नशीली दवाइयां बेचने के आरोप में चार युवक गिरफ्तार, 3680 नग स्पास्मो कैप्सूल व 10200 रुपए जब्त

मंगलवार देर शाम कोतवाली पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए नशीली दवाई सहित 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

By: dharmendra ghidode

Published: 10 Feb 2021, 11:35 PM IST

बलौदाबाजार. मंगलवार देर शाम कोतवाली पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए नशीली दवाई सहित 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। धारा 22 (ख) एनडीपीसी एक्ट के तहत जुर्म दर्ज कर आरोपियों को बुधवार को रिमाण्ड पर न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। आरोपियों द्वारा नशीली दवाइयों को बलौदा बाजार शहर में खपत करने की योजना थी। पुलिस ने 460 स्ट्रीप (कुल 3680 नग) स्पास्मो नामक कैप्सूल जब्त की है। पुलिस कार्रवाई में कुल 23253 रुपए की नशीली दवाइयां सहित नकदी 10200 रुपए व दो मोबाइल जब्त किए गए हैं। आरोपियों के नाम विनय दुबे उर्फ कन्नू पिता स्व. रमेश दुबे (29), अमित दुबे उर्फ सन्नी पिता स्व. रमेश दुबे (33)रामसागर तालाब के पास पहन्दा रोड, ज्वाला चतुर्वेदी पिता इन्द्रमन चतुर्वेदी (32) पीलत कारखाना के पीछे, विकास साहू पिता अनुज साहू (23) वार्ड नं 11 दशरमा रोड बलौदा बाजार है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार देर शाम पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली कि बलौदा बाजार के रामसागर तालाब के नीचे गार्ड में विनय दुबे उर्फ कन्नू व अमित दुबे उर्फ सन्नी बिक्री करने की नियत से बड़ी मात्रा में नशीली कैप्सूल को लेकर आए हैं। सूचना पर पुलिस ने औषधि निरीक्षक किशोर ठाकुर के साथ घेराबंदी कर छापा। मौके से विनय दुबे, अमित दुबे, ज्वाला चतुर्वेदी, विकास साहू को पकड़ा गया। विनय दुबे 145 स्ट्रीप कुल 1160 नग प्रतिबंधित नशीली कैप्सूल स्पास्मो प्रोक्सवोन प्लस, अमित दुबे से 90 स्ट्रीप कुल 720 नग स्पास्मो प्रोक्सवोन प्लस, ज्वाला चतुर्वेदी से 120 स्ट्रीप कुल 960 नग कैप्सूल स्पास्मो प्रोक्सवोन प्लस तथा विनय दुबे के पास से 145 स्ट्रीप कुल 1160 कैप्सूल स्पास्मो प्रोक्सवोन प्लस कैप्सूल मिला। साथ ही अपराध में प्रयुक्त एक नग वीवो व 17 मोबाइल तथा नशीली कैप्सूल का बिक्री रकम नकद 10200 रुपए जब्त जब्त किया गया।

आसानी से मिल रही नशीली दवाई
बीते कुछ सालों से बलौदा बाजार नगर नशीली गोलियों, गांजे समेत अन्य मादक पदार्थों के गढ़ के रूप में कुख्यात हो रहा है। बलौदा बाजार में कई युवाओं तथा महिलाओं द्वारा इस प्रकार के मादक पदार्थों की खुलेआम बिक्री की जा रही है तथा ये मादक पदार्थ बाजार की कुछ दुकानों, चिन्हित मकानों से लेकर स्कूल-कालेज के पास भी आसानी से उपलब्ध हो जाते हैं, जिसकी वजह से युवा वर्ग आसानी से इसके आदी बन रहे हैं।

मध्यप्रदेश व उत्तर प्रदेश से लाते हैं नशीली दवाएं
आरोपियों से नशीली दवाइयों के संबंध में पूछताछ करने पर बताया कि इस प्रकार की नशीली दवाइयों को वह मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश के क्षेत्रों से लाते हैं तथा यहां पर उन नशीली दवाइयों को दुगने-तिगने दामों पर युवाओं को बेचते हैं।

अपराध की जड़ है नशीली गोलियां
पुलिस अधिकारियों के अनुसार अवैध नशीली दवाइयां खाकर युवा अपराध में संलिप्त हो रहे थे। आरोपी ज्वाला चतुर्वेदी पूर्व में भी नशीली दवाइयों के साथ पकड़ा जा चुका है। वहीं, आरोपी विनय दुबे और अमित दुबे कई वर्षों से नशीली दवाई बेचने का काम कर रहे हैं। साथ ही आसपास के क्षेत्रों के लड़कों को नशीली दवाइयां उपलब्ध कराते हैं।

dharmendra ghidode
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned