फॉरेनर के मजाक को माना चैलेंज और बन गए पतंगबाजी के इंटरनेशनल स्टार

सिंगापुर, थाईलैंड, मलेशिया और यूके समेत 12 देशों में दिखा चुके हैं टैलेंट

ताबीर हुसैन @रायपुर. दुनिया में दो तरह के लोग होते हैं। एक वे जो औरों से प्रेरित होते हैं और दूसरे वे जो खुद से। अहमदाबाद के गोपाल पटेल खुद से मोटिवेट होकर पतंगबाजी की दुनिया में ध्रुव तारा बन चुके हैं। बचपन से वे पतंग के प्रति आकर्षित हुए। एक प्रतियोगिता में प्रतिद्वंद्वी के रूप में विदेशी ने यह कहते हुए मजाक उड़ाया था कि इंडियन बड़ी पतंग बना ही नहीं सकते। यह बात पटेल को काफी चुभी लेकिन उन्होंने इसे चुनौती माना और उसी दिन तय किया कि ऐसी पतंग बनाऊंगा कि हर कोई देखता रह जाएगा। इसके बाद पटेल ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। सिंगापुर, थाईलैंड, मलेशिया और यूके समेत 12 देशों में अपनी काबिलियत का लोहा मनवा चुके हैं। देश-दुनिया में काइट फेस्ट के कुल 45 अवॉर्ड हैं जिसमें से 17 पटेल के पास हैं।

मोदी कर चुके हैं पुरस्कृत
पीएम मोदी जब गुजरात के चीफ मिनिस्टर थे तब वहां एक प्रतियोगिता हुई थी। इसमें मोदी ने पटेल को पुरस्कृत करते हुए कहा था कि आप पतंग की मानिंद हमेशा ऊचाइयों में रहें।

फॉरेनर के मजाक को माना चैलेंज और बन गए पतंगबाजी के इंटरनेशनल स्टार

मेयर ढेबर ने शेयर किए किस्से

काइट डे पर शहर के विभिन्न स्थानों पर पतंगबाजी हुई। प्रमुख कार्यक्रम नगर निगम की ओर से गॉस मेमोरियल ग्राउंड में हुआ। यहां मेयर एजाज ढेबर, विधायक कुलदीप जुनेजा, एक्स मेयर किरणमयी नायक समेत कई लोग शामिल हुए। सभी ने जमकर पतंगबाजी की। पुराने दिनों को याद करते हुए पतंग लूटने के किस्से शेयर किए। सेंटर ऑफ अट्रेक्शन 12 देशों में पतंगबाजी का लोहा मनवा चुके गोपाल पटेल की काइट रही। वे अहमदाबाद से आए थे। उन्होंने सेव टाइगर थीम के अलावा कई विशालकय पतंगे उड़ाईं। मैदान में 80 से लेकर 100 फुट की पतंगे भी आसमान में नजर आईं। कार्यक्रम में आए यंगस्टर्स को पतंग और मांजा बांटा गया। साथ ही तिल के लड्डू भी वितरित किए गए। शहर में पहली बार लोगों ने करीब से दैत्याकार पतंगे देखी। युवाओं ने जमकर पतंगोत्सव का आनंद उठाया।

फॉरेनर के मजाक को माना चैलेंज और बन गए पतंगबाजी के इंटरनेशनल स्टार

वो काटा और काई पोचे का शोर

माहेश्वरी भवन डूंडा में पतंगबाजी का आयोजन किया गया। इस दौरान ढील दे, वो काटा और काई पोचे का शोर मचा था। बच्चों के साथ बड़े भी अपने बचपन में लौट गए थे। जिसमें दीपक डागा, सूरज प्रकाश राठी, शैलेन्द्र माहेश्वरी, मनोज डागा, ललित चांडक, प्रज्ञा राठी, श्रेया, अर्चना डागा, मीना करवा, चंद्रशेखर माहेश्वरी, आलोक तापडिय़ा आदि शामिल रहे।

फॉरेनर के मजाक को माना चैलेंज और बन गए पतंगबाजी के इंटरनेशनल स्टार
Narendra Modi
Tabir Hussain
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned