खेला इंडिया यूथ गेम्स 2020: बालिका वेटलिफ्टर ज्ञानेश्वरी ने छत्तीसगढ़ को दिलाया चौथा पदक

खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2020 में गुरुवार को बालिका वेटलिफ्टर ज्ञानेश्वरी यादव ने छत्तीसगढ़ को एक और पदक दिलाया है। प्रदेश की अंडर-17 बालिका खिलाड़ी ज्ञानेश्वरी यादव रजत पदक जीतने में सफल रहीं। यह छत्तीसगढ़ का चौथा पदक है। इससे पहले छत्तीसगढ़ ने तीन कांस्य पदक जीते हैं।

रायपुर. खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2020 में गुरुवार को बालिका वेटलिफ्टर ज्ञानेश्वरी यादव ने छत्तीसगढ़ को एक और पदक दिलाया है। प्रदेश की अंडर-17 बालिका खिलाड़ी ज्ञानेश्वरी यादव रजत पदक जीतने में सफल रहीं। यह छत्तीसगढ़ का चौथा पदक है। इससे पहले छत्तीसगढ़ ने तीन कांस्य पदक जीते हैं। गुवाहाटी में आयोजित खेलो इंडिया यूथ गेम्स में गुरुवार को राजनांदगांव की ज्ञानेश्वरी ने बालिका 45 किग्रा भार वर्ग में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया और 137 किग्रा वजन उठाकर दूसरा स्थान पाने में सफल रहीं। प्रदेश की खिलाड़ी ने यूथ वर्ग में पहले रेकॉर्ड प्रदर्शन किया। उसने रेकॉर्ड स्नैच में 61 किग्रा और 76 किग्रा क्लीन एंड जर्क में वजन उठाया। हालांकि, महाराष्ट्र की खिलाड़ी हर्षा ने ज्ञानेश्वरी का रेकॉर्ड तोड़ते हुए स्वर्ण पदक हासिल करने में कामयाब रही। हर्षा ने 62 किग्रा स्नैच और 77 किग्रा क्लीन एंड जर्क में कुल 139 किग्रा वजन उठाकर स्वर्णिम सफलता हासिल की। ज्ञानेश्वरी मात्र 2 दो किग्रा वजन कम उठाने के कारण स्वर्ण पदक से चूक गईं। इस वर्ग में उप्र की खिलाड़ी ने 133 किग्रा उठाकर कांस्य पदक अपने नाम किया। ज्ञानेश्वरी प्रशिक्षक राजेश लोहार से प्रशिक्षण हासिल करती है। वहीं, टीम के साथ मैनेजर के रूप में राजेश जंघेल गए हुए हैं।

बालक खिलाड़ी पदक से चूके
खेल इंडिया में गुरुवार को रायपुर के दो बालक वेटलिफ्टर राजा भारती और तोमन कुमार भारती भी मुकाबले में उतरे। दोनों वेटलिफ्टर टॉप-10 में जगह बनाने में सफल रहे, लेकिन पदक जीतने से चूक गए। राजा भारती ने 49 किग्रा भार वर्ग में 160 किग्रा वजन उठाकर चौथे स्थान पर रहे और पदक से चूक गए। वहीं, तोमन भारती भी टॉप-10 में रहे। अब 18 जनवरी को छत्तीसगढ़ की सोनाली यदु जूनियर वर्ग में 59 किग्रा वर्ग के मुकाबले में उतरेंगी, जिनसे पदक की उम्मीद की जा रही है।

बास्केटबॉल में बालक टीम की हार से शुरुआत
बॉस्केटबॉल इवेंट में छत्तीसगढ़ की बालक टीम को अपने पहले मैच में हार का सामना करना पड़ा। छत्तीसगढ़ को राजस्थान ने पहले मुकाबले में 58-105 से करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा। राजस्थान के खिलाफ प्रदेश के प्रियांशु ने 8 और शिवांशु ने 12 अंक हासिल किए। छत्तीसगढ़ को अपने उत्कृष्ट खिलाडिय़ों के बीमार होने का खामियाजा भुगतना पड़ा। टीम के सबसे लंबे खिलाड़ी मुकेश कुमार और पार्थिव निषाद मैच से पहले तबियत खराब होने के कारण राजस्थान के खिलाफ मकाबले में नहीं उतरे और छत्तीसगढ़ की टीम को हार का सामना करना पड़ा। अब नाकआउट चरण में पहुंचने के लिए छत्तीसगढ़ को अपने अगले दोनों मैचों में केरल और पंजाब के खिलाफ हरहाल में जीत हासिल करनी होगी।

Dinesh Kumar Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned