कोरोना काल के चलते गुरुनानक देव जयंती पर नगर कीर्तन नहीं निकलेगा

- 30 नवम्बर को मनाई जा रही है गुरु गुरुनानक देव की जयंती
- गुरुद्वारा में जोर शोर से की जा रही तैयारियां

By: Ashish Gupta

Published: 27 Nov 2020, 04:47 PM IST

रायपुर. सिक्ख धर्म के प्रथम गुरु गुरुनानक देव की जयंती अगामी 30 नवम्बर को भारत वर्ष सहित पूरे विश्व में बड़ी ही श्रद्धा और उत्साह के साथ मनाई जा रही है, इसी परिप्रेक्ष्य में गुरुद्वारा गुरु सिंघ सभा स्टेशन रोड में भी तैयारियां बड़े जोर शोर से की जा रही है, साथ ही गुरुपुरब के उपलक्ष्य में प्रभात फेरी भी निकाली जा रही है। विगत कई दशकों की परंपरा के अनुसार गुरु नानक देव की जयंती के पूर्व एक विशाल नगर कीर्तन निकाला जाता रहा है। जिसमें बड़ी संख्या में संगत शामिल होती थी, परंतु वर्तमान में कोरोना संकट के मद्देनजर संगत की सुरक्षा कारणों से इस वर्ष नगर कीर्तन नही निकालने का निर्णय लिया गया है।

नसबंदी कराने में पुरुषों से महिलाएं कई गुना आगे, 2019 में 19 पुरुषों ने कराई नसबंदी

छत्तीसगढ़ राज्य अल्पसंख्यक आयोग के चेयरमैन महेंद्र सिंह छाबड़ा, गुरुद्वारा गुरु सिंघ सभा के प्रधान निरंजन सिंह खनूजा, कार्यकारी अध्यक्ष सुरेन्द्र सिंह छाबड़ा की अगुवाई में राजधानी के सभी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटीयों के प्रधान व सचिवों के साथ की गई बैठक में ये निर्णय लिया गया। जैसा हमारे गुरुओं ने हमें सिखाया है, कि मानव सुरक्षा और मानव सेवा ही उत्तम धर्म है, चाहे वो कोरोना काल में भूखों को भोजन वितरण करने की बात हो या फिर लॉकडाउन में मजदूरों को उनके गतंव्य स्थान में पहुंचाने की बात हो,या फिर चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने की बात हो सिक्ख समाज ने शासन के साथ कंधा से कंधा मिलाकर तन मन धन से नि:स्वार्थ सेवा की है।

कोरोना काल में शादी, घटे बाराती, सादे समारोह में हो रहे हैं विवाह

सिक्ख धर्म के 9वें गुरु श्री गुरु तेग बहादुर जी ने हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए चांदनी चौक दिल्ली में अपना शीश कटवा कर अपने प्राणों की आहुति दी थी, ऐसे ही त्याग और बलिदान से परिपूर्ण सिक्ख कौम ने जन सुरक्षा की सर्वोपरि मानते हुए न केवल नगर कीर्तन नही निकालने का फैसला किया है, बल्कि बड़ी संख्या में संगत एकत्रित न हों इसलिए इस वर्ष गुरुनानक देव जी की जयंती का मुख्य कार्यक्रम खालसा स्कूल में न रखकर गुरुद्वारा स्टेशन रोड रायपुर में रखने का निर्णय लिया है। साथ ही एक जगह एक पंडाल में ज्यादा संगत एकत्रित न हो इसलिए शहर के सभी गुरुद्वारा साहिब में एक साथ गुरुपर्व मनाने की बात कही गई है। गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने सभी श्रद्धालुओं से सामाजिक दूरी रखते हुए, फेस मास्क लगाकर और हैंड सेनिटाइजर का उपयोग करते हुए गुरुपर्व मनाने की अपील की गई है इस हेतु गुरुद्वारा साहिब को भी सेनिटाइज किया जा रहा है।

Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned