परिवहन विभाग के बैरियर की फर्जी पर्ची बनाकर अवैध वसूली का खेल, जांच के लिए पड़ोसी राज्यों से भी मांगी मदद

इस दौरान 1 सितंबर को महासंमुंद जिले के खम्हारपाली और राजनांदगांव के पाटेकोहरा चेकपोस्ट में 2 ट्रकों चालकों के पास फर्जी रसीदें बरामद हुई। इसमें 1000-1000 रुपए का चालान काटा गया है। इसमें बकायदा चेकपोस्ट की मुहर, जांच अधिकारी के हस्ताक्षर और रसीद क्रमांक का उल्लेख भी किया गया है। लेकिन परिवहन विभाग द्वारा इस तरह की रसीद ही नहीं छपवाई गई है।

By: Karunakant Chaubey

Published: 02 Sep 2020, 11:18 PM IST

रायपुर. परिवहन विभाग के बैरियरों के शुरू होते ही फर्जी रसीदों के जरिए अवैध वसूली करने वाला गिरोह सक्रिय हो गया है। वह ट्रक मालिकों और चालक-परिचालकों को फर्जी रसीदें बेच रहे है। यह देखने में बिल्कुल असली दिखाई देती है। इसे देखकर कोई भी चकमा खा सकता है। अगस्त महीने लगातार इस तरह की पर्ची ओडिशा स्थित खम्हारपाली चेकपोस्ट में मिली थी। इसकी शिकायत मिलने के बाद सभी चेकपोस्ट प्रभारियों और तैनात अमले को सभी रसीदों की सुक्ष्मता से जांच करने के निर्देश दिए गए थे।

इस दौरान 1 सितंबर को महासंमुंद जिले के खम्हारपाली और राजनांदगांव के पाटेकोहरा चेकपोस्ट में 2 ट्रकों चालकों के पास फर्जी रसीदें बरामद हुई। इसमें 1000-1000 रुपए का चालान काटा गया है। इसमें बकायदा चेकपोस्ट की मुहर, जांच अधिकारी के हस्ताक्षर और रसीद क्रमांक का उल्लेख भी किया गया है। लेकिन परिवहन विभाग द्वारा इस तरह की रसीद ही नहीं छपवाई गई है। वहीं हस्ताक्षर भी फर्जी मिले है। मामले की गंभीरता को देखते हुए परिवहन विभाग मुख्यालय ने सभी चेकपोस्ट को अलर्ट रहने का निर्देश दिए है। साथ ही इसकी शिकायत स्थानीय चिचोला चौकी और सिंघोड़ा थाना में कराई गई है।

ट्रक चालक और मालिक के खिलाफ एफआईआर

प्राथमिक जांच में ट्रक मालिक और चालक-परिचालक के आरोपी पाए जाने के बाद उनके खिलाफ धोखाधड़ी और जालसाजी का जुर्म दर्ज किया गया है। इसमें से एक मालवाहक क्रमांक एनजी01एई-1015 नागालैंड की पाटेकोहरा और दूसरी ओआर 15एस-8025 ओडिशा की खम्हारपाली में 1 सितंबर को पकडी़ गई। बताया जाता है कि पुलिस उनसे चालक-परिचालकों से पूछताछ कर ट्रक मालिकों को तलब किया है। ताकि फर्जी रसीदें छापने के बाद इसे खपाने वाले रैकेट तक पहुंचा जा सके।

दर्जनों फर्जी रसीदें खपाई

पकड़े गए ओडिसा के ट्रक चालक सोनू पासवान और नागालैंड स्थित कोहिमा निवासी गौतम भास्कर के पास करीब 10 रसीदे मिली है। इसे दिखाकर कई बार बैरियर में बिना जांच किए जाने की अनुमति दिए जाने की जानकारी मिली है। बताया जाता है कि इस खेले की जांच करने के लिए परिवहन विभाग के सभी बैरियरों को रसीदों का मिलान करने की हिदायत दी गई है।

सख्ती से जांच होगी

पिछले काफी समय से फर्जी रसीदें खपाए जाने की शिकायत मिल रही थी। इसे देखते सभी को सख्ती से जांच करने कहा गया है। इस दौरान जांच में पाटेकोहरा और खम्हारपाली में फर्जी रसीदों के साथ दो चालक और परिचालक पकड़े गए है।
-वेदव्रत सिरमौर, सहायक परिवहन आयुक्त

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned