कोरोना वैक्सीन नहीं लगाने वाले शासकीय कर्मचारियों को नहीं मिलेगा अप्रैल का वेतन

जिले में धीमे वैक्सीनेशन पर कलेक्टर ने नाराजगी जाहिर करते हुए आगामी दिनों में अधिक से अधिक वैक्सीनेशन कराए जाने के लिए व्यापारी संगठनों सहित जनप्रतिनिधियों से भी सहयोग की अपील की हैं।

By: dharmendra ghidode

Published: 03 Apr 2021, 05:51 PM IST

बलौदाबाजार. जिले में धीमे वैक्सीनेशन पर कलेक्टर ने नाराजगी जाहिर करते हुए आगामी दिनों में अधिक से अधिक वैक्सीनेशन कराए जाने के लिए व्यापारी संगठनों सहित जनप्रतिनिधियों से भी सहयोग की अपील की है तथा आगामी दिनों में संक्रमण तेज होने पर पूरे जिले में लॉकडाऊन लगाए जाने के संकेत भी दिए हैं। वहीं, 45 वर्ष के अधिक उम्र के शासकीय कर्मचारियों को अनिवार्य रूप से वैक्सीनेशन कराए जाने का निर्देश देते हुए जिलाधीश ने वैक्सीनेशन ना कराने वाले कर्मचारियों का अप्रैल का वेतन रोकने का भी निर्देश विभाग प्रमुखों को दिया है।
विदित हो कि जिले में बीते कुछ माह से कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जारी निर्देशों का पालन ना होने तथा निर्देश केवल कागजों पर ही सिमटे होने की वजह से जिले में कोरोना संक्रमण की रफ्तार काफी तेज हो गई है। जिला प्रशासन द्वारा कोरोना से बचाव के लिए निर्देश तो लगातार जारी किए गए, परंतु इन निर्देशों का अमल हो रहा है या नहीं इसकी पड़ताल कभी नहीं की गई। जिसका परिणाम यह रहा है कि पूरे जिले में कोरोना गाइड लाइन की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जाती रही हैं। जिसकी वजह से जिले में कोरोना कई गुना अधिक रफ्तार से अपने पैर पसारता जा रहा है।
जिले में बीते तीन दिनों में 250 से अधिक कोरोना संक्रमित मरीजों के मिलने की वजह से जिलेवासियों की चिंता बढ़ गई है। जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते हुए प्रसार को देखते हुए कलेक्टर ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न व्यापारिक संगठनों, चेंबर ऑफ कॉमर्स के प्रतिनिधियों व नगरीय निकायों के जन प्रतिनिधियों से बातचीत कर मौजूदा हालात के बारे में अवगत कराया।
उन्होंने पुन: सभी से जिले के सभी व्यापारी संगठनों, समाजसेवी संस्था व सभी जनप्रतिनिधियों से कोविड वैक्सिनेशन व कोविड टेस्टिंग दोनों अभियान में अपना पूरा सहयोग जिला प्रशासन को प्रदान करने की अपील की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कलेक्टर ने सख्त चेतावनी देतें हुए दो टूक कहा कि लगातार चेतावनी के बाद भी व्यापारियों द्वारा कोरोना की गाइड लाइंस जैसे सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क की अनिवार्यता, सेनिटाइजर का सतत उपयोग के नियमों का पालन बाजारों मेंं नहीं किया जा रहा है जिससे जिलें में दिन प्रतिदिन कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में वृद्धि हो रही है। अगर यही स्थिति आने वाले दिनों में रही तो हमें मजबूरन लॉकडाउन की तरफ बढऩा पड़ जाएगा।
नियमों का ही पालन नहीं
कोरोना गाइड लाइन का पालन किए जाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा भले ही निर्देश जारी किए गए हैं, परंतु इन नियमों का कहीं पालन नहीं हो रहा है जिसके चलते जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से फैलता जा रहा है। जिले में बड़ी संख्या में दूसरे प्रदेशों से लोग आ रहे हैं, जिनकी पड़ताल नहीं हो रही है। वहीं, बाजार, चौक-चौराह, शराब दुकानों से लेकर बस-टैक्सियों तक में लोगों की भीड़ जमा हो रही है, जिस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।
45 वर्ष से ऊपर वाले कर्मचारियों का कोरोना का टीकाकरण करवाएं
कलेक्टर ने सभी विभाग प्रमुखों को आदेश जारी करते हुए सभी कार्यालयों में कार्यरत सभी कर्मचारीगण जिनकी उम्र 45 वर्ष से ऊपर है वह अनिवार्य रूप से तीन दिनों के भीतर वैक्सीनेशन करा लें। साथ ही अपने परिवार के सदस्यों को भी टीकाकरण करा लें व सभी विभाग प्रमुख अपर कलेक्टर को 100 प्रतिशत कर्मचारियों वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र प्रेषित कर अवगत कराएं। वैक्सीनेशन नहीं कराने पर कलेक्टर ने अप्रैल का वेतन जारी नहीं करने का निर्देश सभी विभागों के प्रमुखों को दिया है।

dharmendra ghidode
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned