scriptInvest in this scheme get freedom from financial worries for old age | निवेश किजिये इस योजना में और पाइये बुढ़ापे के लिए होने वाली आर्थिक चिंता से मुक्ति | Patrika News

निवेश किजिये इस योजना में और पाइये बुढ़ापे के लिए होने वाली आर्थिक चिंता से मुक्ति

इस स्कीम में आपको एकमुश्त पैसे का निवेश करना होता है। हर साल 1 अप्रैल को इस स्कीम की समीक्षा की जाती है, जिसके हिसाब से इसके रिटर्न में फेरबदल किया जाता है। इसमें पेंशन तिमाही, मंथली, छमाही और सालाना आधार पर दी जाती है।

रायपुर

Published: May 27, 2022 07:18:32 pm

रायपुर. किसी भी माध्यम वर्गीय व्यक्ति के लिए यदि कोई सबसे चिंताजनक बात होती है तो वह है बुढ़ापे में आर्थिक सुरक्षा की चिंता। वृद्धावस्था में लोगों के पास रेगुलर इनकम का साधन खत्म हो जाता है। ऐसे में बचत और निवेश किए हुए पैसे ही काम आते हैं। ऐसे में नौकरी की शुरुआत से ही बुढ़ापे और रिटायरमेंट की छोटी-छोटी प्लानिंग करना शुरू कर देनी चाहिए। ऐसे में बाद में आपको किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा। अगर आप भी किसी तरह की पेंशन स्कीम खरीदने के बारे में सोच रहे हैं तो आप पी एम वंदना योजना में निवेश कर सकते हैं।

ff8faf99-26fa-4250-8de5-23349c31264e.jpg

क्या है पीएम वय वंदना योजना
अगर आप रिटायरमेंट के बाद पेंशन प्राप्त करना चाहते हैं तो प्रधानमंत्री वय वंदना योजना में निवेश कर सकते हैं। यह एक सरकारी पेंशन स्कीम है जिसमें निवेश करने पर आपको 1000 रुपये से लेकर 9,250 रुपये तक के पेंशन की सुविधा दी जाती है। इस स्कीम को भारत सरकार ने मई 2017 में शुरू किया था। इस स्कीम के तहत जमाकर्ता एकमुश्त पैसा देकर हर महीने पेंशन की सुविधा प्राप्त कर सकता है। इस स्कीम के तहत निवेशक को जमा पैसा के अनुसार 7.40 प्रतिशत ब्याज दर मिलता है। यह बैंक द्वारा दिए जाने वाली ब्याज दर से ज्यादा निवेशक को रिटर्न करता है।

कुल जमा पैसों पर मिलती है पेंशन की सुविधा
इस योजना की शुरुआत में निवेशक केवल 7.5 लाख रुपये तक निवेश कर सकते थें। लेकिन, बाद में इस सीमा को बढ़ाकर बाद में 15 लाख रुपये कर दिया गया है। अगर आप 1000 रुपये का मासिक पेंशन प्राप्त करने के लिए आपको 1.62 लाख रुपये निवेश करने होंगे। वहीं 9250 रुपये का पेंशन प्राप्त करने के लिए आपको 15 लाख रुपये जमा करने होंगे। इस स्कीम के लिए आप्लाई करने के लिए https://licindia.in/Products/Pension-Plans/Pradhan-Mantri-Vaya-Vandana-Yojana1 की वेबसाइट पर क्लिक करें। इस स्कीम में आप 31 मार्च, 2023 तक निवेश कर सकते हैं।

यह है पीएम वय वंदना योजना को सरेंडर करने का तरीका
अगर आप इस स्कीम को खरीदने के बाद संतुष्ट नहीं है तो ऐसी स्थिति में आप पॉलिसी को सरेंडर कर सकते हैं तथा इस स्कीम को 15 दिन के अंदर पॉलिसी को वापस कर सकता है। वहीं ऑनलाइन खरीदी हुई पॉलिसी 30 दिन के अंदर वापस की जा सकती है।

अगर पेंशन लेने वाला व्यक्ति 10 साल की पॉलिसी अवधि के दौरान भी जीवित रहता है तो उसे पेंशन की आखिरी किस्त के साथ में निवेश की गई राशि वापस मिल जाती है. वहीं, अगर पॉलिसीधारक की मृत्यु हो जाती है तो उसका सारा पैसा नॉमिनी को दे दिया जाता है।

इस स्कीम के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप 022-67819281 या 022-67819290 नंबर पर कॉल कर सकते हैं। इसके अलावा टोल फ्री नंबर- 1800-227-717 और ईमेल आईडी- [email protected] के जरिए भी स्कीम के बारे में जानकारी ले सकते हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मीन राशि में वक्री होंगे गुरु, इन राशियों पर धन वर्षा होने के रहेंगे आसारइन राशियों के लोग काफी जल्दी बनते हैं धनवान, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानभाग्यवान होती हैं इन नाम की लड़कियां, मां लक्ष्मी रहती हैं इन पर मेहरबानऊंची किस्मत वाली होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, करियर में खूब पाती हैं सफलताधन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीपनीर, चिकन और मटन से भी महंगी बिक रही प्रोटीन से भरपूर ये सब्जी, बढ़ाती है इम्यूनिटीweather update news..मौसम की भविष्यवाणी सटीक, कई जिलों में तूफानी हवा के साथ झमाझमस्कूल में 15 साल के लड़के से बनाए अननेचुरल संबंध, वीडियो भी बनाया

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: अब महाराष्ट्र के NCP-कांग्रेस विधायकों पर बीजेपी की नजर! सांसद नासिर हुसैन ने किया बड़ा दावाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में नई सरकार की कवायद हुई तेज, दिल्ली में आज देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हो सकती है मुलाकात1 जुलाई से महंगाई के नए कदम, जुलाई में भी जेब कटने का सिलसिला रहेगा जारी, हो रहे हैं 7 बड़े बदलावपीएम मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री को तोहफे में दिए खास बर्तन, जानिए जी-7 के दूसरे दोस्तों को क्या किया गिफ्ट?पटना हाईकोर्ट का बड़ा फैसला - 'अगर पीड़िता ने नहीं किया विरोध, तो इसका मतलब ये नहीं की रेप के लिए सहमति दी'Maharashtra Political Crisis: शिवसेना के दावे को एकनाथ शिंदे ने नकारा, बोले-अगर आपके संपर्क में विधायक हैं तो उनके नाम का करें खुलासाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र के सियासी संकट के बीच BJP की शिकायत पर एक्टिव हुए राज्यपाल, MVA सरकार के फैसलों की मांगी डिटेल्सGST Council की 47वीं बैठक चंडीगढ़ में शुरू, दिख सकता है भरपूर एक्शन: Petrol-Diesel को जीएसटी में लाने समेत कई अहम फैसलों पर नजर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.