दो हजार करोड़ की सिंचाई परियोजनाएं सीआईडीसी के जिम्मे

- बैठक में फैसला: सीएम ने दी सैद्धांतिक सहमति, जल्द काम शुरू करने के निर्देश .

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 13 Nov 2020, 10:02 PM IST

रायपुर . प्रदेश की 3 महत्वपूर्ण सिंचाई परियोजनाओं का जिम्मा सरकार ने सीआईडीसी को सौंपने का फैसला लिया है। 2,000 करोड़ रुपए की इन परियोजनाओं पर बीते दिनों मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपनी सैद्धांतिक सहमति दी थी। जिसके बाद गुरूवार को कृषि एवं जल संसाधन मंत्री रविन्द्र चौबे और वन एवं पर्यावरण मंत्री मोहम्मद अकबर की मौजूदगी में सीआईडीसी बोर्ड की बैठक में इसकी रूपरेखा पर विचार-मंथन किया गया। सरकार ने अहिरन-खारंग लिंक परियोजना, छपराटोला फीडर जलाशय और रेहर अटेम लिंक परियोजना काम जल्द से जल्द शुरू करने के निर्देश दिए।

बैठक में सरकार की तरफ से सीआईडीसी के अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि वे परियोजनाओं सर्वेक्षण एवं विस्तृत कार्ययोजना तैयार करने करें। इनकी विस्तृत कार्ययोजना (डीपीआर) तैयार कर पीएफआईसी को प्रस्तुत करने के भी निर्देश दिए। बैठक में उक्त तीनों सिंचाई परियोजनाओं के लिए वित्तीय स्वीकृति के संबंध में भी चर्चा की गई।

इस दौरान अपर मुख्य सचिव वित्त एवं जल संसाधन अमिताभ जैन, प्रमुख सचिव वन मनोज पिंगुआ, कृषि उत्पादन आयुक्त डॉ. एम. गीता, जल संसाधन विभाग के सचिव अविनाश चम्पावत, राजस्व सचिव रीता शांडिल्य, सीआईडीसी के प्रबंध संचालक अनिल राय, प्रमुख अभियंता जल संसाधन जयंत पवार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned