एक्शन में गृहमंत्री, बोले- शाम को सड़कों पर दिखाई दे पुलिस

गृहमंत्री ने लगातार बढ़ रहे अपराधों पर पहली बार कड़े तेवर दिखाते हुए कहा कि नियमित रूप से रात्रिकालीन गश्त करें। उन्होंने सभी पांचों रेंज के आईजी और एसपी से जिलेवार अपराधों की समीक्षा की। इस दौरान सभी एसपी द्वारा जिलेवार अपराध नियंत्रण के लिए चलाए जा रहे अभियान और अपराधियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का ब्योरा दिया।

By: Karunakant Chaubey

Published: 22 Nov 2020, 10:59 PM IST

रायपुर. गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने रविवार को अपने निवासस्थल से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रदेश की कानून व्यवस्था की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने अफसरों पर जमकर नाराजगी जताते हुए कहा कि वह दफ्तर से बाहर निकलकर पुलिसिंग करें।

सड़कों पर उनकी उपस्थिति से कानून व्यवस्था की स्थिति सुधरेगी। इसके लिए पुलिस थानास्तर पर शाम 4 बजे से रात 10 बजे तक अलर्ट रहे। चौक-चौराहों में उनकी उपस्थिति मात्र से नागरिकों में सुरक्षा और अपराधियों में भय उत्पन्न होगा। गृहमंत्री ने लगातार बढ़ रहे अपराधों पर पहली बार कड़े तेवर दिखाते हुए कहा कि नियमित रूप से रात्रिकालीन गश्त करें।

उन्होंने सभी पांचों रेंज के आईजी और एसपी से जिलेवार अपराधों की समीक्षा की। इस दौरान सभी एसपी द्वारा जिलेवार अपराध नियंत्रण के लिए चलाए जा रहे अभियान और अपराधियों के खिलाफ की गई कार्रवाई का ब्योरा दिया। बैठक के दौरान प्रमुख रूप से संसदीय सचिव विकास उपाध्याय, अपर मुख्य सचिव गृह सुब्रत साहू, डीजीपी डीएम अवस्थी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

अफसरों से किया जवाब-तलब

राजधानी रायपुर में लगातार बढ़ रहे अपराधों पर एसपी और आईजी से जवाब तलब कर सवाल पूछे। बताया जाता है कि उनके निरुत्तर रहने पर कड़े शब्दों में निर्देश देते हुए कहा है कि गुंडा और हिस्ट्रीशीटरों की लिस्ट बनाकर कार्रवाई करें। इसी तरह जशपुर और बलरामपुर एसपी से मानव तस्करी, महिला विरोधी अपराधों में कार्रवाई के बाद भी इसके नियंत्रित नहीं होने को लेकर सवाल किया।

साथ ही कहा कि उन्हे बहाने नहीं परिणाम चाहिए। बस्तर स्थित कोंडागांव में नाबालिग से दुष्कर्म के प्रकरण में गृह मंत्री ने एसपी द्वारा विलंब से कार्रवाई करने की वजह पूछी। वहीं इस तरह के मामलों में त्वरित मामले को संज्ञान में लेते हुए कार्रवाई के निर्देश दिए।

उन्होंने दुर्ग आईजी विवेकानंद सिन्हा से बिन्देश्वरी गंधर्व, राजनांदगांव के शुभम मर्डर, कवर्धा में डॉक्टर दंपती हत्या गुत्थी नहीं सुलझाने पर जवाब-तलब किया। वहीं बिलासपुर आईजी दीपांशु काबरा भी गृह मंत्री के राडार में रहे। जुआ, सट्टा, शराब, कबाड़ और कोयला को लेकर सवाल किया। इन सभी पर काम करने के बाद यह रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा।

सुरक्षा का भावना जगाएं

गृह मंत्री ने डीजीपी से साफ शब्दों में कहा आम आदमी के मन में पुलिस के प्रति सम्मान हो और अपराधियों के मन में खौफ दिखाई देना चाहिए। उन्होंने कहा कि कार्रवाई के दौरान नागरिकों की परेशानी का ध्यान रखें।

ये भी पढ़ें: शरारती तत्वों ने बरामदे में रखी गाड़ियों में लगाई आग, मकान में सो रहे पति-पत्नी भी झुलसे

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned