scriptIGKV: Vice Chancellor Dr. Chandel took charge | IGKV: कुलपति डॉ. चंदेल ने संभाला प्रभार, बोले ऑफलाइन परीक्षा पर निर्णय सभी पक्षों से चर्चा के बाद | Patrika News

IGKV: कुलपति डॉ. चंदेल ने संभाला प्रभार, बोले ऑफलाइन परीक्षा पर निर्णय सभी पक्षों से चर्चा के बाद

कुलपति डॉ. गिरिश चंदेल (IGKV) ने पदभार संभालने के बाद पत्रिका से चर्चा की। पत्रिका से चर्चा के दौरान डॉ. चंदेल ने कहा कि विवि में आने वाले दिनों में बडा बदलाव देखने को मिला है। विवि में अब जो भी रिसर्च होगा, रिसर्च से पहले प्रोडक्ट की बाजार वैल्यू क्या है? उसे किस तरह से स्थापित किया जाएगा? उसे ध्यान में रखकर पहले स्टडी की जाएगी और फिर रिसर्च शुरू किया जाएगा।

रायपुर

Published: February 26, 2022 07:48:24 pm

रायपुर। इंदिरा गांधी कृषि विवि (IGKV) के नए कुलपति डॉ. गिरिश चंदेल ने 25 फरवरी शुक्रवार को पदभार ग्रहण किया। निवृत्तमान कुलपति डॉ. एसएस सेंगर ने उन्हें कार्यभार सौंपा। डॉ. चंदेल द्वारा पदभार ग्रहण किये जाने के अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव जीके निर्माम, संचालक अनुसंधान सेवाएं डॉ. पीएल चन्द्राकर सहित विश्वविद्यालय प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
igkv.jpg

परीक्षा पैटर्न का निर्णय सभी लोग मिलकर लेंगे


कुलपति डॉ. गिरिश चंदेल (IGKV) ने पदभार संभालने के बाद पत्रिका से चर्चा की। पत्रिका से चर्चा के दौरान डॉ. चंदेल ने कहा कि विवि में आने वाले दिनों में बडा बदलाव देखने को मिला है। विवि में अब जो भी रिसर्च होगा, रिसर्च से पहले प्रोडक्ट की बाजार वैल्यू क्या है? उसे किस तरह से स्थापित किया जाएगा? उसे ध्यान में रखकर पहले स्टडी की जाएगी और फिर रिसर्च शुरू किया जाएगा। विवि में विवाद का कारण बने परीक्षा मुद्दे पर भी खुलकर कुलपति डॉ. चंदेल बोले कि परीक्षा पैटर्न के विवाद का निपटारा करने के लिए सभी पक्षों से चर्चा करने के बाद निर्णय लेने की बात कही है। आपको बता दें कि पूर्व कुलपति डॉ. सेंगर ने ऑफलाइन इम्तिहान का निर्देश जारी किया था। छात्रों के विरोध के बाद परीक्षा ऑनलाइन तरीके से लेने का आश्वासन मौखिक रूप से दिया था। निर्देश जारी करने से पहले राज्यपाल उइके ने नया कुलपति डॉ. चंदेल को बनाया दिया। अब परीक्षा पैटर्न पर निर्णय कुलपति डॉ. चंदेल द्वारा लिया जाना है।

अभी पुरानी टीम पर जताया भरोसा


डॉ. चंदेल के कुलपति (IGKV) बनने के बाद विवि प्रबंधन में बदलाव होने का कयास लगाया जा रहा है। पत्रिका से चर्चा के दौरान उन्होंने स्पष्ट किया है कि वर्तमान में पदस्थ सभी लोगों से उनका अच्छ कॉर्डिनेशन है। पुरानी टीम के साथ अभी काम किया जाएगा और उनके अनुभव का फायदा विवि के हित के लिए उठाया जाएगा।
30 वर्षों का अनुभव डॉ. चंदेल को

विवि मीडिया प्रभारी द्वारा जारी जानकारी के अनुसार वर्तमान कुलपति डॉ. गिरीश चंदेल देश के प्रख्यात पौध प्रजनक और जैव प्रौद्योगिकी वैज्ञानिक हैं। वे छत्तीसगढ़ के सिमगा, हथबंद के ग्राम-कुकरा चुन्दा के मूल निवासी है। डॉ. चंदेल को कृषि शिक्षा, अनुसंधान और विस्तार प्रबंधन का 30 वर्षों का अनुभव है। डॉ. चंदेल ने धान की पांच किस्में विकसित की हैं। छत्तीसगढ़ बायो प्रमोशन सोसायटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के रूप में भारत सरकार और राज्य शासन की मदद से 30 करोड़ रूपये की लागत से स्थापित बायोपार्क एवं 13 करोड़ रूपये की लागत से निर्माणधीन बायोटेक इन्क्यूबेशन सेन्टर के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका रही है।
24 हजार धान प्रजाति का डीएनए और फिंगर प्रिंट कार्य में डॉ चंदेल ने महत्तवपूर्ण योगदान दिया है। डॉ चंदेल को राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय फेलोशिप व सम्मान प्राप्त है। डॉ चंदेल भारत सरकार के बायोटेक्नोलॉजी विभाग द्वारा गठित टास्क फोस्र एवं मानव संसाधन विकास टास्क फोर्स के सदस्य हैं। डॉ. चंदेल द्वारा अंतरराष्ट्रीय स्तर के 50 रिसर्च पेपर एवं 3 पुस्तकों के चैप्टर का प्रकाशन भी किया गया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

Texas School Firing : अमरीका फिर लहूलुहान, 18 वर्षीय युवक की अंधाधुंध फायरिंग में 14 छात्र और एक टीचर की मौतमहंगाई से जंग: रिकॉर्ड निर्यात से घबराई सरकार, गेहूं के बाद अब 1 जून से चीनी निर्यात भी प्रतिबंधितआंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबIPL 2022, Qualifier 1 RR vs GT: मिलर के तूफान में उड़ा राजस्थान, गुजरात ने पहले ही सीजन में फाइनल में बनाई जगहRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.