scriptjekarman ke stta he wokar samarthakman la kuchu bhi bole ke hak he ka | का ‘चुप रहे म भलई हे’ के जमाना आ गे हे? | Patrika News

का ‘चुप रहे म भलई हे’ के जमाना आ गे हे?

काकर-काकर मुंह ल बंद करबे। बहुमत के जमाना हे। चारझन मिलके कहिं दिही के महंगई नइये, सबके बने दिन आ गे हे, त वो गरीब ल मानेच ल परही। नइ माने के वोकर करा अउ कोनो चारा नइये। जादा बोल दिही त वोला देसदरोही घलो कहि सकत हें। अइसे चिचियाहीं के वोला अपराधी बता दे जाही।

रायपुर

Updated: September 12, 2022 04:28:29 pm

‘सखी सइंया तो खूब ही कमात हे, महंगाई डायन खाये जात हे।’ जेन ल देखबे तन ह महंगई को रोना-रोवत हें। फेर, का मजाल हे सरकार चलइयामन के कान न जुआं रेंग जाए। मनमाने बाढ़त महंगई के समरथन करइया घलो एक ले सेक हें। कहिथें ना ‘सावन के अंधरा ल चारों कोति हरियर-हरियर दिखथे।’ जेकर पेट भरे हे वोला कइसे भूखन मरत लोगन के पीरा समझ म आही। जेकर खिंसा, तिजोरी भरे हे। जन्मजात ददा-बबा, पुरखा के धन-दौलत, जमीन-जायदाद मिले हे। बडक़ा धंधा-पानी हे, नौकरी-चाकरी हे, तेमन ल महंगई के आंच ह कइसे जनाही। ऐमन सब ल छोड़छाड़ के गरीबमन कस रहि के देखंय। चारेच दिन म तेल-नून के भाव पता चल जही। एक जुवर खाय के जुगाड़ करे म वोमन ल अपन ममा दाई के सुरता आ जही।
मितान! काकर-काकर मुंह ल बंद करबे। बहुमत के जमाना हे। चारझन मिलके कहिं दिही के महंगई नइये, सबके बने दिन आ गे हे, त वो गरीब ल मानेच ल परही। नइ माने के वोकर करा अउ कोनो चारा नइये। जादा बोल दिही त वोला देसदरोही घलो कहि सकत हें। अइसे चिचियाहीं के वोला बडक़ा अपराधी बता दे जाही। जेल घलो भेजवा सकत हें। माफी मंगवा सकत हें।
सिरतोन! गरीबमन बर महंगई ह कोनो नवा दुलहिन थोरे हे कि पहिली पइत वोकर मुंह देखत हें। महंगई ह तो गरीबमन ल दुलहिन के संग दहेज म मिलथे, कस किस्सा हे। तब के जमाना म तब जइसे महंगई रिहिस अउ अब के जमाना म अब जइसे महंगई हे। महंगई के संग-संग सिरिफ चेहरा-मोहरा बदले हे, वोकर रंग-ढंग वइसने हे। फेर, ए पइत अंधेरच होगे हे। ऊपर ले महंगई ल बने कहइया घलो पइदा होगे हें। याने ‘मार घलो खा अउ चुप घलो रह।’
मितान! लागथे, जेकरमन के हाथ म सत्ता हे, वोकर समरथकमन ल कुछु भी बोले, कहे के लाइसेंस मिले गे हे। काली जेन बात ल वोमन गलत काहंय, आज उही बात ल सहीं बतावत हें। का सत्ता म बइठे ले गलत बात ह सही हो जथे? का सत्ता के निसा अइसने होथे?
सिरतोन! कतकोन महंगई बाढ़ गे हे, तभो ले लोगनमन कोनो जिनिस ल बिसाय बर नइ छोड़त हें। बजार म भीड़ नइ कमतियाय हे। गिराहिक बादर ले थोरे टपकथे, हमरेमन के बीच ले ही निकल के आथें। त फेर अइसन म महंगई कइसे कमतियाही?
जब महंगई के सेती गरीबमन खाय-पीये बर छोड़ दिहीं त वोकरमन के मरना खच्चित हे। तेकर सेती वोमन मजबूरी म महंगई के बीच म घलो मर-मर के जिये बर सीख जथें। फेर, वोकरमन के वोट ले बने ‘सरकार’ ल कुछु फरक नइ परय, त अउ का-कहिबे।
का ‘चुप रहे म भलई हे’ के जमाना आ गे हे?
का ‘चुप रहे म भलई हे’ के जमाना आ गे हे?

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

गाय को टक्कर मारने से फिर टूटी वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन की बॉडी, दो दिन में दूसरी ऐसी घटनाभैंस की टक्कर से डैमेज हुई वंदे भारत ट्रेन, मजबूती पर सवाल उठे तो सामने आया रेलवे मंत्री का जवाबगाज़ियाबाद में दिन-दहाड़े डकैती, कारोबारी की पत्नी-बेटी को बंधक बनाकर 17 लाख के ज़ेवर और 7 लाख रुपए नकद लूटेउत्तरकाशी हिमस्खलन में बरामद किए गए 7 और शव, मृतकों की संख्या बढ़कर 26 हुई, 3 की तलाश जारीNobel Prize 2022: ह्यूमन राइट एक्टिविस्ट एलेस बियालियात्स्की समेत रूस और यूक्रेन की दो संस्थाओं को मिला नोबेल पीस प्राइजयुद्ध का अखाड़ा बनी ट्रेन! सीट को लेकर भिड़ गईं महिलाएं, जमकर चले लात-घूसे, देखें वीडियोलद्दाख में लैंडस्लाइड की चपेट में आए 3 सैन्य वाहन, 6 जवानों की मौतउत्तर से दक्षिण भारत तक बारिश का अलर्ट, कर्नाटक के विभिन्न हिस्सों में बारिश जारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.