झारखंड का ये गैंग ऐसे करता है ATM फ्रॉड, पूरा मामला जानकार उड़ जाएंगे होश

सूत्रों के मुताबिक ये सभी फर्जी कॉल्स झारखंड से आने की बात सामने आई है।

By: चंदू निर्मलकर

Published: 24 Jul 2018, 05:45 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ सहित अन्य बड़े राज्यों में एटीएम फ्राड करने की वरादात को झारखंड के एक छोटे से गांव के युवा अंजाम दे रहे हैं। आपको जानकार हैरानी होगी कि इस गांव में साइबर क्राइम की पूरी ट्रेनिंग दी जाती है। इधर छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव में एटीएम फ्राड जैसे क्राईम में सायबर अपराधियों कर ठगी करने के लगातार मामले सामने आ रहे हैं।

आरोपियों खुद को स्वयं को बैंक अधिकारी बताते हुए लोगों को फोन करके उनके एटीएम कार्ड की संपूर्ण जानकारी जैसे एटीएम कार्ड नंबर, सीवीवी नंबर एवं वन टाईम पासवर्ड लेकर हाईटेक तरीके से एकाउंट से पैसे निकाल लिया जाता है। ऐसे मामले में लोग जागरुक होकर ठगी से बच सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक ये सभी फर्जी कॉल्स झारखंड से आने की बात सामने आई है।

अपराध की इसी पैटन के झांसे में आकर अपनी जमा पूंजी गवाने वाले प्रार्थियों की शिकायत पर सायबर सेल टीम द्वारा तत्काल बिना किसी कानूनी दांवपेंच, बिना प्रथम सूचना दर्ज किए एवं बिना बैंक के सहयोग से पिछले 1 वर्ष में लोगों के 7 लाख से अधिक की राशि वापस कराया गया।

इन थाना क्षेत्र के मामले में वापस दिलाया रकम
सायबर सेल टीम द्वारा थाना कोतवाली क्षेत्रांतर्गत 256640 रूपए, थाना डोगरगांव क्षेत्रान्तर्गत 105982 रूपए, थाना बसंतपुर क्षेत्रांतर्गत 64869, चौकी चिखली क्षेत्रांतर्गत 36088, थाना डोंगरगढ़ क्षेत्रांतर्गत 69555 रूपए, थाना गंड़ई क्षेत्रांतर्गत 68987 रूपए, थाना गैदाटोला क्षेत्रांतर्गत 19363 रूपए, थाना खैरागढ़ क्षेत्रांतर्गत 32876 रूपए, थाना लालबाग क्षेत्रांतर्गत 24298 रूपए, थाना सोमनी क्षेत्रांतर्गत 15218 रूपए वापस कराया गया। इस प्रकार कुल 29 लोगों का पिछले 1 वर्ष में 7 लाख रूपये से अधिक की राशि वापस कराया गया है।

झारखंड से करते हैं फ्राड
एटीएम फ्राड़ के ऐसे मामले में सायबर टीम द्वारा पेमेंट गेटवे का पता लगा कर संबंधित कंपनी को अपराधी का ई-वैलेट को ब्लॉक एवं पैसे रिफंड किए जाने तत्काल ई-मेल एवं फोन के माध्यम से संपर्क किया जाता है ताकि प्रार्थी के डूबे हुए पैसे वापस मिल सके। एटीएम फ्राड जैसे अपराध झारखंड के जामताड़ा, देवघर, गिरीडीह में बैठे अपराधियों द्वारा बड़ी चतुराई के साथ फोन के माध्यम से स्वयं को बैंक अधिकारी बताते हुये एटीएम की जानकारी लेकर लोगों के एकाउंट कुल पल में ही खाली कर देते हैं।

Show More
चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned