रायपुर-लखनऊ गरीब रथ को लेकर बड़ी खबर, बंद नहीं होगी ट्रेन

रायपुर-लखनऊ गरीब रथ को लेकर बड़ी खबर, बंद नहीं होगी ट्रेन

Anupam Rajiv Rajvaidya | Updated: 19 Jul 2019, 09:23:14 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

  • रायपुर लखनऊ गरीब रथ (garib rath) ट्रेन की शुरुआत 23 फरवरी 2008 को
  • रेल मंत्रालय (ministry of railways) का स्पष्टीकरण ट्रेन को रोकने का प्रस्ताव नहीं
  • गरीब रथ (garib rath) को सुपरफास्ट ट्रेन के रूप में बदलने की योजना थी

 

 

अनुपम राजीव राजवैद्य / रायपुर. गरीब रथ (Garib rath) ट्रेनों को लेकर बड़ी खबर यह है कि यह ट्रेन बंद नहीं की जाएगी। छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) की राजधानी रायपुर (raipur) से उत्तरप्रदेश (up) की राजधानी लखनऊ (lucknow) के बीच चलने वाली गरीब रथ ट्रेन समेत भारतीय रेलवे (Indian Railways) देश में 26 जोड़ी गरीब रथ ट्रेनें चला रहा है।
रेल मंत्रालय (ministry of railways) ने शुक्रवार को स्पष्टीकरण दिया कि गरीब रथ ट्रेनों को बंद नहीं किया जाएगा। बता दें कि पहले यह खबर आई थी कि मोदी सरकार (modi govt) गरीब रथ ट्रेनों को सुपरफास्ट (superfast) ट्रेनों में बदलने की योजना बना रही है।
2008 में दौड़ी थी रायपुर-लखनऊ गरीब रथ
रायपुर से लखनऊ के बीच चलने वाली गरीब रथ (garib rath) ट्रेन की शुरुआत 23 फरवरी 2008 को की गई थी। उत्तर पूर्व रेलवे जोन (NER) की यह ट्रेन रायपुर से लखनऊ के बीच की 919 किमी की दूरी को करीब 17 घंटे में पूरी करती है। 10 स्टेशनों में यह रुकती है।
पहले यह योजना बताई जा रही थी
मीडिया में आई खबरों के मुताबिक मोदी सरकार (MODI 2.0) गरीब रथ (garib rath) को सुपरफास्ट ट्रेन के रूप में बदलने वाली थी। बदलाव की योजना के अनुसार 12 कोच वाली गरीब रथ की बजाय 16 कोच वाली ट्रेन चलाई जानी थी। इसमें जनरल, स्लीपर और एसी कोच भी लगाए जाने थे।
रेल मंत्रालय ने दी सफाई
रेल मंत्रालय (ministry of railways) ने स्पष्टीकरण जारी कहा कि ट्रेन को चलाने से रोकने का कोई प्रस्ताव नहीं है। अगर मंत्रालय कोई फैसला लेता है तो इसके बारे में यात्रियों को पहले से सूचित किया जाएगा। मंत्रालय ने अपने ट्वीट में लिखा कि वर्तमान में रेलवे द्वारा 26 जोड़ी गरीब रथ (garib rath) ट्रेनें चलाई जाती हैं। गरीब रथ में 12 कोच हैं, सभी वातानुकूलित हैं। कम कीमत में एसी (AC) सुविधा प्रदान करने की वजह से ये ट्रेन काफी लोकप्रिय है।
लालू यादव ने शुरू की थी गरीब रथ ट्रेन
तत्कालीन रेल मंत्री (railway minister) लालू प्रसाद यादव (lalu yadav) ने 5 अक्टूबर 2006 में गरीब रथ (garib rath) को शुरू किया था। पहली ट्रेन सहरसा-अमृतसर गरीब रथ एक्सप्रेस थी। यह बिहार के सहरसा से पंजाब के अमृतसर के बीच चलाई गई थी। इसमें सिर्फ चेयरकार और थ्री-टियर (78 सीट) वाले डिब्बे होते हैं। गरीब रथ में मुसाफिरों को कम्बल, तकिया और चादर नहीं दिए जाते हैं।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned