99 दिन बाद पर्यटकों के लिए खुलेगा जंगल सफारी, गर्भवती महिला, बुजुर्ग और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को नहीं मिलेगी एंट्री

कोरोना संक्रमण काल के मद्देनजर जंगल सफारी प्रबंधन ने इन लोगों की एंंट्री पर बैन लगा रखा है। सफारी परिसर में एंट्री देने से पहले पर्यटकों को सेनिटाइज किया जाएगा। नियम तोडऩे वाले पर्यटकों पर नियमानुसार कार्रवाई करने के निर्देश अधीनस्थ अधिकारियों को प्रबंधन ने दिया है।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 29 Jun 2020, 11:37 PM IST

रायपुर. राज्य सरकार के निर्देश के बाद अटल नगर स्थित जंगल सफारी परिसर पर्यटकों के लिए ९९ दिन बाद १ जुलाई को खोला जाएगा। 99 दिन बाद भी जंगल सफारी खुलने पर गर्भवती महिला, बुजुर्ग और १० वर्ष से कम उम्र के बच्चे परिसर में नहीं जा सकेंगे। कोरोना संक्रमण काल के मद्देनजर जंगल सफारी प्रबंधन ने इन लोगों की एंंट्री पर बैन लगा रखा है। सफारी परिसर में एंट्री देने से पहले पर्यटकों को सेनिटाइज किया जाएगा। नियम तोडऩे वाले पर्यटकों पर नियमानुसार कार्रवाई करने के निर्देश अधीनस्थ अधिकारियों को प्रबंधन ने दिया है।

पर्यटकों को इस गाइड लाइन का करना होगा पालन

जंगल सफारी प्रबंधन की मानें तो सफारी परिसर में एंट्री करने से पहले पर्यटकों को मास्क लगाना अनिवार्य होगा। थर्मल स्क्रीनिंग और हाथ को सेनिटाइज करने के बाद ही सफारी परिसर और जू में पर्यटकों को एंंट्री मिलेगी। जंगल सफारी परिसर में घूमते समय पर्यटकों को सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखना होगा। सफारी परिसर में एंट्री करने से पहले पर्यटक को अपना नाम, पता और फोन नंबर वहां मौजूद रजिस्टर में दर्ज कराना होगा। परिसर में किसी भी वस्तु को छूने और थूकने में मनाही है। कोरोना संक्रमण काल के मद्देनजर एसी बसों का संचालन सफारी परिसर में नहीं किया जाएगा। 24 सीटर बसों में केवल 12 पर्यटकों को बैठने की इजाजत होगी।

कैमरों से होगी निगरानी

सफारी परिसर में पर्यटकों की कार्यप्रणाली की मॉनीटरिंग करने के लिए सफारी प्रबंधन द्वारा सीसीटीवी कैमरों का सहारा लिया जाएगा। जो परिसर नियमों का उल्लंघन करेगा, कैमरे से मिले साक्ष्य के आधार पर उसके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

कोरोना संक्रमण काल के मद्देनजर पर्यटकों के हित के लिए गाइड लाइन जारी की गई है। सफारी पहुंचने वाले पर्यटकों को इस गाइड लाइन का पालन करना पड़ेगा। नियम तोडऩे वाले और कर्मचारियों से अभद्रता करने वालों पर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

-एम.मर्सीबेला, डिप्टी डायरेक्टर
जंगल सफारी

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned