समय पर सोने और जागने के ये फायदे सुन लेंगे तो आज ही बना लेंगे अपना टाइमटेबल

बिजी लाइफस्टाइल के चलते आज हर व्यक्ति की सोने और जागने की दिनचर्या बुरी तरह से प्रभावित हो गई है। एक अच्छी नींद व्यक्ति के दिमाग को तरोताजा करने के लिए और शरीर के दूसरे अंगों को आराम देने के लिए बहुत जरूरी है। स्वस्थ रहने के लिए सिर्फ पर्याप्त नींद ही नहीं, बल्कि समय पर नींद लेना और सही समय पर उठना भी बेहद जरूरी है। आइए जानते हैं क्या हैं सोने और जागने के सही नियम और फायदे- नुकसान।

By: lalit sahu

Published: 19 Mar 2021, 09:49 PM IST

जल्दी उठने के फायदे
सुबह जल्दी उठने से अतिरिक्त ऊर्जा को प्राप्त किया जा सकता है, जो दिन भर ऊर्जावान बनाये रखने और खुशनुमा एहसास से भरने में सहायक है।
जल्दी उठने का एक बड़ा फायदा यह है, कि आपके पास समय काफी होता है, और दिनभर में ज्यादा से ज्यादा चीजें कर सकते हैं। आप खुद के लिए बेहतर समय निकाल सकते हैं।
सुबह जल्दी उठने से व्यक्ति फिट और मानसिक रूप से शांत और एकाग्र रहता है।
सुबह जल्दी उठकर ली गई धूप हड्डी व जोड़ों के दर्द में राहत देती है।
सुबह का वातावरण और ऑक्सीजन स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद माने जाते हैं।

एक शोध में पता चला है कि जो लोग देर तक सोते हैं, उनके व्यवहार में बदलाव आ जाता है। जो लोग स्वाभाविक तौर पर देर से उठते हैं, उनके मस्तिष्क में एक खास तत्व सबसे खराब स्थिति में होता है। विशेष रूप से दिमाग के उस हिस्से में, जहां से अवसाद और दुख के भाव पैदा होते हैं। इसी कारण देर से उठने वालों को अवसाद और तनाव अधिक होता है। साइंस जर्नल में प्रकाशित एक लेख के अनुसार, जो लोग देर तक सोते हैं, उनके व्यवहार में बदलाव तो आता ही है साथ ही उनके हार्मोन पर भी बुरा असर पड़ता है।

देर से सोकर उठने के नुकसान
देर से सोकर उठने से शरीर अपनी अनियमित दिनचर्या को झेलने के लिए तैयार नहीं होता और बहुत सी बीमारियों की चपेट में आ जाता है।
देर से सोकर उठने से व्यक्ति कोई वर्कआउट नहीं कर पाता है, जिसकी वजह से उसकी कैलोरी बर्न नहीं होती और व्यक्ति मोटापे का शिकार हो जाता है।
वजन अनियमित रूप से बढऩे लगता है।
हार्मोन असंतुलित होने लगते हैं।
दिमाग में एंडोर्फिन स्रावित नहीं होने से स्वभाव में चिड़चिड़ापन आ जाता है।
धीरे-धीरे डिप्रेशन घेर लेता है।
दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है ।
अधिक देर तक सोने से दिमाग पर भी असर पड़ता है और याददाश्त कमजोर होने लगती है।

अच्छी नींद के फायदे
पाचन तंत्र सुचारू रहता है।
शरीर का वजन संतुलित रहता है।
तन और मन खुशमिजाज रहते हैं।
एकाग्रता बढ़ती है।
मन चिंतामुक्त रहता है।
सिर दर्द से राहत मिलती है ।
रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
शरीर का वजन संतुलित रहता है और आप तरोताजा महसूस करते हैं।

नींद से जुड़े नियम
रात्रि के प्रथम प्रहर में सोना सबसे अच्छा माना गया है।
सोते समय व्यक्ति का सिर दक्षिण या पूर्व की दिशा में होना चाहिए।
शवासन में सोएं, करवट लेना हो तो अधिकतर दाईं करवट लें। बहुत आवश्यक हो तो ही बाईं करवट लेकर सोएं।
सोने के तीन से चार घंटे पहले भोजन कर लें।
सोने से पहले रोजाना पांच-दस मिनट का ध्यान करने सोना चाहिए।

सुबह उठने के नियम
व्यक्ति को हमेशा ब्रह्म मुहूर्त में जागना चाहिए। सूर्योदय से लगभग डेढ़ घंटे पूर्व का समय ब्रह्ममुहूर्त कहलाता है।
दक्षिण में पैर रखकर सोने से व्यक्ति की शारीरिक ऊर्जा का क्षय हो जाता है और वह जब सुबह उठता है तो थकान महसूस करता है, जबकि दक्षिण में सिर रखकर सोने से ऐसा कुछ नहीं होता।

lalit sahu Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned