आज घर-घर जाकर महिलाएं खाएंगी करू भात, बाजारों में करेला बिक रहा दोगुने रेट पर

आज घर-घर जाकर महिलाएं खाएंगी करू भात, बाजारों में करेला बिक रहा दोगुने रेट पर

Deepak Sahu | Publish: Sep, 11 2018 12:20:31 PM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 12:20:32 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

आज देर शाम तक महिलाएं एक-दूसरे के घर जाकर करू भात की रस्म निभाएंगी

रायपुर. भाद्रपद शुक्लपक्ष की तृतीया तिथि बुधवार को है, जिसे हरितालिका व्रत कहा जाता है। इस तिथि पर सुहागवती महिलाएं और युवतीयां निर्जला व्रत रखकर भगवान शिव-पार्वती का पूजन करेंगी। सुहागिनें पति की लम्बी उम्र की कामना करेंगी तो युवतीयां अच्छे पति के लिए व्रत करेंगी। इस व्रत के के महत्व को देखते हुए लोग इसकी तैयारियों मेें जुट जाते हैं। इसमें महिलाएं तीजा मनाने अपने-अपने साधनों बसों और ट्रेन से अपने मायके पहुंच रही हैं।

हरितालिका व्रत के लिए आज मंगलवार को करू भात खाएंगी। इसके दूसरे दिन 24 घंटे के निर्जला व्रत करेंगी। सोलह श्रृंगार में भगवान शिव का पूजन कर कथा सुनेंगी। आज देर शाम तक महिलाएं एक-दूसरे के घर जाकर करू भात की रस्म निभाएंगी। दूसरी ओर भारत बंद के कारण खरीदारी न कर पाने से लोग उदास रहे पर शाम को बाजार खुलते ही तिजहारिन महिलाओं की रौनक बाजारों में देखने को मिली।

करेला 40 से 50 रूपए किलो
हरितालिका तीज में करेले की सब्जी का बहुत महत्व होता है जिसे देखते हुए इस वक्त बाजारों में करेला 40 से 50 रूपए किलो तक बिक रहा है।

व्रत करते समय इन बातों का रखें ध्यान
सुहागिन महिलाएं और युवतियां इस व्रत को करते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें
- एक बार हरितालिका तीज का व्रत शुरू करने के बाद इसे जीवनभर रखना पड़ता हैं।
- इस व्रत में सोने की मनाही होती हैं, इस व्रत में महिलाओं को रतजगा करना होता हैं।

इसलिए मनाते हैं हरितालिका तीज
भाद्रपद शुक्त की तृतिया को हरितालिका तीज शिव और पार्वती के पुर्नमिलन के अवसर पर मनाया जाता है। कहा जाता है कि भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए मां पार्वती ने १०७ जन्म लिए। मां पार्वती के कठोर तप को देखकर उनके 108 वें जन्म पे भगवान शिव ने उन्हे अपनी अर्धांगनी के रूप में अपनाया। उसी समय से इस व्रत की मान्यता मानी गई है।

Ad Block is Banned