scriptgaytri au savitri duno bhini me jiyat bhar abbad mya rihis | बहिनी के मया | Patrika News

बहिनी के मया

बड़े बहिनी के जब सुरता आय तब सबितरी रोवय। दस-पंदरा दिन के गेय ले सबितरी घला सबर दिन बर आंखी ल मूंद दिस। गांव भर गोठ होवय- ये हरय बहिनी अउ बहिनी मया। एकझन सियनहा ह समसान ठउर म किहिस- ये दे गयतरीय गउंटनिन के दाग देय जगा म ही वोकर बहिनी सबितरी के चिता ल रचौ गा। काबर ऐमन ल अलग करबोन रे भई।

रायपुर

Published: May 16, 2022 04:53:10 pm

बड़े के नाव गयतरीय अउ नान्हे के नाव सबितरी। दूनों बहिनी एके गांव म सग ममा-फुफू के भाईमन बर ससरार आय रिहिन। याने दूनों देरानी-जेठानी घला होगे। दूनों बहिनी एक-दूूसर बर अबड़
मया करंय।
गयतरी ह गांव म गौंटिया घर के बहू होय रहय। सबितरी ल थोरिक गरीबहा ससरार मिले रहय। गयतरीय ह थोरिक बने-गिनहा नइ लगे ले अपन रउतइन ले खभर पठोय सबितरी करा। सबितरी ह खभर पा के सरी बुता ल छोड़ के जाय। इही बेरा दूनों बहिनी सुख-दुख गोठियांय। घर लहुटत खानी गयतरीय ह सबितरी ल अपन बांटा के रोटी-पीठा अउ नइ ते खाई-खजानी देवै। इंकर मया ल पारा-परोस अउ सगा-सोदरमन घला बड़ सहरांय। कभु होय सुख- दुख के काम म दूनोच बहिनी संघरा जांय।
बखत के गुजरत दूनों बहिनी सियनहिन होगें, फेर इंकर मया के गांठ थोरकिन ढिल्लानइ होइस। अब दूनों फिसिर-फासंर करंय, ये बुढ़ापा सरीर होय ले। बनेच सियनहिन होगें। अब एक-दूसर के घर अवई-जवई अउ मिलई-जुलई कम होगे। अपन-अपन घर म रहंय। एक घांव गयतरीय ल बने नइ लागिस। दूनों बहिनी के घर के मनखेमन ह सबितरी ल गयतरीय के बने नइ लागे के गोठ ल नइ बताइन। तभो ले कइसनो करके सबितरी ल बड़े बहिनी के बने नइ लागे के बात ह पता चल गे। फेर, दूनों के घर वालेमन बने-बने होय के गोठ गोठियादिन। सबितरीमन मार के रहिगे।
एक दिन गयतरीय गुजर गे। सबितरी ल पता चल गे। कइसनो कर के लउठी धरे थेबत-थाबत बहिनी घर गिस। कंदर-कंदर के रोवय। गयतरीय के कामकाज निपटिस। गयतरीय के बीते ले सबितरी घलो खटिया धर लिस। जब मन करय, तब सबितरी ह पढ़-पढ़ के रोवय। बहिनी, बहिनी तंय मोला छोंड़ के चल देयेस बहिनी। तोर एक टिपा लहू के छोंड़े ले मंय आयेंव बहिनी। अहां। महुं ला बला ले मोर बहिनी अहां। तोर बिना मंय कइसे जी के रहूं। बहिनी मोर अहां।
बड़े बहिनी के जब सुरता आय तब सबितरी रोवय। दस-पंदरा दिन के गेय ले सबितरी घला सबर दिन बर आंखी ल मूंद दिस। गांव भर गोठ होवय- ये हरय बहिनी अउ बहिनी मया। एकझन सियनहा ह समसान ठउर म किहिस- ये दे गयतरीय गउंटनिन के दाग देय जगा म ही वोकर बहिनी सबितरी के चिता ल रचौ गा। काबर ऐमन ल अलग करबोन रे भई। एक जगा रइहीं बपरीमन ह। सब झन हव-हव कहिन।
बहिनी के मया
बहिनी के मया

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

Delhi News Live Updates: दिल्ली विधानसभाः शुरू हुआ मानसून सत्र, दुर्गेश पाठक ने ली शपथSidhu Moose Wala Murder: दिल्ली पुलिस को बड़ी कामयाबी, सिद्धू मूसेवाला को नजदीक से गोली मारने वाला शूटर अंकित गिरफ्तारMaharashtra Politics: महाराष्ट्र में फ्लोर टेस्ट में एकनाथ शिंदे सरकार को मिला बहुमत, 164 विधायकों ने किया समर्थनपीएम मोदी आज जाएंगे आंध्र प्रदेश, अल्लुरी सीताराम राजू की प्रतिमा का करेंगे अनावरणहिमाचल प्रदेश के कुल्लू में बड़ा हादसा, सैंज घाटी में गिरी बस, बच्चों समेत 16 लोगों की मौतNCR के एरिया का दायरा कम करना चाहती है हरियाणा सरकार, विपक्ष के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा जता चुके हैं विरोधसूरत फैमिली कोर्ट ने एक दिन में 303 मामलो का किया निपटारा, जज आरजी देवधारा ने कहा- यह एक दिन का रिकॉर्डDelhi News Live Updates: दिल्ली विधानसभाः शुरू हुआ मानसून सत्र, दुर्गेश पाठक ने ली शपथ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.