10 गुना फायदे का लालच देकर ऑनलाइन जमा करवाए लाखों, फिर दिखा दिया ठेंगा

शेयर मार्केट में दस गुना अधिक मुनाफा देने का झांसा देकर रिटायर्ड अधिकारी से लाखों रुपए की ठगी

By: Deepak Sahu

Published: 06 Jun 2018, 04:04 PM IST

रायपुर. शेयर मार्केट में दस गुना अधिक मुनाफा देने का झांसा देकर रिटायर्ड अधिकारी से लाखों रुपए की ठगी कर ली गई। इसकी शिकायत पर डीडी नगर पुलिस ने इंदौर के एक कंसलटेंसी एजेंसी के खिलाफ मामला कायम किया है।

मोबाइल पर इंदौर के रिप्लेस एडवाइजरी कंपनी का कॉल
पुलिस के मुताबिक सीएसपीडीसीएल के रिटायर्ड अधिकारी नंदकिशोर कागदे के मोबाइल पर इंदौर के रिप्लेस एडवाइजरी कंपनी के धीरेंद्र का कॉल आया। उसने बताया कि हमारी कंपनी शेयर मार्केट में निवेश करती है। जितना पैसा आप निवेश करोगे, उससे दस गुना राशि कंपनी की ओर से वापस दी जाएगी। इसका मुनाफा आपको मिलेगा। नंदकिशोर उसके झांसे में आ गए और बड़ी राशि शेयर मार्केट में उनके मार्फत लगाने के लिए राजी हो गए।

इसके बाद पहले रजिस्ट्रेशन कराने के लिए कहा। रजिस्ट्रेशन के एवज में 2200 रुपए अपनी वेबसाइट के माध्यम से पेयमनी में जमा करवाया। इसके बाद अगले दिन 22 हजार 500 रुपए जमा करने के लिए कहा गया। फिर 51 हजार रुपए जमा करवाया गया। इस तरह निवेश के नाम पर अलग-अलग युवक और युवतियों ने फोन करके 19 बार में 12 लाख 19 हजार रुपए कभी नेटबैंकिंग, तो कभी पेयमनी में जमा करवाया। इसके लिए अलग-अलग बैंक खातों को इस्तेमाल किया गया है।

जीएसटी के नाम पर जमा कराई रकम
आरोपियों ने शेयर मार्केट में पैसा लगाने के नाम पर अलग-अलग नंबरों से फोन किया और बैंक खाते में राशि जमा करवाई। इस बीच एक महिला ने पीडि़त को फोन किया और बताया कि उनको शेयर में 7 लाख 50 हजार रुपए का फायदा हुआ है । इसे लेने के लिए जीएसटी देना होगा। इसके लिए 2 लाख 16 हजार रुपए जमा करना पड़ेगा।

अन्यथा यह फायदा एनजीओ को चला जाएगा। इसके बाद अधिकारी ने आरोपियों के खाते में 2 लाख 16 हजार रुपए और जमा किया। इसके बाद पीडि़त ने मुनाफा जमा करने के लिए कहा, तो आरोपियों ने बहानेबाजी शुरू कर दी। और अपना मोबाइल बंद कर दिया। इसके बाद पीडि़त ने थाने में शिकायत की। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned