गृहमंत्री ने की मुठभेड़ में घायल जवानों से मुलाकात, प्रशासन को उचित एवं सर्वोत्तम इलाज के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मार्मिक ट्वीट कर जवानों को श्रद्धांजलि दी।ट्वीट कर कहा, यह वक़्त बहुत नाजुक है, हम पर हमले दर हमले हैं, दुश्मन का दर्द यही तो है, हम हर हमले पर सम्भलें हैं। वीर जवानों की शहादत को नमन।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 22 Mar 2020, 05:55 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ के घोर नक्सल क्षेत्र सुकमा (Naxal Attack In Sukma) जिले की चिंतागुफा इलाके के कसालपाड़ और मिनपा के बीच शनिवार दोपहर नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में लापता 17 जवान शहीद हो गए। रविवार सुबह सभी जवानों के शव जंगल से बरामद किए गए हैं।सभी जवानों को फोर्स द्वारा सुकमा जिला मुख्यालय लाया जा रहा है।

नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 17 जवानों की शहादत पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, गृहमंत्री साहू, राज्यपाल अनुसुईया उइके, पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह ने गहरा शोक व्यक्त किया है।

राज्य के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने नक्सली मुठभेड़ में घायल 17 जवानों से मुलाकात करने रामकृष्ण हॉस्पिटल पहुचें थे, मंत्री साहू में कहा वहां घायल जवानों से मिला। घायल जवानों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करता हूं। प्रशासन को उचित एवं सर्वोत्तम इलाज के निर्देश दे दिए गए हैं।

गृहमंत्री ने की मुठभेड़ में घायल जवानों से मुलाकात, प्रशासन को उचित एवं सर्वोत्तम इलाज के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मार्मिक ट्वीट कर जवानों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा, यह वक़्त बहुत नाजुक है, हम पर हमले दर हमले हैं, दुश्मन का दर्द यही तो है, हम हर हमले पर सम्भलें हैं। वीर जवानों की शहादत को नमन।

एसआईबी एसपी डी रविशंकर ने बताया की ऑपरेशन के लिए डीआरजी एसटीएफ और सीआरपीएफ के कोबरा बटालियन के करीब 550 जवान निकले थे इस दौरान मुठभेड़ में नक्सली कैडर के चार शीर्ष हथियारधारी नक्सलियों को मार गिराया वही 5 गंभीर रूप से घायल है। इस दौरान 14 जवान घायल हुवे है। रात के समय पार्टी जंगल मे रुकी हुई थी।

इसमे से CRPF की कोबरा बटालियन वापिस लौट आई है। डीआरजी और एसटीएफ के जवान अभी भी जंगल में ऑपरेशन कर रहे हैं उन्हें कवर करने के लिए सुबह अतिरिक्त बल को भेजा गया है उनके लौटने के बाद ही यह स्पष्ट हो पाएगा की ऑपरेशन पर गई फोर्स को कितना नुकसान हुआ है।राज्य सरकार के निवेदन पर कल सुकमा में हुई घटना के बाद एयरपोर्ट को 12:40 तक खुला रखा गया।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned