सरकार का बड़ा फैसला,प्रदेश में लोगों की सुविधा के लिए बढे़ंगी 4900 राशन दुकानें

- जहां 500 से ज्यादा राशन कार्ड वहां दो राशन दुकानें होंगी .
- इससे पहले भी हो चुका है प्रयोग 1000 राशनकार्ड की संख्या में रहती थी एक दुकान .

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 30 Jun 2020, 03:08 PM IST

रायपुर। प्र्रदेश में राशन दुकानों अब राशन दुकानों की संख्या बढऩे वाली है। प्रदेश में 12 हजार 523 उचित मूल्य की दुकानें वर्तमान में संचालित हैं। जिसमें से 4900 से ज्यादा राशन दुकानों में 1500 से ज्यादा उपभोक्ताओं के राशन कार्ड हैं। ग्रामीण इलाको में 3753 राशन दुकानें, शहरी इलाकें में 1147 राशन दुकानें हैं। जिससे लोगों को राशन लेने और दुकान संचालकों को खाद्यन्न स्टॉक करने में दिक्कत होती है। इससे लोगों को राहत देने के लिए सरकार ने दुकानों को संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया है। इसके लिए खाद्य नागरिक आपूर्ती एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा आदेश जारी कर दिया गया है। इस आदेश के अनुसार सभी जिला कलेक्टरों को इसके लिए जल्द से जल्द प्रक्रिया शुरू करने को कहा गया है।

बनाई जाएगी समिति
उचित मूल्य की दुकानों के युक्त युक्तिकरण के लिए राज्य शासन के निर्देशानुसार खाद्य, राजस्व, सहकारिता और स्थानीय निकायों के अधिकारियों की टीम बनाई जाएगी। जो रिपोर्ट बना कर जिला कलेक्टरों को सौंपेंगे। जिसके आधार पर राशन दुकानों का युक्त युक्तिकरण किया जाएगा।

यह है आदेश के मुख्य बिंदू :

- प्रत्यक वार्ड में एक राशन दुकान जरूरी।
- सभी राशन दुकानों में राशन कार्ड की संख्या 500 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।
- हितग्राहियों की सुविधानुसार राशन दुकानें स्थिापित की जानी है।
- किसी भी समिति या एजेंसी में तीन से अधिक राशन दुकानें हैं तो उन पर तुरंत कार्रवाई की जाए।

कार्डधारियों की सुविधा के लिए निर्देश जारी किया गया है। इससे लोगों को आसानी से राशन मिल पाएगा।
मनोज कुमार सोनी, विशेष सचिव,खाद्य,नागरिक आपूर्ती एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned