छत्तीसगढ़ के खिलाडिय़ों के लिए खुशखबरी: हॉकी, तीरंदाजी समेत चार खेलों की आवासीय अकादमियों की मिली सौगात

छत्तीसगढ़ के खिलाडिय़ों का शनिवार को 20 वर्षों का आवासीय अकादमियों का इंतजार खत्म हो गया। 25 सितंबर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पांच खेलों हॉकी, तीरंदाजी, एथलेटिक्स और कबड्डी की आवासीय खेल अकादमी की सौगात दी।

By: Dinesh Kumar

Updated: 26 Sep 2021, 01:53 AM IST

पत्रिका की मुहिम लाई रंग

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वर्चुअल कार्यक्रम में किया उद्घाटन

रायपुर में तीरंदाजी आवासीय अकादमी का शुभारंभ

हॉकी, तीरंदाजी, एथलेटिक्स और कबड्डी की मिलेगी ट्रेनिंग

बिलासपुर में हॉकी, तीरंदाजी, एथलेटिक्स और कबड्डी (महिला) अकादमी की शुरुआत

दो खेलों की गैर आवासीय अकादमी का भी आगाज

42.14 करोड़ की लागत की खेल सुविधाओं का भी लोकार्पण

रायपुर. छत्तीसगढ़ के खिलाडिय़ों का शनिवार को 20 वर्षों का आवासीय अकादमियों का इंतजार खत्म हो गया। 25 सितंबर को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पांच खेलों हॉकी, तीरंदाजी, एथलेटिक्स और कबड्डी की आवासीय खेल अकादमी की सौगात दी। इसी के साथ पत्रिका की प्रदेश में एक भी अकादमी न होने की मुहिम की सफल हो गई। रायपुर में कोदूराम वर्मा स्मृति आवासीय तीरंदाजी अकादमी खुलने जा रही है। वहीं, बिलासपुर में तीरंदाजी, एथलेटिक्स, हॉकी और कबड्डी खेलों की आवासीय अकादमियों का शुभारंभ किया। साथ ही बिलासपुर में 42.14 करोड़ की लागत की खेल सुविधाओं का लोकार्पण और भूमिभजन भी किया। वर्चुअल उद्घाटन अवसर पर गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, खेल मंत्री उमेश पटेल, मुख्य सचिव सुब्रह साहूए मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी और खेल संचालक श्वेता सिन्हा उपस्थित थीं। खेल अकादमी व खुविधाओं की की सौगात देने पर तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष कैलाश मुरारका, ओलंपिक संघ के पदाधिकारियों व अन्य खेल संघों ने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया है।

20 साल का इंतजार खत्म
आवासीय अकादमी के उद्घाटन होने के साथ ही छत्तीसगढ़ के खिलाडिय़ों का 20 वर्षों का इंतजार खत्म हो गया।

दो डे बोर्डिंग अकादमी भी
रायपुर में एथलेटिक्स (बालक-बालिका) और फुटबॉल (बालिका) की गैर आवासीय (डे बोर्डिंग) अकादमियों का शुभारंभ किया। डे बोर्डिंग अकादमी रायपुर के कोटा स्थित विवेकानंद अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स मैदान में संचालित की जाएगी।

राज्य स्तरीय चयन स्पर्धा 11 से

चार खेलों की अकादमियों के लिए खिलाडिय़ों का चयन किया जाना है। इसके लिए 11 से 13 अक्टूबर से बिलासपुर के बहतराई स्थित राज्य प्रशिक्षण केंन्द्र में राज्य स्तरीय चयन स्पर्धा आयोजित की जा रही है। इसमें सभी जिलों के चयनित खिलाड़ी हिस्सा लेंगे। राष्ट्रीय स्तर के खिलाडिय़ों को चयन स्पर्धा में प्राथमिकता मिलेगी।

कोच भर्ती के लिए निविदा जारी

बिलासपुर में खुलने वाली खेल अकादमी के लिए अंतरराष्ट्रीय कोच की भर्ती के लिए भी खेल विभाग ने शुरू कर दी है। इसके लिए 30 सितंबर तक आवेदन मंगाए हैं। इसमें 1 हाई परफॉर्मेंस डायरेक्टर और तीन मुख्य प्रशिक्षक के पद शामिल हैं।

शिवतराई में तीरंदाजी का डे बोर्डिंग सेंटर

बिलासपुर के शिवतराई में निजी रूप से संचालित तीरंदाजी सेंटर को सरकार ने डे बोर्डिंग सेंटर के रूप में संचालित करने का निर्णय लिया है। अब इस सेंटर के खिलाडिय़ों को डे बोर्डिंग की सभी सुविधाएं खेल संसाधन, प्रशिक्षण, बीमा, डाइटमनी और राज्य स्तरीय मैदान की सुविधा सरकार की ओर से प्रदान की जाएगी।

आवासीय अकादमी में होंगे इतने खिलाड़ी


तीरंदाजी बिलासपुर: 15 बालक-15 बालिका

रायपुर: 20 बालक-20 बालिका
एथलेटिक्स: 20 बालक- 20 बालिका

हॉकी: दो-दो टीमों के बराबर बालक-बालिका खिलाड़ी

इन सुविधाओं का लोकार्पण व भूमिपूजन

-मुख्यमंत्री बघेल बिलासपुर में बीआर यादव राज्य खेल परिसर में 9 करोड़ 20 लाख की लागत से 400 मीटर सिंथेटिक एथलेटिक्स ट्रैक, 2 करोड़ 82 लाख रूपए की लागत से बालकों के लिए 50 सीटर खेल छात्रावास 4 करोड़ 75 लाख रूपए की लागत से बालिकाओं के लिए खेल छात्रावास, 4 करोड़ 47 लाख रूपए की लागत से प्रशासनिक भवन का भी लोकार्पण किया
-बिलासपुर में ही 4 करोड़ 94 लाख रुपए की लागत के कबड्डी इंडोर हॉल, 15 करोड़ 96 लाख रुपए के नर्माण का भूमिपूजन किया।

उद्योगों से खेलों की मदद करने की अपील

आवासीय अकादमियों के उद्घाटन अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उद्योग से खेल और खिलाडिय़ों के विकास में मदद करने लिए आगे आने की अपील की।

Dinesh Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned