scriptgodhan yojna se mhilaye ho rhi labhanvit, ban rhi aatmrirbhar | गोठान में बने गोकाष्ठ से होगा होलिका दहन, 13 हजार रुपए से अधिक गोकाष्ठ की हो चुकी है एडवांस बुकिंग | Patrika News

गोठान में बने गोकाष्ठ से होगा होलिका दहन, 13 हजार रुपए से अधिक गोकाष्ठ की हो चुकी है एडवांस बुकिंग

होली त्योहार को देखते हुए होलिका दहन के लिए यथासंभव लकड़ी कीजगह गोकाष्ठ का उपयोग करने का निर्णय जिला प्रशासन की ओर से लिया गया है। इससे ना केवल पर्यावरण प्रदूषण से बचाव होगा, बल्कि महिला स्व सहायता समूहों के सदस्यों को अतिरिक्त आमदनी प्राप्त होगा।

रायपुर

Published: March 04, 2022 04:32:43 pm

बलौदाबाजार। कलेक्टर डोमन सिंह के मार्गदर्शन में जिले में गोधन न्याय योजना का लगातार विस्तार किया जा रहा है। एक और जहां बार जैसे वनांचल क्षेत्र में गोठान बनाकर ग्रामीणों को लाभान्वित करने का प्रयास जारी है, वहीं दूसरी ओर जेल जैसे स्थानों में वर्मी कंपोस्ट उत्पादन कैदियों द्वारा किया जा रहा है। अब इसी कड़ी में आने वाले होली त्योहार को देखते हुए होलिका दहन के लिए यथासंभव लकड़ी कीजगह गोकाष्ठ का उपयोग करने का निर्णय जिला प्रशासन की ओर से लिया गया है। इससे ना केवल पर्यावरण प्रदूषण से बचाव होगा, बल्कि महिला स्व सहायता समूहों के सदस्यों को अतिरिक्त आमदनी प्राप्त होगा।
गुरुवार को बलौदाबाजार नगर पालिका अधिकारी राजेश्वरी पटेल ने कलेक्टर को जानकारी देते हुए बताया कि नगर पालिका द्वारा 2 गोठानों का संचालन एसएलआरएम सेंटरों में किया जा रहा है। जहां पर गोधन न्याय योजना अंतर्गत गोबर खरीदी की जाती है। उक्त गोबर खरीदी का कार्य श्रीशनिदेव महिला स्व सहायता समूह बलौदाबाजार के द्वारा किया जाता है। जहां पर ना केवल वर्मी कंपोस्ट का उत्पादन किया जाता है, बल्कि बड़े पैमाने में गोकाष्ठ का निर्माण भी किया जाता है। समूह में कार्य करने वाली सदस्य सुनीता साहू ने बताया कि हमारे समूह में लगभग 59 महिला जुड़ी हुई हैं। हम सभी महिलाएं डोर टू डोर कचरा उठाने के साथ ही खरीदी किए गए गोबर से वर्मी कंपोस्ट, सुपर कंपोस्ट व गोकाष्ठ का निर्माण करती है। वर्तमान में हमारे समूह के पास लगभग 50 क्विंटल गोकाष्ठ उपलब्ध है, जिसे हम 8 रुपए प्रति किलो की दर से बेचते हैं। अभी तक हमारे समूह को 13 हजार रुपए के गोकाष्ठ का आर्डर मिल गया है। नगर पालिक परिषद के पूर्व अध्यक्ष विक्रम पटेल ने 12 क्विंंटल का आर्डर दिया है, जिसका मूल्य 9 हजार 6 सौ रुपए है। इसके अतिरिक्त हमें स्थानीय नगरीय निकाय के द्वारा ही लगभग 15 क्विंटल का अतिरिक्त गोकाष्ठ बनाने का आर्डर मिल चुका है, जिसका उपयोग शहर के सभी प्रमुख चौक -चौराहों में होलिका दहन में उपयोग किया जाएगा। इसके साथ ही सुनीता साहू ने बताया कि कोविड के दूसरे लहर के दौरान मृतक के अंतिम संस्कार में भी गोकाष्ठ का उपयोग बड़े पैमाने में किया गया है। साथ ही हाल के दिनों में शीतलहर से बचाव के लिए अलाव के व्यवस्था के लिए गोकाष्ठ का उपयोग किया गया था।
गोठान में बने गोकाष्ठ से होगा होलिका दहन, 13 हजार रुपए से अधिक गोकाष्ठ की हो चुकी है एडवांस बुकिंग
गोठान में बने गोकाष्ठ से होगा होलिका दहन, 13 हजार रुपए से अधिक गोकाष्ठ की हो चुकी है एडवांस बुकिंग

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.