scriptIT Raid : 500 crore fraud detected in 50 place IT actions | IT Raid : 50 ठिकानों पर इनकम टैक्स की छापेमार कार्रवाई... 500 करोड़ की पकड़ाई गड़बड़ी, जांच जारी | Patrika News

IT Raid : 50 ठिकानों पर इनकम टैक्स की छापेमार कार्रवाई... 500 करोड़ की पकड़ाई गड़बड़ी, जांच जारी

locationरायपुरPublished: Dec 19, 2023 02:23:12 pm

Submitted by:

Kanakdurga jha

Income Tax Raid : आयकर विभाग को कारोबारियों के ठिकानों से तलाशी के दौरान 500 करोड़ रुपए से ज्यादा की गड़बड़ी पकड़ी गई है।

it_raid.jpg
income tax Raid : आयकर विभाग को कारोबारियों के ठिकानों से तलाशी के दौरान 500 करोड़ रुपए से ज्यादा की गड़बड़ी पकड़ी गई है। तलाशी के दौरान 11 करोड़ रुपए की ब्लैकमॅनी, 10 करोड़ से ज्यादा के निवेश एवं प्रापर्टी, 2 करोड़ की ज्वेलरी और 16 बैंक लॉकर मिले थे। इसमें से 10 करोड़ रुपए कैश पहले बरामद किया गया था। कारोबारियों और उनके परिजनों की 11 लॉकर की तलाशी लेने के बाद 5 को सील कर दिया गया है।जांच के दौरान टैक्स चोरी की गड़बड़ी मिलने के बाद इससे संबंधित दस्तावेजों को जब्त किया गया है।
यह भी पढ़ें

Naxal Attack : बीजापुर में नक्सल और जवानों के बीच मुठभेड़, सुरक्षाबलों पर BGL से हुआ हमला... दहशत में लोग



इसमें बोगस बिलिंग और लेनदेन की कच्ची रसीदें,इलेक्ट्रानिक साक्क्ष्य, स्टॉक रजिस्टर, निवेश और प्रापर्टी शामिल है। इन सभी को जब्त करने के बाद सोमवार को टीम वापिस लौटी। इनका वेरिफिकेशन कर कारोबारियों से आईटी दफ्तर में सभी बयान दर्ज किया जाएगा। इस दौरान दस्तावेजी साक्क्ष्य पेश करने पर उनका मिलान कर टैक्स चोरी का निर्धारण होगा। बता दें कि आयकर विभाग छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र की 350 सदस्यीय टीम ने 14 दिसंबर को रायपुर स्थित दाल, अनाज और कोल्ड स्टोरेज संचालकों के 50 ठिकाने पर छापामारा था।
यह भी पढ़ें

CG Polics Bharti : पुलिस विभाग में 6000 पदों पर निकली भर्ती, 12वीं पास भी कर सकते है अप्लाई, देखें डिटेल्स



5 साल के रेकॉर्ड की जांचआयकर विभाग की टीम कारोबारियों के टर्नओवर और पिछले 5 साल में जमा किए गए रिटर्न की जांच करेगी। साथ ही लेनदेन आय-व्यय और बैलेंस शीट की जांच होगी। बताया जाता है कि कारोबारियों द्वारा पिछले 5 साल से लगातार नुकसान बताकर टैक्स की चोरी की जा रही थी।
जबकि उनका कारोबार में इजाफा हुआ था। दाल और अनाज ब्रोकर( कारोबारी) कमीशन एजेंट का काम भी कर रहे थे। लेकिन, इससे अर्जित होने वाली आय को छिपाकर रखा गया है। लैपटॉप, कम्प्यूटर में कच्चे का हिसाब रखने के बाद इसे डिलीट कर दिया गया था। इसे अहमदाबाद से बुलवाए गए एक्सपर्ट की टीम द्वारा रिकवर किया गया है।

ट्रेंडिंग वीडियो