों एवं उस घर में निवासरत अन्य सदस्यों के विरूद्ध संबंधित थाने में अपराध दर्ज किए जाएं।उन्होंने घरों की पहचान के लिए लगाए जाने वाले स्टीकर्स को फाड़ने या हटाने वालों पर भी कठोर कार्यवाही केे लिए संबंधित अमले को कहा है।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर: इस जिले 6 से 14 अप्रैल तक टोटल लॉकडाउन

नगर निगम क्षेत्र में संबंधित इंसीडेंट कमांडर जोन आयुक्त, स्वास्थ्य व स्वच्छता की टीम होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों के घरों का औचक जांच करेगी एवं नियमों के पालन में लापरवाही बरतने वालों पर भारतीय दंड संहिता की धारा 269, 270 एवं 188 एपिडेमिक डिसीजेंज एक्ट - 1897 के तहत 6 माह की सजा एवं जुर्माने की कार्यवाही की जाएगी।

नागरिकों से यह अपील की गई है कि बिना वजह घर से बाहर न रहें, सार्वजनिक स्थलों पर जाने के पहले मास्क अवश्य लगाएं, नियमित रूप से हाथ धोने की प्रवृत्ति को बनाए रखें। अपने परिवार के ऐसे सभी सदस्य जिनकी उम्र 45 वर्ष से अधिक है, उनका टीकाकरण तत्काल कराएं, ऐसा कर आप कोरोना संक्रमण की संभावनाओं को कम सकते हैं।

Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned