CM भूपेश के पिता नंद कुमार बघेल के खिलाफ FIR दर्ज, जानिए किस मामले में पुलिस ने किया है केस फाइल

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) के पिता नंद कुमार बघेल के खिलाफ राजधानी रायपुर के डीडी नगर थाने में एक वर्ग विशेष के विरूद्ध की गई टिप्पणी मामले एफआईआर दर्ज की गई है।

By: Ashish Gupta

Updated: 05 Sep 2021, 02:15 PM IST

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) के पिता नंद कुमार बघेल (Nand Kumar Baghel) के खिलाफ राजधानी रायपुर के डीडी नगर थाने में एक वर्ग विशेष के विरूद्ध की गई टिप्पणी मामले एफआईआर दर्ज की गई है। पुलिस ने समाज के सदस्यों की शिकायत पर नंद कुमार बघेल के खिलाफ धारा 153-A और 505- A – ख के तहत मामला दर्ज किया है। दरअसल, नंद कुमार बघेल ने एक वर्ग विशेष के विरूद्ध टिप्पणी की थी, जिसे लेकर समाज के लोगों ने आपत्ति जताई थी।

इस मामले पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि विगत दिनों उनके पिता नंदकुमार बघेल द्वारा एक वर्ग विशेष के विरूद्ध की गई टिप्पणी उनके संज्ञान में आयी है। उनकी इस टिप्पणी से समाज के एक वर्ग की भावनाओं और सामाजिक सद्भाव को ठेस लगी है उनके इस बयान से उन्हें भी दुःख हुआ है।

मुख्यमंत्री भूपेश ने कहा कि मुझे सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से यह ज्ञात हुआ है कि ये बात कही जा रही है कि नंदकुमार बघेल पर इसलिये कार्यवाही नहीं होगी, क्योंकि वे मुख्यमंत्री के पिता हैं। भूपेश बघेल ने यह स्पष्ट कहा है कि उनकी सरकार सभी को एक ही दृष्टि से देखती है। उनके पिता नंदकुमार बघेल से उनके वैचारिक मतभेद शुरू से हैं ये बात सभी को पता है।

यह भी पढ़ें: मंत्री टीएस सिंहदेव ने दिया बड़ा बयान, छत्तीसगढ़ की सियासी हलचल फिर तेज, जानिए क्या कहा

सीएम बघेल ने कहा है कि हमारे राजनीतिक विचार एवं मान्यतायें भी बिल्कुल अलग-अलग हैं। एक पुत्र के रूप में मैं उनका सम्मान करता हूँ लेकिन एक मुख्यमंत्री के रूप में उनकी किसी भी ऐसी गलती को माफ नहीं किया जा सकता जो सार्वजनिक व्यवस्था को बिगाड़ने वाली हो। उनकी सरकार में कोई भी कानून से ऊपर नहीं है फिर चाहे वो मुख्यमंत्री के 86 साल के पिता ही क्यों न हो।

भूपेश बघेल ने कहा है इस सम्बंध में पुलिस द्वारा विधिसम्मत कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। छत्तीसगढ़ सरकार (Chhattisgarh Government) हर जाति, हर धर्म, हर वर्ग हर समुदाय के लोगों के सम्मान और उनकी भावनाओं की कद्र करती है, सभी को एक समान महत्व देती है और सभी के मान सम्मान और संवैधानिक अधिकारों की रक्षा करना अपना कर्तव्य समझती है। मुख्यमंत्री ने कहा है - हमारे लिए कानून सर्वोपरी है।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के सरकारी कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, DA में 5 फीसदी की वृद्धि, जानिए सैलरी में कितना हुआ इजाफा

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ के सियासी संकट पर इस कांग्रेस नेता ने दिया बड़ा बयान, कहा - सभी दलों में होते हैं मतभेद

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned