पासबुक गिरवी रख निकलवा लिया सात लाख का लोन

आरोपी के खिलाफ कटघोरा में केस दर्ज

कोरबा. एसईसीएल कर्मी से तीन हजार रुपए कर्ज के बदले में आरोपी ने चेक व पासबुक गिरवी रख लिया था। कुछ माह बाद आरोपी ने एसईसीएल कर्मी का चेक व पासबुक का दुरुपयोग करते हुए बैंक से सात लाख का लोन ले लिया। इसके बदले कर्मी को 50 हजार रुपए दिया। इसकी जानकारी होने पर एसईसीएल कर्मी ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है।

घटना कटघोरा थाना क्षेत्र की है। बताया जा रहा है कि ग्राम सुतर्रा निवासी राजेंद्र एसईसीएल सिंघाली में एसडीएल ऑपरेटर के पद पर कार्यरत है। उसने स्थानीय निवासी रामप्रताप जायसवाल से 30 हजार रुपए कर्ज लिया था। कर्ज के बदले में रामप्रताप ने राजेंद्र का चेक व पासबुक गिरवी रख लिया था। राजेंद्र प्रतिमाह ब्याज के साथ तीन हजार रुपए रामप्रताप को भुगतान कर रहा था। इस बीच आरोपी ने राजेंद्र को झांसे में ले लिया। राजेंद्र झांसे में आकर चेक पर हस्ताक्षर कर दिया। रामप्रताप ने फायदा उठाकर उसके खाते से चार लाख रुपए का लोन ले लिया। इसके बाद आरोपी ने राजेंद्र को अपने घर बुलाया और 50 हजार रुपए दे दिया। बाकी पैसे अपने पास रख लिया। रामप्रताप की पत्नी सुबह राजेंद्र के घर आई। राजेंद्र की पत्नी को 10 हजार रुपए नगद दिया। आरोप है कि रामप्रताप ने अपने साले के साथ मिलकर दंपत्ति को मारने की धमकी भी दी। 100 रुपए के स्टांप में हस्ताक्षर लेने का आरोप लगाया है। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ पैसे की चोरी व भयादोहन का केस दर्ज किया है। इसकी जांच की जा रही है।

AJAY SINGH Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned