अधिक रेट पर शराब बिकी तो नपेंगे अफसर,अप्रैल में सामने आये अवैध शराब के 947 मामले

अधिक रेट पर शराब बिकी तो नपेंगे अफसर,अप्रैल में सामने आये अवैध शराब के 947 मामले

Deepak Sahu | Publish: May, 07 2019 09:31:57 PM (IST) | Updated: May, 07 2019 09:31:58 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

राज्य भर की दुकानों में शराब बेचने का जिम्मा सुमित कंसल्टेंसी को दिया गया है। दुकानों के काउंटर में बैठे इस कंपनी के नुमाइंदे बेखौफ होकर अधिक दर पर शराब बेचते हैं। कंसल्टेंसी ने उन पर लगाम लगाने की कोई व्यवस्था नहीं की है।

रायपुर. अवैध शराब की बिक्री और अधिक कीमतों पर शराब की बिक्री के आरोपों से घिरे आबकारी विभाग सख्त हो गया है। आबकारी आयुक्त डॉ. कमलप्रीत सिंह ने मंगलवार को समीक्षा बैठक कर अफसरों को सख्त हिदायत दी है कि अधिक रेट पर शराब बिक्री की शिकायत आने पर तत्काल २४ घंटे के भीतर कार्रवाई करें। एेसा नहीं करने पर संबंधित अफसर के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

समीक्षा बैठक में अफसरों ने बताया कि पिछले माह अप्रैल में छापामार अभियान के तहत अवैध शराब के कारोबार के 947 प्रकरण दर्ज किए गए। इनमें आबकारी अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत 894 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। इनसे तीन हजार 632 लीटर अवैध शराब जप्त की गई। इसके अलावा शराब के अवैध कारोबार में संलिप्त पाए गए आठ वाहनों को भी जब्त कर लिया गया।

बैठक में आबकारी आयुक्त ने अधिकारियों को देशी-विदेशी मदिरा दुकानों की नियमित रूप से जांच करने और आकस्मिक निरीक्षण करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने शराब की गुणवत्ता का भी ध्यान रखने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने अधिकारियों को देशी-विदेशी मदिरा की दुकानों में सीसीटीवी कैमरे हमेशा चालू हालत में रखने के निर्देश दिए। बैठक में विभाग के विशेष सचिव एपी त्रिपाठी, अपर आयुक्त पीएल वर्मा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

कंसल्टेंट कंपनी बेलगाम

राज्य भर की दुकानों में शराब बेचने का जिम्मा सुमित कंसल्टेंसी को दिया गया है। दुकानों के काउंटर में बैठे इस कंपनी के नुमाइंदे बेखौफ होकर अधिक दर पर शराब बेचते हैं। कंसल्टेंसी ने उन पर लगाम लगाने की कोई व्यवस्था नहीं की है। जिन कर्मचारियों पर कथित तौर पर कार्रवाई की गई, बाद में उन्हें दूसरी शराब दुकानों में

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned