scriptIllegal vendor active in station again as soon as passenger facility | यात्री सुविधा कमेटी के जाते ही फिर अवैध वेंडर स्टेशन में सक्रिय | Patrika News

यात्री सुविधा कमेटी के जाते ही फिर अवैध वेंडर स्टेशन में सक्रिय

रायपुर. रेलवे बोर्ड की यात्री सुविधा कमेटी रायपुर मॉडल रेलवे स्टेशन का जायजा लेकर निकली नहीं कि अवैध वेडिंग कराने वाले सक्रिय हो गए।

रायपुर

Published: April 23, 2022 12:35:12 pm

इन अवैध वेंडरों को दो दिनों पर काम पर आने से रोक दिया गया था, उन्हें रेलवे स्टेशन में शुक्रवार से फिर सक्रिय कर दिया गया है, जिनके माध्यम से प्लेटफार्म पर बैठे यात्रियों और ट्रेनों में खानपान सप्लाई कराकर करोबार चलाते हैं।
यात्री सुविधा कमेटी के जाते ही फिर अवैध वेंडर स्टेशन में सक्रिय
यात्री सुविधा कमेटी के जाते ही फिर अवैध वेंडर स्टेशन में सक्रिय
रेलवे से किसी ने 3 तो किसी ने 5 से 6 वेंडरों को रखने का लाइसेंस शुल्क जमा करअनुमति लिया हुआ है। लेकिन रखते हैं, 10, 15, 20 लोगों को, जिनके पास न तो ड्रेस होता है और न ही आईडी कार्ड। इसलिए ऐसे वेंडर खुलेआम यात्रियों को दोगुना कीमत पर खानपान बेचते हैं और पकड़े भी नहीं जाते हैं, क्योंकि उनकी पहचान यात्री नहीं कर पाते है, इसलिए नामजद शिकायत
करने में दिक्कत होती है। स्टेशन रायपुर में पिछले दो दिन से अवैध वेंडिंग का खेल बंद था। क्योंकि रेलवे बोर्ड की यात्री सुविधा कमेटी जांच करने आई थी। उसके जाते ही रेलवे कैंटीन से लेकर, फूड प्लाजा और स्टॉल क्रमांक बी 6 एवं सी 6 में अवैध वेंडर रखकर यात्रियों को खानपान सप्लाई का खेल शुरू कर दिया गया।
सुरक्षा बल की अनदेखी से यात्री सुरक्षा पर सवाल

रेलवे का सुरक्षा बल भी कोई ठोस रोक लगाने के बजाय सबकुछ जानते हुए भी अनदेखी करता है। इस मामले की शिकायत सुरक्षा आयुक्त तक पहुंचने पर शुक्रवार को उन्होंने मुख्यालय से स्पशेल टीम भेजकर अवैध वेंडरों की धर-पकड़कराने की कार्रवाई करवाई। सुरक्षा बल के स्टेशन पोस्ट में पकड़कर अवैध वेंडरों को लाया गया और उनसे पूछताछ की गई।
कोर्ट में मामला होने की जानकारी दी

रेलवे बोर्ड यात्री सुविधा कमेटी के पदाधिकारियों से छत्तीसगढ़ रेलवे कमीशन वेंडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष ऋषि उइके सहित अन्य सदस्यों ने मुलाकात कर अपनी समस्याएं बताई। स्टेशन में खानपान ठेकेदारों और रेलवे के बीच हुए एग्रीमेंट की कॉपी दिखाते हुए कहा कि इसमें वेंडरों को ईएसआई और ईपीएफ देने का प्रवधान है, परंतु उन्हें इस सुविधा से वंचित किया जा रहा है। मौके पर मौजूद सीनियर डीसीएम विपिन वैष्णव ने कमेटी के समक्ष पक्षा रखा कि स्टेशन के केटरिंग ठेकेदार का मामला न्यायालय में लंबित होने के कारण वेंडरो को लाभ नहीं मिल पा रहा है।
00000
अवैध वेंडरों के खिलाफ औचक रूप से कार्रवाई की जाती है। बगैर ड्रेस और आईडी के यात्रियों के बीच खानपान की सप्लाई कराना जुर्म है।

एमके मुखर्जी, पोस्ट प्रभारी रायपुर आरपीएफ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान को 42 गेंदों में 41 रनों की आवश्यकतापूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.