केशकाल गैंगरेप मामले में SIT गठित, 3 आरोपियों से पूछताछ जारी

Keshkal gang rape: - घटना के दो दिन बाद पीड़ित युवती ने फांसी (girl suicide) लगाकर खुदकुशी कर ली, लेकिन वारदात के 2 महीने बीतने के बाद भी पुलिस ने कोई केस दर्ज नहीं किया था।

By: Bhupesh Tripathi

Updated: 08 Oct 2020, 04:06 PM IST

रायपुर। छत्तीसगढ़ के केशकाल विधानसभा क्षेत्र के धनोरा थाना अंतर्गत दो महीने पहले हुई गैंगरेप (Keshkal gang rape) की वारदात तूल पकड़ती जा रही है। आरोप है कि यहां 7 लोगों ने आदिवासी युवती को पहले शादी वाले घर से किडनैप किया, फिर उसके साथ गैंगरेप किया। घटना के दो दिन बाद पीड़ित युवती ने फांसी लगाकर (Girl suicide after gang rape) खुदकुशी कर ली, लेकिन वारदात के 2 महीने बीतने के बाद भी पुलिस ने कोई केस दर्ज नहीं किया था।

इधर 4 अक्टूबर को घटना से आहत पीड़िता के पिता ने कीटनाशक पीकर खुदकुशी करने की कोशिश की, हालांकि परिजनों के समय रहते अस्पताल पहुंचा देने के कारण उनकी जान बच गई, लेकिन ठीक दूसरे दिन 5 अक्टूबर को युवती के पिता ग्लूकोज की बोतल समेत अस्पताल में बिना किसी को जानकारी दिए वहां से चले गए। जिसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ।

अब केस में जांच के लिए विशेष अनुसंधान टीम का गठन किया गया है। वहीं 3 लोगों को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है। वारदात (Keshkal gang rape) की गंभीरता को देखते हुए ASP के नेतृत्व में 5 सदस्यीय विशेष अनुसंधान टीम गठित की गई है।

सहेली ने किया घटना का खुलासा
मृतका की सहेली के अनुसार 2 महीने पहले मृतका और वो खुद शादी में शामिल होने कनागांव गए थे, जहां रात को जब सब शादी में नाच-गाने में मस्त थे, तब कनागांव और फुंडेर गांव के लगभग 7 युवक जबरदस्ती मृतका को शादी वाले घर से उठाकर जंगल की ओर लेकर चले गए और उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म (Keshkal gang rape) की घटना को अंजाम दिया। पीड़िता देर रात वापस शादीवाले घर पहुंची और पूरी घटना की जानकारी दी।

keshka_two_1.jpg

मृतका की सहेली ने बताया कि सभी आरोपी शराब के नशे में धुत थे। पीड़ित युवती की सहेली ने बताया कि आरोपी युवकों ने उन्हें घटना की जानकारी किसी को भी देने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी। मृतका की सहेली ने बताया कि आरोपियों ने उसे भी घेरने की कोशिश की, लेकिन वो किसी तरह उनके चंगुल से निकल गई।

7 अक्टूबर को पुलिस को जानकारी मिली थी कि जिले के धनोरा क्षेत्र के ओड़ागांव में 20 जुलाई को एक युवती ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। परिजन से पूछताछ करने पर पता चला कि युवती शादी समारोह में गई हुई थी जहां 7 लोगों ने उसका किडनैप कर दुष्कर्म किया। घर पहुंचकर पीड़िता ने आत्महत्या (Girl suicide after gang rape) कर ली, लेकिन वारदात के 2 महीने बीतने के बाद भी पुलिस ने कोई केस दर्ज नहीं किया। इससे आहत होकर पीड़िता के पिता ने कीटनाशक पीकर आत्महत्या करने की कोशिश की।

हालांकि परिजनों के समय रहते अस्पताल पहुंचा देने के कारण उनकी जान बच गई, लेकिन ठीक दूसरे दिन 5 अक्टूबर को युवती के पिता ग्लूकोज की बोतल समेत अस्पताल में बिना किसी को जानकारी दिए वहां से चले गए. जिसके बाद पूरे मामले का खुलासा हुआ।

Show More
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned