रायपुर समेत चार जिले सात दिनों के लिए लॉक, कोरोना की चेन तोड़ने 28 सितंबर तक सभी व्यावसायिक गतिविधियां रहेंगी ठप

लॉकडाउन की अवधि में रायपुर जिला अंतर्गत सभी केंद्रीय, शासकीय, सार्वजनिक, अर्धसार्वजनिक एवं निजी कार्यालय बंद रहेंगे। टेलीकॉम, रेलवे रख-रखाव से जुड़े कार्यालय, वर्कशॉप, लोडिंग अनलोडिंग कार्य, एडमिशन के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज परीक्षा केंद्र और अस्पताल पूर्व की तरह संचालित होंगे।

By: Karunakant Chaubey

Published: 21 Sep 2020, 11:05 PM IST

रायपुर. कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ती रफ्तार पर काबू पाने के लिए रायपुर, सरगुजा, बालोद और जांजगीर-चांपा जिले में सोमवार रात से 28 सितंबर की आधी रात तक के लिए लॉकडाउन शुरू हो गया। इस दौरान इन सभी शहर की समस्त व्यावसायिक दुकानें संपूर्ण रूप से बंद रहेंगी। सिर्फ दूध, दवाएं और गैस की सप्लाई मिल सकेगी।

रायपुर जिला कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने पुराने आदेश में आंशिक संशोधन किया है। संशोधित आदेश के अनुसार पेट्रोल पंप संचालकों द्वारा अब शासकीय वाहन, शासकीय कार्य में प्रयुक्त वाहन, अस्पताल मेडिकल इमरजेंसी से संबंधित निजी वाहन, एंबुलेंस, एलपीजी परिवहन कार्य में उपयोग किए जाने वाले वाहन, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, अंतरराज्यीय बस स्टैंड से संचालित ऑटो टैक्सी निर्धारित करने वाले वाहनों अलावा एडमिट कार्ड दिखाने पर परीक्षार्थी, उनके अभिभावक, परिचय पत्र दिखाने पर मीडियाकर्मी, प्रेस वाहन, न्यूज पेपर हॉकर, दुग्ध वाहन और छत्तीसगढ़ में न रुककर सीधे अन्य राज्य को जाने वाले वाहनों को भी डीजल व पेट्रोल प्रदान किया जाएगा। अन्य वाहनों को पेट्रोल-डीजल नहीं दिया जाएगा।

इन्हें भी मिली छूट

लॉकडाउन की अवधि में रायपुर जिला अंतर्गत सभी केंद्रीय, शासकीय, सार्वजनिक, अर्धसार्वजनिक एवं निजी कार्यालय बंद रहेंगे। टेलीकॉम, रेलवे रख-रखाव से जुड़े कार्यालय, वर्कशॉप, लोडिंग अनलोडिंग कार्य, एडमिशन के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज परीक्षा केंद्र और अस्पताल पूर्व की तरह संचालित होंगे।

विशेष परिस्थितियों में ई-पास जरूरी

रायपुर जिले से किसे अंयत्र आने-जाने वाले यात्रियों को ई-पास के माध्यम से पूर्व अनुमति लेना अनिवार्य होगा। प्रतियोगी एवं अन्य परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों के लिए एडमिट कार्ड, इंजीनियरिंग कॉलेज के एडमिशन की दशा में उनका कॉल लेटर दिखाना अनिवार्य होगा। रेलवे, टेलीकॉम संचालक व रखरखाव के कार्य हॉस्पिटल में चिकित्सकों की ओर से जारी आईडी कार्ड ई-पास के रूप में मान्य होगा।

आम जनता के सवाल- कलेक्टर के जवाब

आम जनता के सवाल: क्यों जरूरी है लॉकडाउन?

कलेक्टर: कोरोना की चेन को तोडऩे के लिए लॉकडाउन लगाना जरूरी है। इस लॉकडाउन में हर बार से ज्यादा सख्ती होगी। जनता को प्रशासन का सहयोग करना चाहिए।

सुधा शर्मा (गृहिणी): लॉकडाउन में मुझे गैस सिलेंडर की सुविधा कैसे मिलेगी?

कलेक्टर: गैस सिलेंडर सिर्फ होम डिलिवरी शहर के एजेंसियों को निर्देशित किया गया है। सिर्फ ऑनलाइन और टेलीफोनिक आर्डर ही लिया जा सकेगा। होम डिलिवरी के माध्यम से घरों में गैस सिलेंडर की सप्लाई होगी।

जया गोस्वामी (गृहिणी): मेरे घर में दूध और अखबार कैसे पहुंचेगा?

कलेक्टर: हॉकर द्वारा समाचार पत्रों के वितरण की समय अवधि सुबह 6 बजे से 8 बजे तक रखी गई है। इसी तरह सुबह 6 बजे से 8 बजे तक और शाम ५ से ६:३० बजे तक का दूध का वितरण किया जाएगा। दुकानदार अपनी दुकान के सामने दूध का वितरण प्रॉपर सोशल डिस्टेंसिंग रखते हुए करेगा।

आनंद साहू (फैक्ट्री कर्मचारी): मैं सिलतरा स्थिति एक कंपनी में नौकरी करता हूं, अब कैसे काम पर जा सकता हूं?

कलेक्टर: निर्माण संबंधी कार्य और औद्योगिक इकाइयां परिसर में समुचित व्यवस्था करते हुए निर्माण कार्य व औद्योगिक गतिविधियां चला पाएंगे। कर्मचारियों के रहने की व्यवस्था प्लांट के भीतर ही करना होगा।

तरुण वैष्णव (यात्री) : मेरा परिवार बिहार में रहता है, पिता की तबियत खराब हो गई, मैं कैसे बिहार जा सकता हूं?

कलेक्टर: ई-पास से ही जिले और राज्य से बाहर जाने की अनुमति मिलेगी। अति आवश्यक होने पर ही जिले से बाहर जाने की इजाजत होगी, वह भी छत्तीसगढ़ ई-पास से परमिशन जारी होने के बाद।

उदय शर्मा (छात्र): मैं एक छात्र हूं मुझे इंजीनियरिंग में प्रवेश परीक्षा में शामिल होना है। क्या सुविधा मिलेगी?

कलेक्टर: छात्रों को पट्रोल पंप में पेट्रोल डीजल मिल पाएगा। इसके लिए एडमिट कार्ड दिखाना होगा। एडमिशन के लिए इंजीनियरिंग कॉलेज परीक्षा केंद्र भी खुले रहेंगे। इसी तरह प्रतियोगी एवं अन्य परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों के लिए जांच के दौरान एडमिट कार्ड, इंजीनियरिंग कॉलेज के एडमिशन की दशा में उनका कॉल लेटर दिखाना अनिवार्य होगा।

विकास मिश्रा: मैं रेलवे कर्मचारी हूं। क्या मुझे अपने कार्य स्थल जाने की छूट होगी?

कलेक्टर: हां, रेलवे टेलीकॉम संचालक एवं रखरखाव कार्य हॉस्पिटल में चिकित्सकों द्वारा जारी आईडी कार्ड ई-पास के रूप में मान्य होगा।

विभा पटेल: मैं किसी काम से नागपुर आई थी। बुधवार को मैं बस से रायपुर आ रही हूं। मुझे अपने घर जाने के लिए क्या परिवहन मिल पाएगा?

कलेक्टर: प्रीपेड बूथ के माध्यम से टैक्सियों का संचालन किया जा रहा है। परिजन भी टिकट दिखाकर एक कार में चालक समेत तीन व बाइक चालक समेत दो लोग पिक एंड ड्राप कर सकेंगे।

देवेंद्र लहरे: मुझे कोविड जांच, अस्पताल की सुविधा और दवाएं कैसे मिलेगी?

कलेक्टर: किसी भी व्यक्ति को कोविड जांच के लिए लैब जाने के लिए अपना आधारकार्ड पुलिस को दिखाना होगा। इसके अलावा अस्पताल और जांच लैब अपने निर्धारित समयानुसार खुले रहेंगे।

रुपाली वैश्य (स्वास्थ्यकर्मी): मैं आवश्यक सेवा मेडिकलकर्मी हूं, मैं अपने कार्य स्थल कैसे जा सकता हूं?
कलेक्टर: आवश्यक सेवा से जुडे़ लोगों के लिए जा उनके पहचान पत्र नियोक्ता द्वारा जारी किए गए हों। वहीं मान्य होंगे।

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned