युवती से बोला- प्राइवेट जॉब से नहीं होगा गुजारा, मैं मंत्रालय में लगा दूंगा नौकरी लेकिन करना होगा ये काम

मंत्रालय में नौकरी दिलाने के नाम पर युवती से किया ऐसा घिनोना काम

By: Deepak Sahu

Published: 22 Jul 2018, 01:26 PM IST

रायपुर/जशपुरनगर. छत्तीसगढ़ में एक युवती को मंत्रालय में नौकरी देने के नाम पर दुष्कर्म कर उससे ठगी करने वाला मामला सामने आया है। पुलिस ने पीडि़ता के रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। घटना सिटी कोतवाली में दर्ज किया गया है।

ऐसे दिलाया विश्वास
घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार पीडि़ता जशपुर के एक निजी कंपनी में काम करती है वर्ष 2015 को उसके कंपनी में एक व्यक्ति आया और अपना नाम विजय शर्मा बताते हुए उससे कहा कि तुम प्राईवेट जॉब करती हो इसमें तुमको ज्यादा पैसा नहीं मिलता होगा, मैं मंत्रालय में काम करता हूं तुम्हारी नौकरी मंत्रालय में लगवा दूंगा। जब पीडि़ता को उसके बात पर विश्वास नहीं हुआ तो उसने उप सचिव मंत्रालय का परिचय पत्र दिखाया जिसमें उसका नाम विजय शर्मा लिखा हुआ था।

वैकेन्सी निकलने के नाम पर बुलाया रायपुर
उसके बाद यहां से वापस जाने के बाद लगातार वह पीडि़ता को फोन करता रहा और उससे कहता था कि वैकेन्सी निकलने वाला है और 19 अक्टूबर 2015 को उसने पीडि़ता को रायपुर बुलवा लिया और उसके रायपुर पंहुचने पर आरोपी ने उसे मंत्रालय ले गया और मंत्रालय में कुछ लोगों से उसकी मुलाकात करवाते हुए उसे अपने साथ ऊर्जा पार्क ले गया और कुछ दस्तावेजों में उसके हस्ताक्षर करवाने के बाद उसे एक लॉज में रुकने के लिए बोला तो पीडि़ता ने रुकने के लिए मना कर दिया था।

दिया जान से मारने की धमकी
जिस पर आरोपी ने उससे कहा कि उसे कुछ बात करना है और वह उसे रायपुर के एक लॉज में रुकवाया और लॉज में उससे 15-20 मिनट बात करने के बाद उससे कहा कि यदि उससे नौकरी चाहिए तो उसे उसके साथ संबंध बनाना पड़ेगा, इस बात पर वह आरोपी को इंकार कर दी। जिसके बाद आरोपी ने उसे जान से मारने की धमकी देते हुए उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दे दिया। जब पीडि़ता लॉज से थाना जाने की बात कही तो उसने उसे कहा कि वह यदि ऐसा करेगी तो उसकी नौकरी चली जाएगी तुम्हारी भी बदनामी होगी और वह उसके साथ शादी भी कर लेगा।

किश्तों में लिए लाखों रुपए
जिसके बाद वह जशपुर वापस आ गई थी। पीडि़ता के जशपुर आने के बाद भी आरोपी उसे फोन करते रहा और उसे वैकेन्सी निकलने की जानकारी देकर उससे पैसों की मांग किया और नौकरी लगवा देने के नाम पर उससे किश्तों में लभगभग 1 लाख रुपए से अधिक की राशि बैंक खाते में मंगवा लिया था। जब पीडि़ता का नौकरी नहीं लगा तो उसने उससे नौकरी के संबंध में बात की और उसके खिलाफ शिकायत करने की बात कहीं तो उससे ऐसा करने से मना करते हुए उसके साथ शादी करने बात कही थी।

आरोपी के खिलाफ दर्ज कराई रिपोर्ट
पीडि़ता ने जब आरोपी के संबंध में पतासाजी करने की कोशिश की और जिस बैंक खाते में उसने रुपए दिए थे उससे पतासाजी की तब उसे पता चला की आरोपी का नाम विजय शर्मा नहीं है उसका सही नाम गेंदलाल देवांगन है और वह सिमगा आजाद चौक का रहने वाला है। पीडि़ता को जब उसके साथ ठगी होने का एहसास हो गया तो उसने आरोपी के खिलाफ सिटी कोतवाली का मामला दर्ज करावा दिया। पुलिस ने पीडि़ता के रिपोर्ट पर आरोपी के खिलाफ धारा 420, 376 का मामला दर्ज कर लिया है।

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned