नौकरी की तलाश कर रहे युवाओं के लिए अच्छी खबर, इस क्षेत्र में 30 लाख नौकरिया!

4जी तकनीक के आने से प्रौद्योगिकी की मांग में इजाफा हो रहा है, जिससे इस क्षेत्र में रोजगार के मौके बढ़ रहे हैं और 2018 में नई नौकरियां पैदा होंगी।

By: Ashish Gupta

Published: 18 Aug 2017, 05:12 PM IST

नई दिल्ली/रायपुर. देश में 4जी तकनीक के आने, डेटा के उपभोग में वृद्धि, बाजार में नई कंपनियों के आने, डिजिटल वॉलेट शुरू होने और स्मार्टफोन की लोकप्रियता में इजाफा होने से प्रौद्योगिकी की मांग में लगातार इजाफा हो रहा है, जिससे दूरसंचार क्षेत्र में रोजगार के मौके बढ़ रहे हैं और 2018 में इस क्षेत्र में 30 लाख नई नौकरियां पैदा होंगी।

एसोचैम-केपीएमजी के एक अध्ययन में यह जानकारी दी गई। उभरती प्रौद्योगिकियों जैसे 5जी, एम2एम और सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) के विकास के फलस्वरूप साल 2021 तक 8.70 लाख नई नौकरियां पैदा होंगी।

Read More: ऐसा क्या हुआ कि सेना का जवान पत्नी का गला दबाया, फिर खुद लेट गया रेल की पटरी पर

इनकी होगी जरूरत
एसोचैम-केपीएमजी के संयुक्त अध्ययन में कहा गया, 'कौशल में अंतर को भरने की आवश्यकता है। जिसमें एक तरफ कौशलयुक्त मानव संसाधन की कमी है। खासकर बुनियादी संरचना और साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ, एप्लीकेशन डेवलपर, सेल्स एक्जीक्यूटिव, इंफ्रास्ट्रक्चर टेकनीशियन, हैंडसेट टेकनीशियन आदि के क्षेत्र में तो दूसरी तरफ वर्तमान मानव संसाधन के कौशल को दुबारा बढ़ाने की जरूरत है। ताकि वे वर्तमान प्रौद्योगिकी की जरूरतों के अनुरूप काम करने में सक्षम हो सके।'

Read More: सैकड़ों गायों की मौत मामले में सीएम ने दिए सभी गौशालाओं की जांच के आदेश

कौशल परिषद की स्थापना
दूरसंचार क्षेत्र की मांग और कौशल की जरूरतों को पूरा करने के लिए दूरसंचार क्षेत्र कौशल परिषद की स्थापना की गई है। हालांकि उद्योग की सिफारिश है कि अधिक लक्षित और विशेषीकृत कौशल विकास कार्यक्रम शुरू किए जाने चाहिए, जो वर्तमान मानव संसाधन क्षमताओं और उपलब्धता में इजाफा करे, ताकि इस क्षेत्र का कुल मिलाकर बाधारहित विकास हो सके।

Read More: पुलिया हो चुका है जर्जर, मरम्मत नहीं हुई तो घट सकती है बड़ी घटना

नेटवर्क में लगातार कर रहे निवेश
एसोचैम-केपीएमजी के अध्ययन में कहा गया है कि टीएसपीज (दूरसंचार सेवा प्रदाताओं) अपने नेटवर्क में लगातार निवेश कर रहे हैं और वर्तमान नेटवर्क अवसंरचना का आधुनिकीकरण कर रहे हैं। इस पर साल 2017 की पहली तिमाही में कुल 85003 करोड़ रुपए का निवेश किया गया।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned