इस राज्य में जीएनएम कोर्स फिर शुरू, हाईकोर्ट के आदेश पर 1468 सीटों पर होंगे दाखिले

छत्तीसगढ़ में बंद हो चुके जनरल नर्सेस मिडवाइफरी (जीएनएम) पाठ्यक्रम को हाईकोर्ट ने फिर से शुरू करने के आदेश जारी किए हैं। 16 फरवरी को जारी आदेश के बाद आनन-फानन में छत्तीसगढ़ नर्सेस रजिस्ट्रेशन काउंसिल ने 43 कॉलेजों को सत्र 2021-22 में प्रवेश की अनुमति भी जारी कर दी। इन कॉलेजों में जीएनएम की 1468 सीटें है। अब चिकित्सा शिक्षा संचालनालय की काउंसिलिंग कमेटी काउंसिलिंग की प्रक्रिया शुरू करने जा रही है।

By: Dhal Singh

Published: 20 Feb 2021, 01:32 AM IST

रायपुर. इंडियन नर्सिंग काउंसिल (आईएनसी) ने पूर्व में कोर्स बंद करने और फिर चालू करने के निर्देश दिए थे। मगर, राज्य सरकार कॉलेज खोलने के पक्ष में नहीं थी। क्योंकि अभ्यर्थियों की रूचि लगातार घट रही थी। हर सत्र में बड़ी संख्या में सीटें खाली रह जा रही थीं। जीएनएम की जगह सरकारी और निजी अस्पतालों में बी.एससी. नर्सिंग की डिग्रियों की अधिक मांग थी और आज भी है। इतना ही नहीं कॉलेजों में शिक्षा की गुणवत्ता भी सवालों के दायरे में थी। मगर, जैसी ही आईएनसी ने कॉलेज बंद करने के अपने फैसले को पलटा, तो कॉलेज प्रबंधन सरकार के निर्णय का इंतजार करते रहे। मगर, जब सरकार की मंशा नहीं दिखी तो कॉलेज संचालक हाईकोर्ट चले गए। फैसला इनके पक्ष में रहा। गौरतलब है कि प्रदेश में 2 साल पहले तक 74 नर्सिंग कॉलेज संचालित थे।
तारीख बढ़ाने आईएनसी को पत्र
दाखिले की अंतिम तिथि 28 फरवरी को आगे बढ़ाने के लिए संचालनालय ने आईएनसी को पत्र लिखा है। क्योंकि 22 फरवरी तक बी.एससी. नर्सिंग की काउंसिलिंग चलनी है। इसके बाद जीएनएम के लिए ऑनलाइन के लिए पोर्टल खोला जाएगा। और 2-3 चरण काउंसिलिंग के लिए कम से कम 20 दिन का समय चाहिए। डॉ. जितेंद्र तिवारी, प्रवक्ता एवं सदस्य काउंसिलिंग कमेटी, चिकित्सा शिक्षा संचालनालय ने बताया कि 17 फरवरी को आदेश प्राप्त हुआ कि 28 फरवरी तक काउंसिलिंग करें, जो संभव नहीं है। तारीख बढ़ाने के लिए आईएनसी को पत्र लिखा गया है।

Dhal Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned