200 वर्गफीट बताकर 1000 वर्गफीट में भर दिया बारुद, पांच दिन बाद भी जांच करने नहीं पहुंची टीम

200 वर्गफीट बताकर 1000 वर्गफीट में भर दिया बारुद, पांच दिन बाद भी जांच करने नहीं पहुंची टीम
200 वर्गफीट बताकर 1000 वर्गफीट में भर दिया बारुद, पांच दिन बाद भी जांच करने नहीं पहुंची टीम,200 वर्गफीट बताकर 1000 वर्गफीट में भर दिया बारुद, पांच दिन बाद भी जांच करने नहीं पहुंची टीम

jitendra dahiya | Updated: 06 Oct 2019, 08:29:34 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

शहर में अवैध रूप से चल रहे 175 पटाखा दुकानों में से किसी का लाइसेंस रिनिवल नहीं किया गया है। पटाखा व्यापरियों ने लाइसेंस रिनीवल के लिए आवेदन किया है। इन व्यापारियों ने जो जानकारी प्रशासन को अपने गोदाम के संबंध में दी है, वह गलत है। पत्रिका को मिली जानकारी के मुताबिक बढ़ईपारा स्थित एक व्यापारी ने अपनी दुकान-गोदाम की एरिया 300 वर्गफीट बताया है। जबकि असलियत यह है कि दुकाना 1000 वर्गफीट से ज्यादा आकार का है।

रायपुर। शहर में अवैध रूप से चल रहे 175 पटाखा दुकानों में से किसी का लाइसेंस रिनिवल नहीं किया गया है। पटाखा व्यापरियों ने लाइसेंस रिनीवल के लिए आवेदन किया है। इन व्यापारियों ने जो जानकारी प्रशासन को अपने गोदाम के संबंध में दी है, वह गलत है। पत्रिका को मिली जानकारी के मुताबिक बढ़ईपारा स्थित एक व्यापारी ने अपनी दुकान-गोदाम की एरिया 300 वर्गफीट बताया है। जबकि असलियत यह है कि दुकाना 1000 वर्गफीट से ज्यादा आकार का है। इस पूरे परिसर में कई टन पटाखा भरा हुआ है। जांच टीम 30 सितम्बर को बानाई गई थी, लेकिन अब तक एक भी टीम जांच के लिए नहीं निकली है। दशहरे को 3 दिन और दिवाली को महज 20 दिन शेष हैं और पांच टीम के एक अधिकारी ने भी अभी तक जांच भी शुरू नहीं की है।

घर में ही पटाखा गोदाम

बंजारी मार्केट में एक तीन मंजिला मकान में खुद व्यापारी परिवार समेत रहता है। इस दुकान का एरिया भी 200 वर्गफीट बताया गया है। जबकि इसके 800 वर्ग फीट भवन में पटाखा स्टॉक किया गया है। इतना ही नहीं, इसी व्यापारी द्वारा नयापारा पीपल के पेड़ के पास एक गोदाम लिया गया है। इसमें भी भारी मात्रा में पटाखा रखा गया है। यही हाल शहर के सभी पटाखा दुकानों का है, जिसमें कम क्षेत्रफल बताकर व्यापारियों ने तीन गुना भवन और गोदाम में पटाखा स्टॉक किया गया है। अहम बात यह है कि मकान में परिवार के साथ रहने का हवाला देकर व्यापारी पूरे परिसर की जांच नहीं कराते।

इन इलाकों में है अवैध

गोदाम गोलबाजारबंजारी मार्केट इलाके में पांच गोदाम और दुकानें संचालित हैं। कुछ दुकानों के बाहर तो खिलौने और गृह सज्जा लिखा हुआ है। अंदर सैकड़ों टन पटाखा जमा करके रखा गया है।

फूल चौक

फूल चौक में दो पटाखा व्यापारियों के गोदाम और दुकान एक साथ हैं। इन्होंने अपने गोदाम का क्षेत्रफल 200 वर्गफीट बताया है। जबकि तकरीबन 800 वर्ग फीट में भारी मात्रा में पटाखा स्टॉक किया गया है।

लाखेनगर

लाखेनगर इलाके में चार गोदाम व्यापारियों द्वारा महज 150 वर्गफीट की जानकारी देकर 900 वर्गफीट में पटाखों का भंडारण किया गया है।

बढईपारा

बरमदेव गली में बड़ा गोदाम है। इसके अलावा व्यापारी ने 180 वर्गफीट के नाम से लाइसेंस मांगा है, लेकिन यहां पर 1000 वर्गफीट भवन में पटाखा रखा गया है।

टीम को छह बिंदुओं पर जांच करने के निर्देश दिए गए हैं। दुकान के अलावा स्टॉक पंजी की जांच की जा रही है। निर्धारित मात्रा से अधिक पटाखा निकलने पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

विनीत नंदनवार, एडीएम, रायपुर

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned