प्रदेश के सभी विश्वविद्यालय में इन्क्यूबेशन सेंटर और उत्पादन केन्द्र बने: CM भूपेश बघेल

- बायोटेक एवं एग्री बिजनेस इन्क्यूबेशन केन्द्रों का वर्चुअल शुभारंभ
- युवाओं को मिलेगा तकनीकी मार्गदर्शन और वित्तीय सहायता

By: Ashish Gupta

Published: 23 Jan 2021, 09:02 PM IST

रायपुर. नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 125वीं जयंती पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने शनिवार को इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय के बायोटेक इन्क्यूबेशन सेन्टर एवं एग्री-बिजनेस इंक्यूबेशन एवं उत्पादन केन्द्र का वर्चुअल शुभारंभ किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने इन्क्यूबेशन सेंटर का नामकरण नेताजी के नाम पर करने की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों में इन्क्यूबेशन एवं उत्पादन केन्द्र प्रारंभ करने का आह्वान करते हुए कहा, गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ अभियान में उत्पादक युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। सभी शैक्षणिक संस्थाएं युवाओं में उद्यमशीलता का विकास करने की दिशा में काम करें। इन्क्यूबेशन सेंटर में युवाओं को अनुसंधान एवं शोध हेतु प्रयोगशाला की सुविधाएं, तकनीकी मार्गदर्शन, बिजनेस नेटवर्किंग के लिए मार्गदर्शन, वित्तीय और ऋण सहायता की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी।

चरित्र संदेह में प्रेमी ने प्रेमिका की गला रेतकर की हत्या फिर लिव इन रिलेशन में जन्मी मासूम को रेलवे ट्रैक पर फेंका

मुख्यमंत्री निवास कार्यालय में आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने 30 करोड़ रुपए की लागत से बन रहे बायोटेक इन्क्यूबेशन सेन्टर भवन का शिलान्यास और 2 करोड़ की लागत से नवनिर्मित एग्री-बिजनेस इंक्यूबेशन एवं उत्पादन केन्द्र का शुभारंभ किया। इस दौरान मंत्री अमरजीत भगत, मुख्यमंत्री के सलाहकार प्रदीप शर्मा, विनोद वर्मा, रुचिर गर्ग, राजेश तिवारी, राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष अजय सिंह, पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी, कृषि उत्पादन आयुक्त एवं सचिव डॉ. एम.गीता, विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. एसके पाटिल आदि मौजूद थे।

ऐसा है बायोटेक इन्क्यूबेशन सेंटर
पंचवर्षीय योजना दो चरण में पूरी होगी। प्रथम चरण में विश्वविद्यालय परिसर में बायोटेक इन्क्यूबेशन सेन्टर बनाया जा रहा है। केन्द्र का भवन 13.5 करोड़ में बनेगा। 16 करोड़ की लागत से अत्याधुनिक प्रयोगशाला, उपकरण सहित अन्य जरूरी सुविधाएं विकसित की जाएंगी। इस केन्द्र में 23 कम्पनियों को तीन वर्ष तक कार्यालय, प्रयोगशाला की सुविधा तकनीकी मार्गदशन और बिजनेस नेटवर्किंग की सुविधा व्यवसाय स्थापित करने के लिए दी जाएगी। वहीं एग्री बिजनेस इन्क्यूबेशन एवं उत्पादन केन्द्र में 94 युवा उद्यमियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। युवा उद्यमियों द्वारा इस सेंटर में प्रारंभ की गई 24 कम्पनियों के कार्यालय का भी मुख्यमंत्री ने शुभारंभ किया।

CGBSE Board Exam 2021: 10वीं-12वीं बोर्ड एग्जाम के लिए सेल्फ सेंटर रखेगा CGBSE

सुभाष चंद्र बोस ब्रेनस्टार्म सेंटर का भी लोकार्पण
मुख्यमंत्री ने राज्य योजना आयोग में युवा प्रोफेशनल्स के लिए विशेष रूप से विकसित सुविधाओं का वर्चुअल लोकार्पण किया। उन्होंने युवा प्रोफेशनल्स एवं विषय विशेषज्ञों के विचार मंथन के लिए आइडिया कैफे, गहन चिंतन के लिए सुभाष चंद्र बोस ब्रेनस्टार्म सेंटर और आंबेडकर लाइब्रेरी का लोकार्पण किया। साथ ही सभाकक्षों का नाम नेहरु हॉल एवं गांधी हॉल करने की घोषणा की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा, राज्य योजना आयोग थिंक टैक के रूप में काम कर रहा है।

Show More
Ashish Gupta Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned