स्मार्ट कार्ड धारकों के लिए जरुरी खबर, पढ़े यह खबर वरना नहीं मिलेगा ये लाभ

अब स्मार्ट कार्ड धारकों को इलाज के दौरान अपना मोबाइल नम्बर भी देना अनिवार्य हो गया है.

रायपुर. स्मार्ट कार्ड उपयोग करने से पहले के लिए ये खबर पूरी पढ़े . अब स्मार्ट कार्ड धारकों को इलाज के दौरान अपना मोबाइल नम्बर भी देना अनिवार्य हो गया है. बीमा कंपनी ने सर्कुलर जारी कर यह जानकारी दी है. कंपनी के अनुसार इससे पारदर्शिता आएगी।

 

READ MORE: सुकमा नक्सली हमला: गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जताया शोक, बोले- नक्सलियों की कायराना करतूत

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (आरएसबीवाई) और मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना (एमएसबीवाई) के तहत स्मार्ट कार्ड से उपचार कराने वाले कार्डधारी को अपना मोबाइल नंबर भी ऑनलाइन लिखना होगा।

 

यह सर्कुलर मेडिएसिस्ट हेल्थ टीपीए प्राइवेट लिमिटेड द्वारा राज्य सरकार से अनुबंधित सभी नर्सिंग होम को जारी कर दिया गया है। मोबाइल नंबर मिलने के बाद नोडल एजेंसी आरएसबीवाई और टीपीए कंपनी मरीजों से संपर्क कर समस्याओं के संबंध में जानकारी जुटा सकेगी।

 

READ MORE: ब्रेकिंग ! मसाला उद्योग में छापा, 91 बोरियों में मिले इस सामान को देख दंग रह गए अफसर

अब तक उपचार के लिए पहुंचने वाले मरीजों को रजिस्ट्रेशन के दौरान नर्सिंग होम का नाम, यूआरएन नंबर, परिवार के मुखिया का नाम, मरीज का नाम, पंजीयन तिथि की अनिवार्यता थी, लेकिन अब नीचे मोबाइल नंबर का कॉलम जोड़ दिया गया है।

READ MORE: मुफ्त में इलाज के लिए बनवाना है स्मार्ट कार्ड तो पढ़ ले यह खबर, इस तारीख से यहां लगेगी कैंप

ये होगा फायदा

इससे नोडल एजेंसी सीधा मरीज या उसके परिजन से संपर्क कर पायेगी। सूत्रों की मने तो नर्सिंग होम संचालकों पर सीधे नजर रखने के उद्देश्य से एेसा किया जा रहा है। साथ ही मरीजों के उपचार में पारदर्शिता आएगी।

बीमा कंपनी द्वारा जो सर्कुलर जारी किया गया है, हम उसका स्वागत करते हैं। मरीजों के उपचार में जितनी अधिक पारदर्शिता हो उतना अच्छा है। कार्डधारी का मोबाइल नंबर रजिस्ट्रेशन के दौरान लिखा जा रहा है।
डॉ. राकेश गुप्ता, चेयरमैन, रायपुर हॉस्पिटल बोर्ड एसोसिएशन

 

 

 

 

 

 

 

 

चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned