भगवान के नाम से 5 लाख की ठगी, बाजार में अकेली महिला दिखाया शनिदेव का भय

- पुरानी बस्ती इलाके की घटना, दो ठगों ने दिया वारदात को अंजाम .

 

By: Bhupesh Tripathi

Published: 21 Feb 2021, 04:56 PM IST

रायपुर . अंधविश्वास और लालच के चक्कर में शहर की महिलाएं ठगी का शिकार हो रही हैं। शनिदेव का प्रकोप और इसे दूर करने के लिए घर के जेवरों को मंत्र से झाडऩे का झांसा देकर एक महिला से ठग 5 लाख के जेवर लेकर फरार हो गए। ठगों ने महिला को शनि ग्रह लगने के चलते उनके बेटे को खतरा बताया। इससे महिला घबरा गई।

इसके बाद ठगों ने घर के जेवरों को मंत्र पढ़कर विमोचित करके शनि ग्रह की बाधा खत्म करने का दावा किया। महिला उनके झांसे में आ गई और अपने घर से 5 लाख के जेवर लेकर आई और उन्हें दे दे दिया। इसके बाद ठग रफूचक्कर हो गए। पीडि़त महिला की शिकायत पर पुरानी बस्ती पुलिस ने दो ठगों के खिलाफ अपराध दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

पुलिस के मुताबिक महामाईपारा निवासी 45 वर्षीया गार्गी तिवारी शुक्रवार दोपहर करीब 2.30 लिली चौक स्थित एक दुकान में दवाई खरीदने जा रही थी। इस दौरान टायर दुकान के पास दो युवक मिले। एक युवक ने खुद को रवि शर्मा बताते हुए महिला से कहा कि आपके चेहरे को देखकर लगता है कि शनि ग्रह नक्षत्र है। आपके बेटे को आज खतरा है। यह कहते हुए युवक ने अपनी मुठ्ठी को महिला के माथे पर घुमाया। महिला ने उनकी बातों पर ध्यान नहीं दिया और दवा दुकान चलीं गई। इस दौरान एक युवक उनके पीछे-पीछे दवा दुकान तक गया।

दवा लेकर महिला वापस लौटी, तो युवकों ने फिर उन्हें घेर लिया और कहने लगे कि आपके घर में रखे जेवरों में शनि ग्रह नक्षत्र है। इस वजह से यह समस्या है। उन जेवरों को लेकर आ जाइए। मंत्रों से जेवरों को विमोचित कर देंगे, जिससे शनि ग्रह नक्षत्र दूर हो जाएगा। महिला उनके बातों में आ गई। करीब आधे घंटे बाद महिला अपने घर में रखे 5 लाख रुपए के सोने-चांदी के जेवर लेकर युवकों को पास पहुंची। युवकों ने जेवर अपने हाथ में ले लिया और महिला से कहा कि आप अपनी हाथ की मुठ्ठी बंद करके 50 कदम आगे जाइए। इसके बाद अपनी मुठ्ठी खोलना, उसमें माताजी दिखेंगे। महिला ने वैसा ही किया।

50 कदम आगे जाने के बाद अपनी मुठ्ठी को खोला। मुठ्ठी खोलने पर माताजी नहीं दिखी। वह वापस लौटी, तो दोनों युवक गायब थे। महिला ने आसपास उन युवकों की तलाश की, लेकिन दोनों नहीं मिले। महिला ने इसकी जानकारी अपने पति और अन्य लोगों को दी। परिजनों ने थाने में शिकायत की। शिकायत के बाद पुलिस ने अज्ञात ठगों के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया है।

आधे घंटे बाद भी नहीं हुआ शक
महिला को ठगों के बातों में बहुत ज्यादा भरोसा हो गया था। ठगों के कहने पर महिला अपने घर गई और घर में अलमारी के लॉकर में रखे सभी जेवरों को एक थैले में रखा फिर वापस ठगों के पास उसी स्थान पर लौट गई। इसमें आधा घंटे का समय लगा। इस आधे घंटे में भी महिला को ठगों की बातों पर किसी तरह का शक नहीं हुआ और किसी को बताए बिना ठगों को जेवर दे दिया था।

ये जेवर ले गए ठग
सोने का ब्रेसलेट, सोने का चैन, बच्चों के दो छोटे सोने के चैन, गार्गी के सोने के चैन, लॉकेट, तीन जोड़ी सोने की चूडिय़ां, सोने की अंगूठी, 5 सोने की महिला अंगूठी, सोने की दो जोड़ी बाली, 15 तोला सोने के दो सिक्के, चांदी के दो करधन, एक जोड़ी पायल, चांदी के 4 सिक्के, सिंदुर डिब्बी, 2 जोड़ी बचकानी पायल, चाबी रिंग, चांदी का एक राजस्थानी सिक्का सहित कुल आधा किलो जेवर ठग ले भागे हैं।

महाराष्ट्र का गिरोह
महाराष्ट्र का बसदेवा गिरोह अक्सर महिलाओं को पूजा-पाठ, तंत्र-मंत्र, शनिदेव आदि के नाम पर झांसा देकर ठगी करता है। इस मामले में भी पुलिस को उसी गिरोह पर आशंका है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर दोनों ठगों की तलाश में लग गई है। घटना स्थल के आसपास ठगों के फुटेज मिले हैं। इस आधार पर पुलिस की टीम ने उनकी तलाश शुरू कर दी है।

यह है हुलिया
पीड़ित महिला के बताए अनुसार एक आरोपी युवक का रंग काला और अधिक हाइट वाला है। उसने नेवी ब्लू कलर का शर्ट और जींस पहना हुआ है। दूसरे युवक की हाइट कम और रंग गोरा है। उसने फिरोजा रंग का शर्ट और जींस पहना हुआ है। फिलहाल पुलिस ने दोनों के सीसीटीवी फुटेज के आधार तलाश शुरू कर दी है।

महिलाएं-बुजुर्ग हैं ठगों के टारगेट में
कुछ दिन पहले शास्त्री मार्केट में एक बुजुर्ग महिला को दो ठगों ने भूखा होने और चोरी के लाखों रुपए रखने के नाम पर 5 लाख के गहने ठग लिए थे। इस तरह घुटनों के शर्तिया इलाज के नाम पर सरस्वती नगर कोटा रहने वाली बुजुर्ग महिला से भी 3 लाख की ठगी की गई थी। दूसरे राज्य से आने वाले ठग आमतौर पर महिलाओं और बुजुर्गों को झांसा देते हैं।

पीड़िता की शिकायत पर दो ठगों के खिलाफ अपराध दर्ज किया गया है। उनकी तलाश की जा रही है। जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।

- राजेश सिंह, टीआई, पुरानीबस्ती, रायपुर

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned