scriptfirst time in history cm came chhattisgarh for coal | coal block issue: पहली बार कोयला मांगने आया कोई सीएम ... पढ़ें पूरी खबर | Patrika News

coal block issue: पहली बार कोयला मांगने आया कोई सीएम ... पढ़ें पूरी खबर

  • राजस्थान के सीएम गहलोत बोले- छत्तीसगढ़ से मदद नहीं मिलती है तो राजस्थान में बनेगी ब्लैक आउट की स्थिति
  • छत्तीसगढ़ के सीएम बघेल बोले- पर्यावरण और स्थानीय लोगों के हितों को ध्यान में रखकर करेंगे कार्रवाई

रायपुर

Published: March 26, 2022 02:05:20 am

रायपुर. छत्तीसगढ़ के इतिहास में पहली बार हुआ है कि कोयला मांगने के लिए किसी प्रदेश का मुख्यमंत्री अफसरों की टीम लेकर प्रदेश के सीएम से मिलने आया है। दरअसल, राजस्थान सरकार को छत्तीसगढ़ में आवंटित कोल ब्लॉक में खनन की अनुमति के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखने के बाद बात नहीं बनी तो शुक्रवार को राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत छत्तीसगढ़ पहुंचे। उनके साथ राजस्थान के ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी और अधिकारियों की पूरी टीम आई थी। यहां उन्होंने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ बैठक की और राजस्थान के मौजूदा कोयला संकट से अवगत कराया। सीएम गहलोत ने कहा, यदि छत्तीसगढ़ से मदद नहीं मिली तो राजस्थान में ब्लैक आउट की स्थिति बन सकती है। वहीं मुख्यमंत्री बघेल ने कहा, भारत सरकार द्वारा आवंटित कोयला खदान के संबंध में पर्यावरण और स्थानीय लोगों के हितों को ध्यान में रखते हुए नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
coal block issue,coal block issue
coal block issue: पहली बार कोयला मांगने आया कोई सीएम ... पढ़ें पूरी खबर,coal block issue: पहली बार कोयला मांगने आया कोई सीएम ... पढ़ें पूरी खबर
बैठक में राजस्थान के बिजली घरों को कोयले की आपूर्ति को लेकर विस्तृत विचार विमर्श किया गया। बैठक के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा, राजस्थान को जो कोल ब्लॉक आवंटित हुआ है उस पर विधिवत कार्रवाई की जा रही है। इस प्रक्रिया में समय लगता है। खदान आवंटन के बाद पर्यावरण की स्वीकृति के साथ भारत सरकार और राज्य सरकार की गाइड लाइन को पूरा करना होता है। राज्य सरकार ने पर्यावरण और स्थानीय लोगों के हितों से कभी समझौता नहीं किया। इन विषयों को लेकर राज्य सरकार हमेशा गंभीर रही है। बैठक में छत्तीसगढ़ के वन मंत्री मोहम्मद अकबर के साथ छत्तीसगढ़ और राजस्थान सरकार के आला अधिकारी मौजूद थे।
तो बंद हो जाएंगे 4500 मेगावाट क्षमता के प्लांट: बैठक में राजस्थान के मुख्यमंत्री राजस्थान को आवंटित कोयला खदानों में खनन गतिविधि प्रारंभ करने के लिए लंबित मंजूरी जल्द देने का आग्रह किया। उन्होंने बताया कि राजस्थान में कोयले की कमी के कारण गंभीर बिजली संकट पैदा हो गया है। यदि छत्तीसगढ़ से मदद नहीं मिलती है तो राजस्थान में 4500 मेगावाट क्षमता के प्लांट बंद हो जाएंगे। उन्होंने कहा, राजस्थान के लोगों की तरफ से वे बड़ी उम्मीद लेकर छत्तीसगढ़ आए हैं, हमारा प्रदेश संकट में है और चिंतित भी है कि आने वाले समय में क्या होगा। इसलिए उन्हें खुद यहां आना पड़ा है।
यह है मामला: राजस्थान सरकार का कोल ब्लॉक छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में परसा, परसा पूर्व, कांता बसन और कांटे एक्सटेंशन में हैं। परसा कोल ब्लॉक से खनन की मंजूरी केंद्रीय कोयला और वन मंत्रालय ने तो दी है, लेकिन छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से कुछ अनुमति मिलनी बाकी है। बता दें केंद्र सरकार ने कोल ब्लॉक का आवंटन राजस्थान राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड को दिया है। वहीं राजस्थान सरकार ने खनन का अनुबंध अडानी कंपनी के साथ किया।
फर्जी प्रस्ताव बनाने का आरोप
इस कोल ब्लॉक के विरोध में हसदेव क्षेत्र के आदिवासियों अनिश्चितकालीन आंदोलन कर रहे हैं। उनका आरोप है कि ग्राम सभा के फर्जी प्रस्ताव बनाकर वन स्वीकृति ली गई है। पिछले दिनों यहां के आदिवासी पदयात्रा करते हुए रायपुर पहुंचे और राज्यपाल और मुख्यमंत्री से शिकायत की थी। इसके बाद राज्यपाल ने जांच कराने का आश्वासन दिया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

PM Modi in Gujarat: राजकोट को दी 400 करोड़ से बने हॉस्पिटल की सौगात, बोले- 8 साल से गांधी व पटेल के सपनों का भारत बना रहापंजाब की राह राजस्थान: मंत्री-विधायक खोल रहे नौकरशाही के खिलाफ मोर्चा, आलाकमान तक शिकायतेंद्वारकाधीश मंदिर में पूजा के साथ आज शुरू होगा BJP का मिशन गुजरात, मोदी के साथ-साथ अमित शाह भी पहुंच रहेVIP कल्चर पर पंजाब की मान सरकार का एक और वार, 424 वीआईपी को दी रही सुरक्षा व्यवस्था की खत्मओडिशा में "भ्रूण लिंग" जांच गिरोह का भंडाफोड़, 13 गिरफ्तारमां की खराब तबीयत के बावजूद बल्लेबाजों पर कहर बनकर टूटे ओबेड मैकॉय, संगकारा ने जमकर की तारीफAnother Front of Inflation : अडानी समूह इंडोनेशिया से खरीद राजस्थान पहुंचाएगा तीन गुना महंगा कोयला, जेब कटना तयसुकन्या समृद्धि योजना में सरकार ने किए बड़े बदलाव, जानें क्या है नए नियम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.