इस टेस्ट से पता चल सकेगा HIV संक्रमितों के शरीर में वायरस की मात्रा, रायपुर में भी शुरू

इस टेस्ट से पता चल सकेगा HIV संक्रमितों के शरीर में वायरस की मात्रा, रायपुर में भी शुरू

Ashish Gupta | Updated: 11 Jul 2019, 05:45:26 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

HIV Viral Load Testing: वायरल लोड टेस्टिंग मशीन लगने के बाद अब एचआईवी संक्रमित व्यक्तियों के शरीर में वायरल लोड की जांच रायपुर में ही हो जाएगी।

रायपुर. छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (TS Singhdeo) ने आज रायपुर मेडिकल कॉलेज (Raipur Medical College) में एचआईवी वायरल लोड टेस्टिंग (HIV Viral Load Testing) सेंटर का लोकार्पण किया। यहां वायरल लोड टेस्टिंग मशीन लगने के बाद अब एचआईवी संक्रमित व्यक्तियों के शरीर में वायरल लोड की जांच रायपुर में ही हो जाएगी। पहले इसकी जांच के लिए ब्लड सेंपल मुंबई या कोलकाता भेजना पड़ता था। इस सेंटर में मरीजों को यह जांच की सुविधा नि:शुल्क मिलेगी।

 

HIV Viral Load Testing

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि एचआईवी वायरल लोड टेस्टिंग (HIV Viral Load Testing ) सेंटर शुरू होने से अब एचआईवी (HIV) संक्रमितों के शरीर में वायरस (HIV Virus) की मात्रा का पता रायपुर में ही लगाया जा सकेगा। इससे उनका इलाज कर रहे डॉक्टरों को वर्तमान में ली जा रही दवाइयों का शरीर में कितना असर हो रहा है, इसकी भी जानकारी मिल पाएगी। इस मशीन के लगने से एचआईवी संक्रमितों के इलाज की बेहतर व्यवस्था और प्रभावी प्रबंधन हो सकेगा।

मंत्री सिंहदेव ने कहा कि डॉ. भीमराव अंबेडकर स्मृति चिकित्सालयमें राज्य की सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा सुविधाएं, उपकरण और डॉक्टर मौजूद हैं। इन सुविधाओं की जानकारी लोगों को होनी चाहिए और इसका लाभ उन्हें मिलना चाहिए। उन्होंने उम्मीद जताई कि रोटा वायरस (rotavirus) वैक्सीन से प्रदेश में बाल मृत्यु दर को कम करने में मदद मिलेगी। यदि हर बच्चे तक इस टीके की पांच-पांच बूंदे तीन बार पहुंचा सकें तो बाल मृत्यु दर में 50 फीसदी तक की कमी ला सकते हैं।

HIV Viral Load Testing

इस दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने बच्चों को रोटा वायरस वैक्सीन (rotavirus vaccine) भी पिलाया। छोटे बच्चों को डायरिया से बचाने अभी हाल ही में इस टीके को नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में शामिल किया गया है। कार्यक्रम में कांग्रेस विधायक सत्यनारायण शर्मा, विधायक कुलदीप जुनेजा और विधायक विकास उपाध्याय भी मौजूद थे।

एचआईवी वायरल लोड टेस्टिंग (HIV Viral Load Testing ) के फायदे
राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण संस्था ((NACO - National Aids Control Organization) ) की ओर से सभी राज्यों के लिए कुल 64 एचआईवी वायरल लोड टेस्टिंग मशीन दी गई है। इनमें से 24 मशीनों से एचआईवी (HIV) संक्रमितों को जांच की सुविधा मिल रही है। छत्तीसगढ़ में यह पहली और एकमात्र मशीन है जिससे एड्स पीड़ितों में एचआईवी संक्रमण की गंभीरता की मात्रात्मक जानकारी मिलेगी। प्रदेश में एचआईवी पीड़ितों के लिए नि:शुल्क सेवाओं और इलाज का दायरा बढ़ने के साथ ही उनकी जीवन प्रत्याशा बढ़ाने में वायरल लोड टेस्टिंग सेंटर से खासी मदद मिलेगी।

HIV से जुड़ी खबरें यहां पढ़िए

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर या Download करें patrika Hindi News App.

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned