जिले में कितने जिम, निगम और फूड अफसरों को नहीं पता

लाखों का सेटअप बनाया, लेकिन नहीं लिया लाइसेंस

रायपुर।पैसे कमाने की चाह में कारोबारियों ने लाखों रुपए की लागत से जिम तो खोल लिया, लेकिन ये कारोबारी जिम के संचालन में नियमों का पालन नहीं कर रहे है। कारोबारियों की इस मनमानी से नगर निगम और खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के अधिकारी परेशान हो रहे है।
रेकार्ड नहीं होने से अफसर जिम संचालकों पर सख्ती नहीं कर पा रहे, और इसका जिले में जिम जाने वाले य्युवाओं को भुगतना पड़ रहा है। युवकों को कर रहे गुमराहसलमान और जॉन जैसी बॉडी का शेप दिलवाने के नाम पर जिले के युवाओं को जिम संचालक गुमराह कर रहे है।
एक्सपर्ट की सलाह के बिना युवक स्टेरॉयडस व प्रोटीन की खुराक दी जा रही है। जिम संचालक स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की इजाजत के बिना दवा बेच रहे हैं। पांच जिम में दबिश, भेजा सैंपल बुधवार को खाद्य एवं औषधि प्रशासन के अधिकारियों के निर्देश पर जिले के ७ अधिकारियों ने राजधानी समेत तिल्दा नेवरा में जिम संचालकों के ठिकाने पर दबिश देने निकली। अफसरों ने ५ जिम में मिले स्टेरॉयडस, प्रोटीन और क्रेटीन का सैंपल जांच में लिया है। रायपुर में विभागीय अधिकारी केवल चौक-चौराहों में बनी जिम की जांच कर रहे है। शहर की गलियों में संचालित जिम की जानकारी अफसरों के पास नहीं है।

मामलें में नगर निगम कमिश्नर शिवआनंत तायल का कहना है कि जिम संचालकों की जानकारी जोनवार मांगी है। नियमानुसार जिम का संचालन नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
-----
सभी फील्ड अफसरों को जिम की जांच करने और स्टेरॉयडस, प्रोटीन और क्रेटीन का सैंपल जब्त कर उनकी जांच कराने का निर्देश दिया है। सैंपल हानिकारक होगा, तो संचालक के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
राजेश क्षत्री, सहायक खाद्य नियंत्रक, रायपुर।

mohit sengar
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned