सोने-चांदी की कीमतें 50 हजार पार, फिर भी ग्राहकी नहीं हुई कम

7 महीने बाद सोने में 7 हजार और चांदी में 21 हजार से ज्यादा का रिटर्न

By: VIKAS MISHRA

Updated: 30 Oct 2020, 01:26 AM IST

रायपुर. सोने-चांदी की कीमतें हॉफ सेंचुरी से पार होने के बाद भी यह ग्राहकों को नहीं डिगा पा रहा है। चार महीने से दोनों बहुमूल्य धातुओं की कीमतें 50 हजार से पार बनी हुई है। सराफा सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक 1 अक्टूबर से अब तक कारोबार ने 100 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया। चार महीने पहले सोने की कीमत पहली बार 50 हजार से पार हुई है। अब तक के इतिहास में यह रिकॉर्ड कीमत है। बावजूद इसके खरीदारी कम नहीं हुई है।
अप्रैल से अक्टूबर महीने के गणित पर गौर करें तो सोने में 7250 रुपए और चांदी में 21880 रुपए का रिटर्न मिल चुका है। एक साल से भी कम समय में शानदार रिटर्न की वजह से खरीदारी और बढ़ी है। सराफा कारोबारियों का कहना है कि बाजार में नए ग्राहकों के साथ पुराने सोने के बदले नए गहने बनवाने या लेने का भी ट्रेंड बढ़ा है। एक साल के भीतर ही सोने-चांदी में जबरदस्त रिटर्न के बाद सराफा में ग्राहकों की कमी नहीं हुई है। एक तरफ जब दूसरे सेक्टर में मंदी छाई हुई थी, वहीं सराफा में मार्च के बाद से ही तेजी दिखाई दे रही है।
कीमतें एक नजर में
महीना सोना चांदी
अप्रैल 45500 41520
मई 47880 50100
जून 49500 51500
जुलाई 51000 55600
अगस्त 52700 65700
सितंबर 51700 60200
28 अक्टू. 52750 63400

4 महीने से कीमतें 50 हजार के पार
पिछले तीन-चार महीनों से कीमतें 50 हजार के पार बनी हुई है। ऐसे में यह संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में सोने में रिटर्न कम नहीं होगा। राजधानी के सराफा बाजार में सोने की कीमतें बुधवार को जीएसटी के साथ प्रति 10 ग्राम 52300 रुपए व चांदी की कीमतें प्रति किलो पक्की 63000 रुपए रही।
सोने की कीमतें बढ़ी तो कोई चिंता नहीं
राजधानी के सराफा बाजार में ऐसी योजनाएं चलाई जा रही है, जिसमें यदि सोने की कीमतें बढ़ भी गई तो ग्राहकों को बुकिंग कराएं हुए कीमतों पर ही सोना मिलेगा, वहीं यदि कीमतें घट जाए तो भी गिरी हुई कीमतों पर सोना मिलेगा। ऐसे ऑफर शहर के कई शो-रूम में संचालित किए जा रहे हैं। इसके लिए कम से कम 50 फीसदी राशि एडवांस देकर बुकिंग कराने की योजना है।
हॉलमार्किंग व एडवांस बुकिंग का क्रेज बढ़ा
सराफा कारोबारियों का कहना है कि सोने में हॉलमार्किंग का क्रेज लगातार बढ़ते जा रहा है, जिसके बाद रायपुर सराफा एसोसिएशन ने 20 कैरेट के गहनों में भी हॉलमार्किंग के लिए केंद्र सरकार को चिठ्ठी लिखी है। रायपुर सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष हरख मालू ने बताया कि हॉलमार्किंग लाइसेंस की प्रक्रिया ऑनलाइन करने से कारोबारियों को आसानी होगी।

VIKAS MISHRA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned