सोना हुआ सस्ता, एक साल में सबसे निचले स्तर पर पहुंचा, सराफा बाजार में बढ़े खरीदार

सोने-चांदी की कीमतों ने भले ही बीते वर्ष ग्राहकों को काफी परेशान किया, लेकिन इस साल कीमतों में जबरदस्त गिरावट आ चुकी है। सोने की कीमतें बीते वर्ष अधिकतम 57 हजार तक पहुंची थी, जो कि अब घटकर 46400 रुपए पर आ चुकी है, वहीं चांदी कीमतें 75 हजार नहीं बल्कि 68900 रुपए प्रति किलो पर बिक रही है। सोने की यह 24 कैरेट की कीमत है, जबकि 23 और 20 कैरेट की कीमतें इससे कम है।

By: Dhal Singh

Published: 11 Mar 2021, 02:23 AM IST

रायपुर. स्थानीय सराफा बाजार में बड़ी गिरावट के बाद बाजार में भी ग्राहकों की चहल-पहल बढ़ चुकी है। आने वाले दिनों में फिर से कीमतें बढऩे की आशंका के चलते शो-रूम की खरीदारी 50 से 60 फीसदी बढ़ चुकी है। रायपुर सराफा एसोसिएशन के अध्यक्ष हरख मालू ने बताया कि बीते वर्ष सोने-चांदी में जबरदस्त महंगाई से बाजार प्रभावित था, लेकिन इस साल कीमतें कम होने की वजह से ग्राहकी बढ़ रही है।
पिछले साल से सस्ता
पिछले साल लॉकडाउन के बाद अप्रैल महीने से सोना-चांदी की कीमतों में बढ़ोतरी शुरू हुई थी, वहीं कीमतों में जनवरी महीने से गिरावट का दौर शुरू हुआ। 1 फरवरी 2021 को सोना प्रति 10 ग्राम 50600 रुपए की कीमत पर बिका था, वहीं चांदी की कीमतों में भी 1 महीने के भीतर बड़ी गिरावट आ चुकी है। ऐसे में सोने-चांदी की खरीदी के लिए यह उचित समय माना जा रहा है।
वैक्सीनेशन के बाद कीमतें घटी
कोविड-19 वैक्सीनेशन की शुरूआत के बाद कीमतों में कमी दर्ज की जा रही है। सराफा कारोबारियों का कहना है कि आने वाले दिनों में कीमतों को लेकर अभी अनिश्चिंतता बनी हुई है। कोविड प्रकरणों में वृद्धि और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में आने वाले दिनों की हलचलों के बाद स्थानीय बाजारों की स्थिति साफ हो सकती है।

Dhal Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned