दो बार थर्मल स्क्रीनिंग के बाद परीक्षा हॉल पहुंचेंगे अभ्यर्थी, विरोध किया तो बाहर

- जेईई- नीट परीक्षा: बुखार या कोरोना के लक्षण होने पर आइसोलेशन रूम में बैठकर देंगे परीक्षा।
- सेंटरों में सुरक्षा के लिए पुलिस होगी तैनात।
- थर्मल स्क्रीनिंग के लिए स्वास्थ्य विभाग से मदद लेंगे सेंटर संचालक।

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 30 Aug 2020, 07:49 PM IST

रायपुर। जेईई और एनईईटी (नीट) की परीक्षा देने के लिए सेंटर पहुंचने वाले अभ्यर्थियों की 2 लेयर में थर्मल स्क्रीनिंग होगी। मुख्यद्वार में जांच के बाद अभ्यर्थियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए रजिस्ट्रेशन रूम तक पहुंचना होगा। वहां जांच होने के बाद परीक्षा हॉल में एंट्री मिलेगी। जांच में तापमान निर्धारित गाइड लाइन से ज्यादा होगा, तो परीक्षार्थियों को आइसोलेशन रूम में बिठाकर परीक्षा ली जाएगी।

नोडल अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार अभ्यर्थियों को लेकर सेंटर पहुंचे अभिभावकों के लिए बैठने की व्यवस्था होगी। परिसर में मास्क पहनना और अपने साथ सेनिटाइजर रखना जरूरी होगा। जो अभ्यर्थी मास्क और सेनिटाजइर नहीं लाएगा, उन्हें यह सुविधा परीक्षा केन्द्र प्रबंधन को उपलब्ध करानी होगी।

गौरतलब है कि रायपुर जिले में जेईई परीक्षा के लिए 1 सेंटर और नीट के लिए 35 सेंटर बनाए गए हैं। इन सेंटरों में कोविड गाइड लाइन और लॉ एंड आर्डर की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की है। जेईई का सेंटर सरोना स्थित आईओएन डिजिटल जोन बनाया गया है। नीट के लिए जिन 35 सेंटरों को बनाया गया है। उनका नाम नोडल द्वारा अभी सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है।

12 हजार अभ्यर्थियों के हिसाब से तैयारी
जिला प्रशासन के परीक्षा विभाग और नोडलों से मिली जानकारी के अनुसार जेईई और नीट परीक्षा में करीब 12 हजार अभ्यर्थी शामिल होंगे। इनमें जेईई के लिए लगभग 2 हजार और नीट के 10 हजार अभ्यर्थी है। इतने अभ्यर्थियों की संख्या के हिसाब से सेंटरों में तैयारी की गई है। गौरतलब है कि जेईई परीक्षा 1 सितंबर से 6 सितंबर तक और नीट की परीक्षा 13 सितंबर को होगी। इन परीक्षाओं के मद्देनजर सेंटरों को तैयार करने का निर्देश संचालकों को मिला है।

1 सितंबर से 6 सितंबर के बीच जेईई का एग्जाम होगा। हमारे सेंटर में एक बार में 1 हजार 64 अभ्यर्थी बैठ सकते है। कोविड के मद्देनजर 1 से 6 सितंबर के बीच 400 अभ्यर्थियों के बैठने की व्यवस्था की जा रही है। 31 अगस्त तक अभ्यर्थियों की जानकारी हमारे पास पहुंचेगी, जिसके बाद बैठने की व्यवस्थाओं को लेकर बदलाव किया जाएगा।

दीक्षा राणा, व्यवस्था प्रभारी ,आईओएन, डिजिटल जोन

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned