scriptIncreasing demand for electricity and decreasing capacity made buyers | छत्तीसगढ़ : बिजली की बढ़ती मांग और घटती क्षमता ने बनाया खरीदार | Patrika News

छत्तीसगढ़ : बिजली की बढ़ती मांग और घटती क्षमता ने बनाया खरीदार

14 प्लांटों से बिजली खरीदी : पहली बार 5 हजार 300 मेगावाट तक तक मांग

रायपुर

Published: May 02, 2022 09:06:06 pm

रायपुर. प्रदेश में बिजली की बढ़ती मांग व संयंत्रों के बंद होने के साथ घटी उत्पादन क्षमता ने बिजली कंपनी को महंगी दर पर बिजली खरीदने के लिए विवश कर दिया है।
राज्य में अप्रैल में पहली बार बिजली की मांग 5 हजार 300 मेगावाट तक जा पहुंची है। इस वजह से सेंट्रल पूल व निजी संयंत्रों से बिजली खरीदनी पड़ रही। बिजली की बढ़ी मांग की वजह से उत्पादन और आपूर्ति में बड़ा अंतर आ गया है। जितना उत्पादन कंपनी कर रही, उतनी ही बिजली अब निजी संयंत्र से खरीदनी पड़ रही है। करीब तीन हजार मेगावाट उत्पादन क्षमता कंपनी के संयंत्रों की है। वर्तमान में 2 हजार 600 मेगावाट बिजली का ही उत्पादन हो रहा है। करीब इतनी ही बिजली अलग-अलग दर पर सरकार निजी कंपनियों से खरीद रही है। इसमें राहत बस इतना है कि एनटीपीसी, बाल्को, लैंको जैसे बड़े विद्युत उत्पादक कंपनियां अनुबंध के अनुसार लागत मूल्य पर बिजली आपूर्ति कर रही है।
कंपनी के संयंत्रों के खराब प्रदर्शन से ङ्क्षचता
बिजली संकट के दौर में विद्युत कंपनी को संयंत्रों के खराब प्रदर्शन से जूझना पड़ रहा है। बीते वित्तीय वर्ष 2020-21 में विद्युत उत्पादन कंपनी के संयंत्रों ने 20 हजार 295 मिलियन यूनिट उत्पादन के लक्ष्य पर 17 हजार 947.10 मिलियन यूनिट बिजली उत्पादन किया। केवल 500 मेगावाट क्षमता वाली डा श्यामा प्रसाद मुखर्जी ताप विद्युत संयंत्र ने ही बेहतर प्रदर्शन किया। यहां निर्धारित लक्ष्य 3 हजार 700 मिलियन यूनिट से अधिक 3 हजार 907.79 मिलियन यूनिट (एमयू) बिजली उत्पादन हुआ। 1 हजार 340 मेगावाट क्षमता वाली हसदेव ताप विद्युत संयंत्र कोरबा पश्चिम में लक्ष्य 9 हजार 315 एमयू की जगह 8 हजार 777.24 एमयू व 1 हजार मेगावाट क्षमता वाले मड़वा ताप विद्युत संयंत्र में सात हजार एमयू की जगह 4 हजार 853.52 एमयू ही बिजली उत्पादन हुआ। वहीं 120 मेगावाट के बांगो जल विद्युत संयंत्र ने 280 एमयू लक्ष्य को पार कर 408.55 एमयू बिजली उत्पादन किया।
8 से 12 रु. प्रति यूनिट की दर से खरीदी
इस साल एनटीपीसी ने भी लागत मूल्य बढऩे का हवाला देकर 3.90 रुपये प्रति यूनिट दर कर दिया है। बीते वर्ष 3.83 रुपये की दर पर बिङ्क्षलग की थी। आपातकालीन स्थिति में अन्य निजी कंपनियों से आठ से 12 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली खरीदने की मजबूरी सरकार के सामने खड़ी हो गई है। इस पर वितरण कंपनी का कहना है कि निजी संयंत्रों की बिजली उत्पादन लागत अधिक रहती है। इसकी वजह प्रदेश या सार्वजनिक उपक्रम के संयंत्रों को कोयले व पानी में मिलने वाली छूट है।
छत्तीसगढ़ : बिजली की बढ़ती मांग और घटती क्षमता ने बनाया खरीदार
छत्तीसगढ़ : बिजली की बढ़ती मांग और घटती क्षमता ने बनाया खरीदार
प्रदेश में बिजली की कमी नहीं है। प्रदेश में स्थापित 14 प्लांटों से बिजली कंपनी लेती है। हर कंपनी से अलग-अलग शुल्क में बिजली ली जाती है। एनटीपीसी का लारा संयत्र ने उत्पादन शुरु कर दिया है। आज से हम फिर सरप्लस हो जाएंगे।
हर्ष गौतम, एमडी, बिजली कंपनी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

17 जनवरी 2023 तक 4 राशियों पर रहेगी 'शनि' की कृपा दृष्टि, जानें क्या मिलेगा लाभज्योतिष अनुसार घर में इस यंत्र को लगाने से व्यापार-नौकरी में जबरदस्त तरक्की मिलने की है मान्यतासूर्य-मंगल बैक-टू-बैक बदलेंगे राशि, जानें किन राशि वालों की होगी चांदी ही चांदीससुराल को स्वर्ग बनाकर रखती हैं इन 3 नाम वाली लड़कियां, मां लक्ष्मी का मानी जाती हैं रूपबंद हो गए 1, 2, 5 और 10 रुपए के सिक्के, लोग परेशान, अब क्या करें'दिलजले' के लिए अजय देवगन नहीं ये थे पहली पसंद, एक्टर ने दाढ़ी कटवाने की शर्त पर छोड़ी थी फिल्ममेष से मीन तक ये 4 राशियां होती हैं सबसे भाग्यशाली, जानें इनके बारे में खास बातेंरत्न ज्योतिष: इस लग्न या राशि के लोगों के लिए वरदान साबित होता है मोती रत्न, चमक उठती है किस्मत

बड़ी खबरें

Assam Flood: असम में बारिश और बाढ़ से भीषण तबाही, स्टेशन डूबे, पानी के बहाव में ट्रेन तक पलटीराजस्थान BJP में सियासी रार तेज: वसुंधरा ने शायरी से साधा निशाना... जिन पत्थरों को हमने दी थीं धड़कनें, वो आज हम पर बरस...कांग्रेस के बाद अब 20 मई को जयपुर में भाजपा की राष्ट्रीय बैठक, ये रहा पूरा कार्यक्रमTRAI के सिल्वर जुबली प्रोग्राम में PM मोदी ने लॉन्च किया 5G टेस्ट बेड, बोले- इससे आएंगे सकारात्मक बदलावपूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिंदबरम के बेटे के घर पर CBI की रेड, कार्ति बोले- कितनी बार हुई छापेमारी, भूल चुका हूं गिनतीकुतुब मीनार और ताजमहल हिंदुओं को सौंपे भारत सरकार, कांग्रेस के एक नेता ने की है यह मांगकोर्ट में ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पेश होने में संशय, दूसरी ओर सुप्रीम कोर्ट में एक बजे सुनवाई, 11 बजे एडवोकेट कमिश्नर पहुंचेंगे जिला कोर्टपूनियां हत्याकांड में बड़ा अपडेट : चौथे दिन भी नहीं हुआ पोस्टमार्टम, शव उठाने को लेकर मृतक के भाई के घर पर चस्पा किया नोटिस
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.