भगवान जगन्नाथ के लिए सीएम लगाएंगे सड़कों पर झाड़ू, इन रास्तों से होकर गुजरेगी रथयात्रा

Deepak Sahu

Publish: Jul, 14 2018 11:14:47 AM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 11:16:11 AM (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
भगवान जगन्नाथ के लिए सीएम लगाएंगे सड़कों पर झाड़ू, इन रास्तों से होकर गुजरेगी रथयात्रा

महाप्रभु अपने भाई, बहन के साथ रथ पर विराजमान होकर भक्तों को दर्शन देनें के लिए निकलेंगे

रायपुर. भगवान जगन्नाथ स्वामी स्वस्थ हो गए हैं। 15 दिनों बाद शुक्रवार को जगन्नाथ स्वामी मंदिर शंख ध्वनि से गुंजित हुए। वैदिक मंत्रोच्चार के बीच पुरोहितों ने भगवान का आकर्षण अभिषेक, पूजन और आरती कर नेत्र उत्सव पर्व मनाया, जिसमें मंदिरो में आसपास के श्रद्धालु बड़ी संख्या में शामिल हुए। शनिवार को महाप्रभु अपने भाई, बहन के साथ रथ पर विराजमान होकर भक्तों को दर्शन देनें के लिए निकलेंगे। इस दौरान रजधानी में पुरीधाम के तर्ज पर रथयात्रा का उत्सव कई जगहों पर होगा।

सीएम सहित अनेक नेता होंगे शामिल
गायत्रीनगर जगन्नथ मंदिर सेवा समितिके अध्यक्ष पुरंदर मिश्रा ने बताया कि रथयात्रा उत्सव में सीएम डॉ. रमन सिंह सहित अनेक मंत्री, विधायक और नेता शामिल होंगे। सुबह ११ बजे से पुजन शुरू होगा। दोपहर ११ बजे भगवान को रथ पर विराजमान किया जाएगा। इस दौरान राजा के रूप में मुख्यमंत्री सोने की झाडू से भगवान के रास्ते में झाडू लगाकर छेहरा पहरा की सस्म करेंगे। नौ दिन तक भगवान अपनी मौसी गुंडिचा के घर में रहेंगे।

जयस्तंभ चौक से नही गुजरेगी यात्रा
भगवान जगन्नाथ की रथयात्रा इस बार जयस्तंभ चौक से नही गुजरेगी। रथयात्रा जगन्नाथ मंदिर गायत्री नगर, जगन्नाथ मंदिर, जगन्नाथ मंदिर सदर बाजार, जगन्नाथ मंदिर लिली चौक पुरानी बस्ती, जगन्नाथ मंदिर टूरी हटरी पुरानी बस्ती, श्री राधाकृष्णा जगन्नाथ मंदिर गिरी चौक बढ़ईपारा, मोतीबाग चौक, श्रीजगन्नाथमंदिर सिद्धार्थ चौक, मंगलबाजार से रथयात्रा, अश्विनी नगर से गुजरेगी।

15 दिनों बाद शंखध्वनि से गुंजे मंदिर
पिछले 15 दिनों से भगवान जगन्नाथ के बिमार होने के कारण उनके मंदिर के पट बंद थे। इतने दिनों तक भगवान जगन्नाथ को स्वस्थ करने के लिए पुजारी उन्हे जड़ी- बुटी के रस का भोग लगा रहे थे। इसके बाद कल भगवान स्वस्थ हुए और कल धूमधाम से उनका नेत्रउत्सव मना उन्हे गर्भगृह में बिठाया। आज १५ दिनों बाद मंदिर में शंखनाद होगा।

हेगी चाक-चौबंध व्यवस्था
रथयात्रा पर्व को लेकर पुलिस प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। सूत्रों की मानें तो रथयात्रा पर्व में शहर के चौक-चौराहों और गली-मोहल्लो में करीब 300 पुलिस जवानों की ड्यूटी लगाई जाएगी। सिविल ड्रेस में भी पुलिस के जवान असामाजिक तत्वों पर नजर रखेंगी। इसके अलावा ड्रोन से लोगों पर नजर रखा जाएगा।

Ad Block is Banned