डेढ़ लाख से अधिक प्रवासी परिवारों को मुफ्त खाद्यान्न, खाद्य विभाग कर रहा पंजीयन

कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने बाहर से आए सभी प्रवासी श्रमिकों व अन्य लोगों को जिनका नाम राशन कार्ड में नहीं है या जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, उनका पंजीयन तेजी से करने खाद्य विभाग के अधिकारियों को कहा है।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 24 Jun 2020, 03:34 PM IST

रायपुर. कोरोना संक्रमण के कारण हुए लॉकडाउन से जिले में लौटे प्रवासी श्रमिक परिवारों को दो वक्त का भरपेट भोजन उपलब्ध कराने के लिए खाद्य विभाग लगातार पंजीयन कर रहा है। ऐसे परिवार या व्यक्ति जिनके पास छत्तीसगढ़ सरकार का कोई राशन कार्ड नहीं है या जिनका नाम किसी राशन कार्ड में जुड़ा नहीं है, उन्हें पंजीयन करने के बाद प्रति सदस्य पांच किलो चावल और प्रति परिवार एक किलो चना नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा।

जिले में अब तक कुल 75140 प्रवासी परिवारों के 157004 सदस्यों का पंजीयन नि:शुल्क खाद्यान्न के लिए किया जा चुका है। इन सभी परिवारों के लिए मई और जून के चावल व चने का आवंटन भी खाद्य विभाग ने जारी कर दिया है। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने बाहर से आए सभी प्रवासी श्रमिकों व अन्य लोगों को जिनका नाम राशन कार्ड में नहीं है या जिनके पास राशन कार्ड नहीं है, उनका पंजीयन तेजी से करने खाद्य विभाग के अधिकारियों को कहा है।

खाद्य मित्र एप से करा सकते हैं रजिस्ट्रेशन

विभिन्न राज्यों से वापस जिले में आ रहे ऐसे श्रमिकों व व्यक्तियों जिनके पास किसी भी योजना के अंतर्गत राशन कार्ड नहीं है, इसके पंजीयन के लिए खाद्य विभाग ने प्रवासी खाद्य मित्र एप जारी किया है। प्रवासी श्रमिकों व अन्य व्यक्तियों को नि:शुल्क खाद्यान्न प्राप्त करने के लिए एंड्राइड मोबाइल से गूगल प्ले स्टोर के माध्यम से एप डाउनलोड कर अपने व अपने परिवार के सदस्यों का पंजीयन करा सकते हैं। इसके अलावा खाद्य, नागरिक आपूर्ति व उपभोक्ता संरक्षण विभाग की वेबसाइट में भी ऑनलाइन पंजीयन कराया जा सकता है। प्रवासी श्रमिक अपना पंजीयन वेबसाइट के माध्यम से या जिला प्रशासन की ओर से भी करा सकते हैं।

पंजीयन के लिए यह दस्तावेज आवश्यक

पंजीयन के लिए आधार नंबर नहीं होने की स्थिति में राज्य शासन ने पांच अन्य पहचान पत्रों को भी मान्यता दी है। इसमें से किसी एक का उपयोग कर सकते हैं। यदि हितग्राही का आधार पंजीयन हो चुका है, किंतु आधार नंबर प्राप्त नहीं हुआ है तो वे आधार पंजीयन पर्ची का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा भारत निर्वाचन आयोग से जारी मतदाता पहचान पत्र, आयकर विभाग से जारी पैनकार्ड, किसान फोटो पासबुक, किसी राजपत्रित अधिकारी अथवा तहसीलदार से उनके शासकीय पत्र पर जारी फोटो सहित कोई पहचान प्रमाणपत्र का उपयोग किया जा सकता है।

जिला- परिवार- सदस्य

बिलासपुर 13585 29531

जांजगीर 8346 20073

गौरेला-पेन्ड्रा-मरवाही 1575 2901

कोरबा 2961 7331

मुंगेली 3531 7703

रायगढ़ 3893 9558

बालोद 828 2017

बेमेतरा 1054 2634

दुर्ग 2716 6972

रायपुर 518 910

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned