जहर नहीं फायदेमंद भी होता है मैदा, इस तरह खाएंगे तो शरीर नहीं पहुंचेगा नुकसान

अक्‍सर जो लोग वजन कम करना चाहते हैं, वे मैदे से बनी हुई चीजें नहीं खाते है। लेकिन क्‍या आपने सोचा है कि मैदा आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिये अच्‍छा भी हो सकता है?

By: bhemendra yadav

Published: 25 Oct 2020, 11:29 PM IST

भारत की हर रसोई में मैदा या रिफाइंड फ्लोर (All purpose flour) काफी इस्तेमाल होता है। समोसे - कचोड़ी से लेकर कई स्ट्रीट फूड्स, बेक्ड सामान और डेसर्ट (deserts)के स्वाद को बढ़ाने में इसका उपयोग किया जाता है। हालांकि कहा जाता है कि मैदा आपके हेल्थ के लिए अच्छा नहीं होता है। मैदा ज्यादा खाने से पेट बिगड़ जाता है। अक्‍सर जो लोग वजन कम करना चाहते हैं, वे मैदे से बनी हुई चीजें नहीं खाते है। लेकिन क्‍या आपने सोचा है कि मैदा आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिये अच्‍छा भी हो सकता है? जी हां आज हम आपको बता रहे हैं क‍िस तरह मैदा खाना फायदेमंद हो सकता है।

गेंहू से ही बनता है मैदा
सबसे पहले आपको बता दें कि मैदा गेहूं से ही बनता है। गेहूं को रिफाइंड कर उसका छिलका हटाकर मैदा बनाया जिससे उसमें से फाइबर खत्म जाता है। फिर इसके बाद इसे benzoyl peroxide ब्‍लीच किया जाता है जिससे इसको सफेद रंग और टेक्‍सचर दिया जाता है।

पेट में चिपक सकता है
रोज - रोज मैदा का सेवन करना जरुर हानिकारक हो सकता है। ये बहुत ही महीन होता है, जिससे ये पेट में चिपक जाता है। इस कारण मैदे से कई बीमारियां हो सकती हैं। लेकिन अगर आप कम मात्रा में मैदा का इस्तेमाल करते हैं तो इससे होने वाले नुकसान से हम बच सकते है। हम हम आपको बताते हैं कुछ ऐसी ट्रिक्स (tricks ) जिससे मैदा खाकर भी आपके शरीर को नुकसान नहीं होगा।

न करें फ्राय
मैदा इसलिए भी ज्यादा नुकसान करता है क्योंकि इससे बनने वाली ज्यादातर चीजों को डीप फ्राई (deep fry) किया जाता है। इसको तेल में तलने की बजाय अगर आप एयर-फ्राइंग (air fry), स्टीमिंग (steam) या बॉयल(boil) करेंगे तो ये नुकसान नहीं करेगा। जैसे तले हुए मोमोज की तुलना में स्‍टीम मोमोज ज्‍यादा फायदेमंद होते है। जब भी आप मैदा की कोई डिश बनाए उसमें मैदे के साथ कोई हाई फाइबर (high fiber) आटा जैसे गेहूं, सूजी, बाजरा, ज्वार मिला सकते है। समोसे या कचोड़ी बनाते समय आप इसके आटे में अन्य कोई फाइबर युक्त आटा मिला दें। तो ये नुकसान नहीं करेगा।

कैक में जरा सोच समझकर करें इस्‍तेमाल

बाहर के केक(cake), बिस्कुट(biscuit) और कुकी(cookie) खाने से बेहतर हैं कि आप घर में इन्हें बनाएं और शक्‍कर की मात्रा कम रखें। मैदा और चीनी एक साथ खाने से आपके शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है। साथ ही केक या बिस्‍कुट बनाते समय मैदा के साथ कोई दूसरा आटा बराबर मात्रा में मिलाकर बनाएं। जैसे आप ओट्स और मैदा मिलाकर एक शानदर ओट्स केक भी बना सकते हैं।

bhemendra yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned